Select location to see news around that location.Select Location

घरेलू कलह से तंग आकर मां ने अपने बेटे-बेटी को चलती ट्रेन के आगे फेंका, बेटे की मौत

दर्दनाक : मां ने बेटे-बेटी को चलती ट्रेन के आगे फेंका, बेटे की मौत बेटी मौत से जूझ रही, गुस्साए लोगों ने रेलवे पुलिस को सौंपा

बच्चों को फेंकने वाली मां।

गया, बिहार. घरेलू कलह से तंग आकर एक महिला ने अपने मासूम बेटे-बेटी को चलती ट्रेन के आगे रेलवे ट्रैक पर फेंक कर जान से मारने का प्रयास किया। इस घटना में 5 वर्षीय बेटे प्रियांशु की मौत इलाज के लिए ले जाने के दौरान हो गई। जबकि 4 साल की बेटी प्रिया अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है।

- घटना गया-मुगलसराय रेलखंड के गुरारु रेलवे स्टेशन के नजदीक शंकर बिगहा गांव के पास हुई। घटना को अंजाम देने वाली महिला सावित्री देवी गुरारू थाना क्षेत्र के मलपा गांव की रहने वाले टाेला सेवक राजकुमार की पत्नी है।

- सावित्री की शादी 2010 में हुई थी। महिला ने बताया कि वह मथुराबिगहा के समीप राजाबिगहा गांव की रहने वाली है। शादी के बाद से ही घर में ससुर-भैंसुर द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा था। घरेलू कलह से तंग आकर घटना को अंजाम दिया।

- स्थानीय लोगों के अनुसार महिला ट्रैक के किनारे बैठकर ट्रेन की प्रतीक्षा कर रही थी। दोनों बच्चों के द्वारा घर चलने की जिद के बाद केला खिलाकर उन्हें शांत कर दे रही थी। जैसी ही ट्रेन 11:05 में गुरारु स्टेशन से खुली और महिला के नजदीक आई तो बच्चों को ट्रेन के आगे फेंक कर भागने लगी।

- स्थानीय लोगों ने ऐसा करते देख लिया और महिला को पकड़ कर धुनाई शुरू कर दी। घटना के बाद गुस्साई भीड़ ने महिला को घसीटते हुए स्थानीय पुलिस को सौंपा। बाद में महिला को रेल थाने की पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया।

रेल थाना में मामला दर्ज

- महिला के विरुद्ध घटना को लेकर रेल थाना में मामला दर्ज कर लिया गया है। रेल थानाध्यक्ष परशुराम सिंह ने बताया कि महिला को गिरफ्तार कर केस दर्ज कर लिया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि मामला घरेलू कलह का था या कुछ और कारण है।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top