जाने भारत में 'प्रथम' भारतीय महिलाओं का इतिहास

Truecaller जैसा ऐप लॉन्च कर सकती है गूगल राहुल गांधी ने कोरोना वैक्सीन को लेकर पीएम मोदी से पूछे सवाल रोशनी जमीन घोटाला में कांग्रेस-पीडीपी समेत NC नेता शामिल सोने की कीमतों में आया उछाल, चांदी में गिरावट दिसंबर से फिर पड़ेगा आपकी जेब पर असर बीमारियों में बैंगन खाने से करें परहेज अहमदाबाद में कर्फ्यू हटते ही आम दिनों की तरह हलचल हुई शुरू राहुल पर निशाना साधने वाले कांग्रेसी पहले आईना देखें- अधीर रंजन कोरोना काल के साथ साथ नहीं मिल रही है महंगाई में राहत ड्रग्स केस: कॉमेडियन भारती सिंह और पति हर्ष को मिली जमानत हिमाचल से भी ठंडा राजस्थान का माउंट आबू Big Boss14-घर से बेघर हुए जान ने शो के कंटेस्टेंट्स की खोली पोल मेट्रो में मास्क नहीं लगाने पर 250 रुपये देना होगा जुर्माना भारत में बन रही ऑक्सफोर्ड की कोवीशील्ड 90% तक असरदार राज्यसभा चुनाव के लिए BJP के सामने पासवान की जगह कौन Drugs case: भारती और उनके पति हर्ष को मिली मुंबई कोर्ट से जमानत ‘इंडियाज बेस्ट डांसर’ के विजेता बने अजय सिंह यूपी में शादी समारोहों में 100 लोग ही हो सकेंगे शामिल अली संग नए अपार्टमेंट में शिफ्ट हुई रिचा चड्ढा धवन के साथ दूसरा ओपनर के लिए मयंक और शुभमन रेस में

जाने भारत में 'प्रथम' भारतीय महिलाओं का इतिहास

Anjali Yadav 19-10-2020 17:30:22

अंजलि यादव,

लोकल न्यूज ऑफ इंडिया,



नई दिल्ली: अगर हम भारत के इतिहास कि बात करे तो महिलाएं हमेशा सुंदरता, ताकत और बुद्धिमत्ता का प्रतीक रही हैं. वहीं अगर हम भारतीय महिलाओं के इतिहास की बात करे तो समाज उन अग्रदूतों से भी भरा है जिन्होंने लैंगिक बाधाओं को तोड़ा है और अपने अधिकारों के लिए कड़ी मेहनत की है और राजनीति, कला, विज्ञान, कानून आदि के क्षेत्र में प्रगति की है. आज, जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में भारतीय महिलाओं की सफलता ने साबित कर दिया है कि उन्होंने यह प्रतिष्ठा बहुत ही योग्य रूप से अर्जित की है.


आज हम आपके लिए ऐसे ही सूची लेकर आए हैं, जिनमें हम देश की 'पहली भारतीय महिला' ने क्या कुछ हासिल किया है. आइए जानते है 'पहली भारतीय महिला' जिन्होनें रचा इतिहास-



  •  मदर टेरेसा

मदर टेरेसा 1979 में नोबेल शांति पुरस्कार जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनीं. बता दे कि मदर टेरेसा ने मिशनरीज ऑफ चैरिटी की स्थापना की, और एक रोमन कैथोलिक धार्मिक मण्डली, जिसने सामाजिक कार्यों के लिए अपना पूरा जीवन दे दिया.



  • इंदिरा गांधी

इंदिरा गांधी अपने इतिहास की वो शक्स जो भारत जैसे देश की पहली महिला प्रधान मंत्री बनीं और 1966 से 1977 तक सेवा की. बता दे कि इंदिरा गांधी को 'वुमन ऑफ़ द मिलेनियम' के रूप में एक सर्वेक्षण में नामित किया गया था जिसे 1999 में बीबीसी द्वारा आयोजित किया गया था. 1971 में, वह पहली महिला बनीं जिन्होनें भारत रत्न पुरस्कार पाया.



  • प्रतिभा पाटिल

बता दे कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बाद वो भारत की पहली महिला है जो राष्ट्रपति बनी. और जुलाई 2007 से जुलाई 2012 तक कार्यालय में रहीं.



  • कल्पना चावला

कल्पना चावला अंतरिक्ष में पहली भारतीय महिला बनीं. पहली बार कल्पना चावला एक अंतरिक्ष यान पर अंतरिक्ष में गई थी जो 1997 में एक मिशन विशेषज्ञ और एक प्राथमिक रोबोटिक आर्म ऑपरेटर के रूप में थी.



  • किरण बेदी

1972 में भारतीय पुलिस सेवा से जुड़कर किरण बेदी भारत की पहली महिला अधिकारी बनीं. इसके अलावा, बाद में 2003 में, किरण बेदी पहली महिला भी बनीं जिन्हें संयुक्त राष्ट्र के सिविल पुलिस सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था.



  • न्यायमूर्ति एम. फातिमा बीवी

1989 में, न्यायमूर्ति एम. फातिमा बीवी पहली महिला न्यायाधीश बनीं जिन्हें भारत के सर्वोच्च न्यायालय में नियुक्त किया गया था.



  • सानिया मिर्ज़ा

पेशेवर टेनिस खिलाड़ी 2005 में महिला टेनिस संघ (डब्ल्यूटीए) का खिताब जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनीं हैं. बाद में 2015 में, सानिया मिर्ज़ा पहले भारतीय महिला बनीं जिन्हें डब्ल्यूटीए की युगल रैंकिंग में नंबर 1 स्थान मिला हैं.



  • साइना नेहवाल

वर्तमान में विश्व में नंबर 2 की रैंकिंग पर, साइना नेहवाल 2012 में ओलंपिक में बैडमिंटन में पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनीं हैं. बाद में 2015 में, वह विश्व रैंकिंग में नंबर 1 बनने वाली पहली भारतीय महिला बनीं हैं.




  • मैरी कॉम

मांगे चुंगनेजैंग मैरी कॉम, जिसे मैरी कॉम भी कहा जाता है, एकमात्र महिला मुक्केबाज हैं, जिन्होंने छह विश्व चैंपियनशिप में से प्रत्येक में पदक जीता है. वह एकमात्र भारतीय महिला  है, जिन्होंने 2012 ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था. और 2014 में एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला मुक्केबाज बनी थीं.



 

  • बचंदरी पाल

1984 में, बछेंद्री पाल माउंट एवरेस्ट की चोटी पर पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला बनीं. बाद में, उन्होंने 1993, 1994 और 1997 में भारत-नेपाली महिला माउंट एवरेस्ट अभियान, द ग्रेट इंडियन वूमेन राफ्टिंग यात्रा और प्रथम भारतीय महिला ट्रांस-हिमालयन अभियान में केवल महिलाओं के दल के साथ अभियान का नेतृत्व किया.



  • हरिता कौर देओल

फ्लाइट लेफ्टिनेंट हरिता कौर देओल भारतीय वायु सेना में पायलट थीं. वह 1994 में भारतीय वायु सेना में एकल उड़ान भरने वाली पहली महिला पायलट बनीं.


  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :