Select location to see news around that location.Select Location

बानमोर के बीच करहधाम तीर्थ पर नैरोगेज ट्रेन को रुकवाने के लिए ग्रामीणों ने किया पथराव

जिले में गुरुपूर्णिमा पर करहधाम में उतरने के लिए रुकवाना चाहते थे ट्रेन, ड्राइवर के मना करने पर हंगामा

मुरैना. जिले में सुमावली से बानमोर के बीच करहधाम तीर्थ पर नैरोगेज ट्रेन को रुकवाने के लिए ग्रामीणों ने पथराव कर दिया। इससे ट्रेन के चालक का सिर फट गया, जबकि परिचालक और गार्ड ट्रेन छोड़कर भाग गए। लहुलुहान ड्राइवर को ग्वालियर में भर्ती कराया गया है, उसके सिर में 5 टांके लगे हैं। पथराव में यात्रियों को भी चोटें आईं हैं। ग्रामीणों ने बड़े-बड़े पत्थर और ईंट से हमला किया, जिसके बाद कई बोगियों में पत्थर भर गए।

मिली जानकारी के मुताबिक ग्वालियर से पहले करहधाम के पास सुमावली से बानमोर नैरोगेज ट्रेन पर अज्ञात लोगों ने पथराव कर दिया। अचानक हुई इस घटना में ट्रेन के चालक और यात्रियों को चोटें आईं। असल में, दूरदराज से गुरु पूर्णिमा पर करहधाम आ रहे दर्शनार्थियों ने नैरोगेज ट्रेन के ड्राइवर से ट्रेन रोकने को कहा, इस पर ड्राइवर ने स्टॉपेज नहीं होने का कहकर ट्रेन नहीं रोकी। ये नैरोगेज ट्रेन ग्वालियर से श्योपुर के बीच संचालित होती है। करहधाम हाल्ट के पास कुछ यात्री चलती ट्रेन से कूद पड़े और फिर उन्होंने पत्थरबाजी शुरू कर दी। ट्रेन पर अचानक पथराव से अफरातफरी मच गई। चालक, परिचालक और गार्ड को ट्रेन वहीं छोड़कर भागना पड़ा। इसके साथ ही यात्री भी इससे आगे नहीं जा सके। ट्रेन को यहीं पर कैंसिल करना पड़ा और इसकी वजह से फास्ट पैसेंजर को भी डेढ़ घंटे देरी से रवाना होना पड़ा।

जीआरपी और पुलिस के बीच रस्साकसी में नहीं हो सका केस : ट्रेन के चालक और यात्रियों के घायल होने के बाद भी कहीं भी केस नहीं दर्ज हुआ है। असल में, जीआरपी का कहना है कि ये मामला स्टेशन के बाहर जंगल एरिया में हुआ है, ऐसे में लोकल पुलिस इस पर केस करेगी, जबकि पुलिस का कहना है कि इस मामले से हमारा कोई लेना देना नहीं है। वहीं, आरपीएफ का कहना है कि ट्रेन में पत्थर बाहर से फेंके गए हैं, ऐसे में हम केस नहीं दर्ज कर सकते हैं।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top