क्या होता है तम्बाकू जान ले आप भी ?

कोरोना महामारी: एक बार फिर से बाजार में दिखने लगी रौनक बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान भीड़ को देख आयोग ने लिया संज्ञान गरीबों के हाथ में पैसा दिए बिना नहीं सुधरेगी Economy- पी चिदंबरम सलमान खान की फिल्म राधे 2021 में ईद पर होगी रिलीज NEFT, RTGS & IMPS-आइए जानते हैं इन तीनों में से कौन सा विकल्प चुनना चाहिए पैसे ट्रांसफर करने के लिए बेरोजगारी और पलायन से बड़ा कोई आतंक नहीं- तेजस्वी यादव आज का राशिफल सोने और चांदी की कीमतों में आया परिवर्तन ‘आत्मनिर्भर बिहार’ के लिए बीजेपी ने किए ये वादे कैंसर को मात देने के बाद संजय दत्त की पहली फोटो श्रमिकों को भ्रमण-तीर्थ के लिए योगी सरकार देगी आर्थिक मदद दिल्ली से लखनऊ का सफर 2 घंटे 30 मिनट में तय करेगी हाई स्पीड ट्रेन OnePlus 9 सीरीज अगले साल अप्रैल महीने में लॉन्च किया जाएगा पश्चिम बंगाल: पीएम मोदी आज करेंगे दुर्गा पूजा पंडाल का उद्घाटन Diwali 2020:दिवाली को लेकर प्रचलित हैं ये पौराणिक कथाएं आइये जानते है नवरात्रि का अष्टमी और नवमी व्रत कब है उत्तम घोषणापत्र-BJP ने किया 19 लाख लोगों को रोजगार का वादा सीमेंट की 40 बोरियों से युवती ने बनाई अपनी अनोखी ड्रेस जाने सड़क पर कैसे दौड़ाता दिखा Robot रिक्शा कलकत्ता HC ने दी पूजा पंडालों को 'नो एन्ट्री ज़ोन' बताने वाले आदेश में ढील

क्या होता है तम्बाकू जान ले आप भी ?

Abhishek sinha 26-10-2019 13:30:47

तम्बाकू एक प्रकार के निकोटियाना प्रजाति के पेड़ के पत्तों को सुखा कर नशा करने की वस्तु बनाई जाती है। दरअसल तम्बाकू एक मीठा जहर है, एक धीमा जहर. हौले-हौले यह आदमी की जान लेता है। सरकार को भी शायद यह पता नहीं कि तम्बाकू से वह राजस्व प्राप्त करनी है, यह बात तो सही है किंतु यह भी सही है कि तम्बाकू से उत्पन्न रोगों के इलाज पर जितना खर्च किया जाता है, यह राजस्व उससे कहीं कम है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि तम्बाकू के सेवन से जीवनी शक्ति का भी ह्रास होता है। व्यक्ति को पता चल जाता है कि तम्बाकू का सेवन हानिकारक है किंतु बाद में लाख छुड़ाने पर भी यह लत छूटती नहीं। सो धीरे-धीरे उसमें जीवनी शक्ति भी कम होती जाती है और वह अपने आपको एक तरह से विनाश के हवाले भी कर देता है।

भारत में इस्तेमाल किए जाने वाले तम्बाकू के प्रकार :-  यह सर्वविदित है कि पूरे संसार में तम्बाकू का दुरूपयोग सिगरेट के रूप में किया जाता है। भारत में इसका उपयोग अन्य रूप में भी किया जाता है। जैसे बीड़ी, हुक्का, गुल, गुड़ाकु, जर्दा, किमाम, खैनी, गुटखा आदि के रूप में। तम्बाकू का प्रयोग किसी भी रूप में किया जाए, इससे शरीर पर दुष्प्रभाव पड़ता ही है।

1) तम्बाकू वाला पान

2) पान मसाला

3) तम्बाकू, सुपारी और बुझे हुए चूने का मिश्रण

4) मैनपुरी तम्बाकू

5) मावा

6) तम्बाकू और बुझा हुआ चूना (खैनी)

7) चबाने योग्य तम्बाकू

8) सनस

9) मिश्री

10)गुल

11)बज्जर

12)गुढ़ाकू

13)क्रीमदार तम्बाकू पाउडर

14)तम्बाकू युक्त पानी

धूम्रपान वाला तम्बाकू 

1) बीड़ी

2) सिगरेट

3) सिगार

4) चैरट (एक प्रकार का सिगार)

5) चुट्टा

6) चुट्टे को उल्टा पीना

7) धुमटी

8) धुमटी को उल्टा पीना

9) पाइप

10) हुकली

11) चिलम

12) हुक़्क़ा

तम्बाकू के दुष्प्रभाव:-

तम्बाकू को जब गुल, गुड़ाकु, या खैनी, के रूप में प्रयोग करते है तो इसके कारण मुंह मे अनेक रोग उत्पन्न हो सकते है। सफेद दाग, मुँह का नहीं खुल पाना, तथा कैंसर रोग भी हो सकता है। बीड़ी-सिगरेट के पीने से शरीर में व्यापक प्रभाव पड़ता है। इसके कारण हृदय के धमनियों में रक्त प्रवाह कम हो सकता है। हृदय रोग जैसे मायोकोर्डियल इनर्फाकशन तथा अनजाइना हो सकता है। रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) बढ़ सकता है। साँस की बीमारी जैसे ब्रोंकाइटीस, दमा, तथा फेफड़ो का कैंसर हो सकता है। इसके अतिरिक्त इसका प्रभाव शरीर के स्नायुतंत्र में पड़ता है। इसकी और बहुत सी हानियाँ हैं।

किशोरावस्था में उत्सुकता वश या मित्रों के साथ इन पदार्थो का सेवन शुरू होता है फिर इसके नशा का आनन्द आने लगता है। इसकी मात्रा बढ़ाई जाती है। जो लोग बार-बार लोग इसका सेवन करते है, उनका शरीर इस मादक पदार्थ का आदी हो जाता है और फिर वह उसको छोड़ नहीं पाते। छोड़ने से कई प्रकार के लक्षण जैसे- बेचैनी, घबराहट होने लगती है। इस कारण लोग इसके आदी हो जाते है, उसी प्रकार जैसे लोग शराब या अन्य पदार्थों के आदी हो जाते है और जब कोई किसी पदार्थ का आदि हो जाए तो उसका नियमित सेवन उसकी बाध्यता हो जाती है। 

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :