आज हिंदी दिवस है और इसके साथ ही आज से राष्ट्रभाषा सप्ताह को मनाये जाने की शुरूआत हो गयी है।

पंजाब बॉर्डर पर किसानों का हल्ला बोल राजस्थान के 5 जिलों में कल से शीतलहर का अलर्ट पुदुचेरी में समुद्र तट से टकराया चक्रवाती तूफान निवार देशभर में 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने बुलाई हड़ताल जानिए 26 नवम्बर का राशिफल देश में 24 घंटे में एक्टिव केस में 7.5 हजार की बढ़ोतरी अंबाला बॉर्डर पर बवाल, किसानों पर हुआ लाठीचार्ज दिल्ली HC ने यातायात चालान को लेकर उठाए सवाल 1 दिसंबर से लागू होगी केंद्र सरकार की नई गाइडलाइन लक्ष्मी विलास बैंक के DBIL में विलय को कैबिनेट की मंजूरी आज का सोने चांदी का भाव भूमि पेडनेकर की दुर्गमति का ट्रेलर हुआ जारी कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लागू हुए ये नियम बांकुड़ा रैली में ममता ने BJP पर हमला बोला महामारी-गिरता तापमान से जंग लड़ रही दिल्ली दिल्ली-NCR की हवा हुई और खराब हैदराबाद चुनाव : पूर्व केन्द्रीय मंत्री चिरंजीव ने की मुख्यमंत्री की तारीफ स्पीकर के चुनाव में नहीं काम आया RJD का विरोध कांग्रेस के संकटमोचक अहमद पटेल का निधन IND vs AUS: वनडे सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलिया के हेड कोच जस्टिन लैंगर का बड़ा बयान

आज हिंदी दिवस है और इसके साथ ही आज से राष्ट्रभाषा सप्ताह को मनाये जाने की शुरूआत हो गयी है।

Gauri Manjeet Singh 14-09-2020 12:18:40

Hindi Day 2020: आज हिंदी दिवस है और इसके साथ ही आज से राष्ट्रभाषा सप्ताह या हिंदी सप्ताह को मनाये जाने की शुरूआत हो गयी है। 14 सितंबर 1949 को हिंदी को राजभाषा घोषित किये जाने के चार साल बाद यानि 1953 से 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाये जाने शुरूआत हुई थी। विकिपीडिया के अनुसार 14 सितंबर 1949 को हिंदी के पुरोधा व्यौहार राजेंद्र सिन्हा का 50वां जन्मदिन था और उन्होंने हिंदी राष्ट्रभाषा बनाने के लिए बहुत लंबा संघर्ष किया था। आज, हिंदी दिवस के मौके पर आइए जानते हैं यूपीएससी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2019 में अनिवार्य हिंदी पेपर में पूछे गये प्रश्नों को, जो कि इस वर्ष की सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी में जुटे उम्मीदवारों के लिए मददगार साबित हो सकते हैं।

सिविल सेवा मुख्य परीक्षा में अनिवार्य हिंदी पेपर

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा जारी वर्ष 2020 के लिए जारी परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन 4 अक्टूबर 2020 को किया जाना है। प्रारंभिक परीक्षा में सफल उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होने का अवसर दिया जाएगा। यूपीएससी कैलेंडर 2020 के अनुसार सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2020 का आयोजन 8 जनवरी 2021 से किया जाना निर्धारित है और परीक्षा 5 दिनों तक चलेगी। यूपीएससी सिवल सेवा मुख्य परीक्षा की रूपरेखा के अनुसार मुख्य परीक्षा में हिंदी भाषा समेत संविधान की आठवीं अनुसूची में सम्मिलित भाषाओं में से उम्मीदवारों द्वारा चुनी गई कोई एक भाषा का पेपर होता है। हिंदी भाषी क्षेत्रों के उम्मीदवारों इनमें से हिंदी भाषा को चुनते हैं।

मुख्य परीक्षा में हिंदी भाषा पेपर अनिवार्य होता है और इसके लिए 300 अंक निर्धारित होते हैं। मुख्य परीक्षा में हिंदी के पेपर में शामिल किये गये प्रश्न का स्तर मैट्रिकुलेशन या समकक्ष स्तर के होते हैं। हिंदी भाषा के पेपर में उम्मीदवारों को सिर्फ अर्हता (न्यूनतम 25 फीसदी यानि 75 अंक) प्राप्त करनी होती है और इस पेपर के अंको को अंतिम चयन सूची के निर्धारण में नहीं गिना जाता है। हालांकि, अन्य प्रश्न-प्रश्नों के लिए उम्मीदवारों के कापियों की जांच तभी की जाती है जबकि वे चुने गये भाषा (हिंदी) के पेपर में सफल घोषित होने के लिए न्यूनतम निर्धारित अंक प्राप्त करते हैं।

अनिवार्य हिंदी पेपर का सिलेबस

यूपीएससी द्वारा जारी इस वर्ष की परीक्षा अधिसूचना के अनुसार हिंदी भाषा के पेपर में जिन खण्डों से प्रश्नों को शामिल किया जाता है, उनमें निम्नलिखित शामिल हैं:-

दिये गये गद्यांशों को समझना

संक्षेपण

शब्द प्रयोग तथा शब्द भंडार

लघु निबंध

अंग्रेजी से भारतीय भाषा (हिंदी) तथा भारतीय भाषा (हिंदी) से अंग्रेजी में अनुवाद

उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए उन्हें अनुसार हिंदी भाषा के पेपर में दिये गये सभी प्रश्नों के उत्तर, अनुवाद को छोड़कर हिंदी में ही देने होते हैं।



  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :