जुआयरियों-सट्टेबाज़ों को पाल रहा है, उत्तरप्रदेश का पुलिस प्रशाशन

बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान भीड़ को देख आयोग ने लिया संज्ञान गरीबों के हाथ में पैसा दिए बिना नहीं सुधरेगी Economy- पी चिदंबरम सलमान खान की फिल्म राधे 2021 में ईद पर होगी रिलीज NEFT, RTGS & IMPS-आइए जानते हैं इन तीनों में से कौन सा विकल्प चुनना चाहिए पैसे ट्रांसफर करने के लिए बेरोजगारी और पलायन से बड़ा कोई आतंक नहीं- तेजस्वी यादव आज का राशिफल सोने और चांदी की कीमतों में आया परिवर्तन ‘आत्मनिर्भर बिहार’ के लिए बीजेपी ने किए ये वादे कैंसर को मात देने के बाद संजय दत्त की पहली फोटो श्रमिकों को भ्रमण-तीर्थ के लिए योगी सरकार देगी आर्थिक मदद दिल्ली से लखनऊ का सफर 2 घंटे 30 मिनट में तय करेगी हाई स्पीड ट्रेन OnePlus 9 सीरीज अगले साल अप्रैल महीने में लॉन्च किया जाएगा पश्चिम बंगाल: पीएम मोदी आज करेंगे दुर्गा पूजा पंडाल का उद्घाटन Diwali 2020:दिवाली को लेकर प्रचलित हैं ये पौराणिक कथाएं आइये जानते है नवरात्रि का अष्टमी और नवमी व्रत कब है उत्तम घोषणापत्र-BJP ने किया 19 लाख लोगों को रोजगार का वादा सीमेंट की 40 बोरियों से युवती ने बनाई अपनी अनोखी ड्रेस जाने सड़क पर कैसे दौड़ाता दिखा Robot रिक्शा कलकत्ता HC ने दी पूजा पंडालों को 'नो एन्ट्री ज़ोन' बताने वाले आदेश में ढील वरिष्‍ठ नेता एकनाथ खडसे का भाजपा से इस्‍तीफा

जुआयरियों-सट्टेबाज़ों को पाल रहा है, उत्तरप्रदेश का पुलिस प्रशाशन

Abhayraj Singh Tanwar 12-11-2019 12:41:21

दिल्ली से सटे गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह का चाबुक भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर लगातार चल रहा है।  एसएसपी ने थाना लिंक रोड में तैनात इंस्पेक्टर लक्ष्मी चौहान और उनके अन्य 7 सहयोगियों को भ्रष्टाचार के मामले में लिप्त पाए जाने पर सलाखों के पीछे भेज दिया।  वही अब थाना इंदिरापुरम में भी तैनात रहे तेजतर्रार इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को एक मामले में लाइन हाजिर किया गया है। 

जांच में इंस्पेक्टर दीपक शर्मा और अन्य दो सब इंस्पेक्टर को भी दोषी पाया गया।  जिस मामले में आरोपियों को छोड़े जाने के मामले में रिश्वत ली गई थी, उसमें से 4.60 लाख रुपये भी बरामद कर लिए गए हैं।  मामला दर्ज कर दीपक शर्मा और अन्य दो सब इंस्पेक्टर को भी सस्पेंड कर दिया गया है।  जल्द ही दीपक शर्मा को सलाखों के पीछे जाना पड़ सकता है। 

गाजियाबाद पुलिस के अनुसार 22-23 अक्टूबर को लाखों रुपये लेकर जुआ और सटोरियों को छोड़े जाने का मामला सामने आया था।  इसके बाद थाना इंदिरापुरम प्रभारी इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को लाइन हाजिर किया गया।  इस पूरे मामले की जांच क्षेत्राधिकारी केशव कुमार को सौंपी गई।  क्षेत्राधिकारी की जांच में पता चला कि 22-23 की रात में वैशाली के होटल ग्रांड इन से 4 लोगों को दोनों सब इंस्पेक्टर ने जुआ खेलते पकड़ा था। लेकिन सभी को बिना गिरफ्तार किए छोड़ दिया गया और जुए के पैसे को रख लिया गया।  सीओ इंदिरापुरम केशव कुमार की जांच में इंस्पेक्टर दीपक शर्मा, 2 सब इंस्पेक्टरों संदीप और सचिन को भी दोषी पाया गया है। इनके कब्जे से रिश्वत की रकम 4,06,000 भी बरामद कर लिए गए हैं।  अब दीपक शर्मा और उनके सहयोगी दोनों सब इंस्पेक्टरों को भी सस्पेंड किया गया है।  दीपक शर्मा और दोनों सब इंस्पेक्टर के खिलाफ थाना इंदिरापुरम में ही आईपीसी 409 और पीसी एक्ट में मामला दर्ज किया गया है।  जुए में गिरफ्तार कर बिना कार्रवाई के छोड़े गए 13 लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया गया है। 

दिल्ली से सटे गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह का चाबुक भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर लगातार चल रहा है।  एसएसपी ने थाना लिंक रोड में तैनात इंस्पेक्टर लक्ष्मी चौहान और उनके अन्य 7 सहयोगियों को भ्रष्टाचार के मामले में लिप्त पाए जाने पर सलाखों के पीछे भेज दिया।  वही अब थाना इंदिरापुरम में भी तैनात रहे तेजतर्रार इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को एक मामले में लाइन हाजिर किया गया है। 

जांच में इंस्पेक्टर दीपक शर्मा और अन्य दो सब इंस्पेक्टर को भी दोषी पाया गया।  जिस मामले में आरोपियों को छोड़े जाने के मामले में रिश्वत ली गई थी, उसमें से 4.60 लाख रुपये भी बरामद कर लिए गए हैं।  मामला दर्ज कर दीपक शर्मा और अन्य दो सब इंस्पेक्टर को भी सस्पेंड कर दिया गया है।  जल्द ही दीपक शर्मा को सलाखों के पीछे जाना पड़ सकता है। 

गाजियाबाद पुलिस के अनुसार 22-23 अक्टूबर को लाखों रुपये लेकर जुआ और सटोरियों को छोड़े जाने का मामला सामने आया था।  इसके बाद थाना इंदिरापुरम प्रभारी इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को लाइन हाजिर किया गया।  इस पूरे मामले की जांच क्षेत्राधिकारी केशव कुमार को सौंपी गई।  क्षेत्राधिकारी की जांच में पता चला कि 22-23 की रात में वैशाली के होटल ग्रांड इन से 4 लोगों को दोनों सब इंस्पेक्टर ने जुआ खेलते पकड़ा था। लेकिन सभी को बिना गिरफ्तार किए छोड़ दिया गया और जुए के पैसे को रख लिया गया।  सीओ इंदिरापुरम केशव कुमार की जांच में इंस्पेक्टर दीपक शर्मा, 2 सब इंस्पेक्टरों संदीप और सचिन को भी दोषी पाया गया है। इनके कब्जे से रिश्वत की रकम 4,06,000 भी बरामद कर लिए गए हैं।  अब दीपक शर्मा और उनके सहयोगी दोनों सब इंस्पेक्टरों को भी सस्पेंड किया गया है।  दीपक शर्मा और दोनों सब इंस्पेक्टर के खिलाफ थाना इंदिरापुरम में ही आईपीसी 409 और पीसी एक्ट में मामला दर्ज किया गया है।  जुए में गिरफ्तार कर बिना कार्रवाई के छोड़े गए 13 लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया गया है। 

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :