Select location to see news around that location.Select Location

भोपाल फिर हुआ शर्मसार, शेल्टर होम में दिव्यांग बच्चों का यौन शोषण

भोपाल फिर हुआ शर्मसार, शेल्टर होम में दिव्यांग बच्चों का यौन शोषण

भोपाल- बिहार और यूपी के बाद अब मध्य प्रदेश में भी एक शेल्टर होम (आश्रय स्थल) में बच्चों के साथ दुष्कर्म और यौन उत्पीड़न का मामला सामने आया है। राजधानी भोपाल में दिव्यांग बच्चों के लिए चल रहे एक शेल्टर होम के संस्थापक पर दो बच्चियों और तीन लड़कों के यौन शोषण का आरोप लगा है। ये आरोप किसी और नहीं, बल्कि शेल्टर होम में रह रहे पीड़ित बच्चों के साथियों ने लगाया है। चुनावी साल होने के नाते मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस भी इस मुद्दे को लपकने में देर नहीं लगाई। कांग्रेस का आरोप है कि शेल्टर होम के संस्थापक के खिलाफ दर्ज शिकायत पर अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया। यौन उत्पीड़न के शिकार पीड़ित बच्चे और उनके साथी शुक्रवार शाम टीटी नगर पुलिस स्टेशन पहुंचकर इसकी शिकायत की। इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार की आधी रात को पुलिस थाने का घेराव किया। जिसके बाद दो आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ। छात्र-छात्राओं का आरोप है कि 70 साल के पूर्व सेना के जवान ने कथित तौर पर यौन शोषण के बाद एक लड़के के सिर को दीवार पर मार दिया था। ज्यादा खून निकलने और चोटों की वजह से उसकी मौत हो गई थी। वहीं एक छात्र की मौत इसलिए हुई थी क्योंकि उसे जबरन हॉस्टल से बाहर निकाल दिया गया। इस वजह से उसे ठंड लग गई और उसकी मौत हो गई। इससे पहले शुक्रवार सुबह शेल्टर होम के करीब 40 बच्चे कांग्रेस दफ्तर पहुंचे, जहां प्रदेश कांग्रेस मीडिया सेल की मुखिया शोभा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूरे मामले को मीडिया के सामने उठाया। शोभा ने आरोप लगाया कि 2017 में एक बच्ची ने शेल्टर होम के संस्थापक के खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत की थी। जांच में शिकायत सही पाई गई, बावजूद इसके पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं किया आश्रम के संचालक पर मूक बधिर छात्र-छात्राओं के साथ अप्राकृतिक कृत्य और यौन शोषण का आरोप लगा है। संचालक पर तीन छात्रों और और दो छात्राओं ने यौन शोषण और अप्राकृतिक कृत्य करने का आरोप लगाया है। पिछले दिनों भोपाल में मूक बधिर छात्राओं के साथ हुए बलात्कार की घटना सामने आने के बाद दोनों मूक-बधिक महिलाएं और पुरुष सामाजिक न्याय विभाग पहुंचे। पीड़ितों ने हॉस्टल संचालक एमपी अवस्थी पर लंबे समय से बलात्कार, शारीरिक प्रताड़ना और अप्राकृतिक कृत्य करने का आरोप लगाया है। इन छात्र-छात्राओं ने सांकेतिक भाषा में सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों को अपनी आपबीती बताई। जिसके बाद पीड़ित थाने पहुंचे। इसी बीच कांग्रेस के मीडिया प्रभारी शोभा ओझा और कांग्रेस के कार्यकर्ता भी थाने पहुंच गए और देर रात करीब 12 बजे तक टीटी नगर थाने का घेराव किया। शुक्रवार देर रात आश्रम संचालक एमपी अवस्थी के खिलाफ भारतीय दण्ड संहिता की धारा 77, 376, 354, 506, 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। मामले के आरोपी अवस्थी और कविता चौधरी को गिरफ्तार करके आगे की कार्रवाई की जा रही है। कांग्रेस ने इस मामले को लेकर सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है। आरोपी संचालक के होशंगाबाद और बैरागढ़ में दो हॉस्टल हैं। छात्रों के अनुसार वह 2010 से अलग-अलग छात्रों के साथ दरिंदगी कर रहा है।


Madhu Dheer

Madhu Dheer

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top