शिक्षा विभाग की वेबसाइट हैक कर फर्जी शिक्षकों से की वसूली

कौन थी मंदोदरी, जिसने रावण की मौत के बाद क्यों किया था विभीषण से विवाह भारत का एकलौता ऐसा किला, जहां बिना किराया दिए दशकों से रह रहे हैं लोग फिरोजाबाद में मनचलों ने छात्रा से छेड़खानी के बाद की मारी गोली जीएम वायरस के जरिये अब खोई हुई रौशनी आ सकती है वापिस income tax return-अब 31 दिसंबर तक कर सकते है फाइल बिहार में 'फ्री वैक्सीन' के वादे पर शिवसेना का तंज, कहा बाकी राज्य Pak में हैं क्या? कांग्रेस शासित राज्यों में बढ़ी रेप की घटनाओं पर चुप्पी क्यों?- प्रकाश जावड़ेकर Maha Navami 2020: कल सुबह 07:41 तक ही है नवमी का शुभ मुहूर्त आज का राशिफल महबूबा के तिरंगा वाले बयान पर FIR दर्ज करने की मांग क्या तेजस्वी को मिल सकता है बर्थडे पर लालू यादव की रिहाई का तोफा पंजाब में पराली जलाने के मामले में केस दर्ज करने पर भड़के किसान BJP उम्मीदवार इमरती देवी का एक और बयान फिर चर्चा में अमेरिका के चुनाव में भी अब कोरोना की 'मुफ्त वैक्सीन' का दांव Paytm Mall Maha Shopping Festival:-यहाँ है सिर्फ ऑफर्स ही ऑफर्स प्याज पर केंद्र ने राज्यों के लिए खोला सुरक्षित भंडार दुर्गा विसर्जन 2020-नियमों का उल्लंघन करने वालों पर होनी चहिए सख्त कार्रवाई नवरात्रि का आठवां दिन-आज मां दुर्गा के आठवें स्वरूप महागौरी की उपासना की जाती है बिहार: 108 आदिवासी गांव चुनाव का करेंगे बहिष्कार 4 नवंबर तक बंद रहेंगी पंजाब जाने वाली ट्रेनें

शिक्षा विभाग की वेबसाइट हैक कर फर्जी शिक्षकों से की वसूली

Anjali Yadav 22-09-2020 14:50:50

अंजलि यादव,
लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया,


गोरखपुर: प्रदेश में फर्जी शिक्षकों पर नकेल कसने के लिए मानव संपदा पोर्टल का गठन किया गया है. इस पोर्टल पर परिषदीय विद्यालय के सभी शिक्षकों का रिकार्ड मौजूद है. इस वेबसाइट को हैक फर्जी शिक्षकों से वसूली करने वाला गिरोह सोमवार शाम करीब साढ़े छह बजे एसटीएफ गोरखपुर फील्ड इकाई के हत्थे चढ़ा. गिरोह के तीन सदस्यों को एसटीएफ ने लखनऊ के गोमतीनगर स्थित वेब सिनेमा के पास से गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपित का नाम यदुनंदन, सत्यपाल पुत्रगण इंद्रमणि यादव निवासी हरदी थाना सहजनवां जिला गोरखपुर, प्रमोद कुमार यादव निवासी बरसीपार थाना सलेमपुर जनपद देवरिया है. तीनों आरोपित अपने फर्जी के आधार पर फर्जी शिक्षकों से वसूली करते थे. उनके पास से 8.6 लाख नकद, बड़े पैमाने कूटरचित दस्तावेज, प्रिंटर, लैपटाप आदि बरामद हुआ है.


एसटीएफ को मिली थी शिकायत

एसटीएफ को गिरोह के विषय में शिकायत मिली थी कि यदुनंदन उर्फ प्रमोद कुमार सिंह बाराबंकी में एक फर्जी शिक्षक है. वह अपने गैंग के सदस्यों के माध्यम से मानव संपदा पोर्टल को हैककर लोगों से रुपये इकट्ठा कर रहा है. एक सूचना के आधार पर एसटीएफ ने उसे गिरोह के साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया. एसटीएफ गोरखपुर टीम में उपनिरीक्षक आलोक राय, सत्येन्द्र विक्रम, हेड कांस्टेबल असलम सिंह, कांस्टेबल आशुतोष तिवारी आदि शामिल रहे.


100 से हो चुकी वसूली, रडार पर 250

एसटीएफ के मुताबिक यह गिरोह बीते जनवरी माह से ही सक्रिय है. यदुनंदन वेबफाइट से फर्जी शिक्षकों का ब्यौरा इकट्ठा करता और फिर उनके बारे में उन्‍हें जानकारी देकर उनसे धन की वसूली करता. पोर्टल पर प्रदेश के सभी शिक्षकों को ब्यौरा है. उसमें से संदिग्ध शिक्षकों का डाटा छांटकर कार्रवाई करना है, लेकिन एक ही प्रमाण पत्र पर नौकरी करने वाले करीब चार सौ शिक्षकों का डाटा यह गिरोह सर्च कर चुका है. एसटीएफ के मुताबिक इसमें से करीब 100 लोगों से वसूली भी हो चुकी है. 250 शिक्षक अभी और इस गिरोह के निशाने पर थे. एसटीएफ ने यह भी बताया कि वह अभी गोरखपुर, देवरिया, सिद्धार्थनगर सहित विभिन्न जिलों से करीब 250 फर्जी शिक्षकों को बर्खास्त करा चुका है.


फर्जी प्रमाण पत्र पर सीआरपीएफ में भर्ती हुआ था यदुनंदन

यदुनंदन फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर सीआरपीएफ में भी नौकरी कर चुका है. इसे लेकर उसके विरुद्ध 2007 में सहजनवा थाने में मुकदमा भी पंजीकृत है. आरोपित प्रमोद कुमार यादव ने बताया कि वह आशीष कुमार सिंह के नाम से प्राथमिक विद्यालय खोरी पट्टी बड़हलगंज गोरखपुर में नौकरी कर रहा है. सत्यपाल ने एसटीएफ को बताया है कि वह यदुनंदन का भाई है. फर्जी शिक्षकों को फोन वही करता है.

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :