केजरीवाल और सिसोदिया को करना चाहिए हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा : दिल्ली HC दिल्ली हिंसा पर बोले पीएम मोदी : जल्द से जल्द हो शांति बहाल कपिल मिश्रा का वीडियो चलवा दिल्ली हिंसा पर हाईकोर्ट के जजों ने की सुनवाई अफवाहों पर ध्यान न दें लोग, दिल्ली मौजपुर हिंसा में अब तक 11 FIR दर्ज : दिल्ली पुलिस दिल्ली हिंसा पर बोले ट्रंप : भारत का अपना मामला इससे खुद ही निपटे दिल्ली हिंसा में 130 से ज्यादा अस्पताल में भर्ती, 9 की मौत दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में जारी हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है अभी तक 15 से लोगो को लगी गोली बीजिंग की हवा में बड़ा सुधार, भारत मे सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर : रिपोर्ट स्वाइन फ्लू की चपेट में सुप्रीम कोर्ट के 6 न्यायाधीश, मास्क पहनकर कोर्ट पहुंचे जस्टिस संजीव खन्ना LIVE : केजरीवाल भी पहुंचे गृह मंत्रालय, दिल्ली हिंसा पर हाईलेवल मीटिंग शुरू CAA : कई मेट्रो स्टेशन बंद, उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा में हेड कॉन्स्टेबल की मौत पत्नी संग आगरा ताज महल पहुंचे ट्रंप कहा वाह ताज साबरमती आश्रम पहुच विजिटर बुक मे ट्रंप ने लिखा 'थैंक्यू फ्रेंड मोदी' अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत की धरती पर रखा कदम ट्रम्प का भारत दौरा / मेलानिया दिल्ली के स्कूल में बच्चों से मिलेंगी, कार्यक्रम से केजरीवाल और सिसोदिया का नाम हटा भारत अमेरिका को व्यापार मे पाहुचा रहा है बड़ी चोट : डोनाल्ड ट्रम्प वायरल वीडियो में देखें उसका दर्द, नौ साल का बच्चा क्यों मरना चाहता है यूनिवर्सिटी से 93 की उम्र में मास्टर डिग्री ले सबसे उम्रदराज छात्र बने सीबीएसई स्कूलों के बच्चों ने ‘नो बैग डे’ को बताया ‘राइट चॉइस’ अब राम जी जुड़े स्थलों की यात्रा कराएगी 'श्री राम एक्सप्रेस'

आखिर क्या अलग समस्या है इलेक्ट्रिक वाहन की

इलेक्ट्रिक वाहनों की समस्या इसके उलट है। ये वाहन काफी कम आवाज करते हैं और नजर न पड़े तो सड़कों पर मौजूद लोगों को पता ही नहीं चलता कि कोई वाहन उनके करीब से गुजर रहा है। यूरोपियन यूनियन (ईयू) ने इस बात को गंभीरता से लिया है।

Deepak Chauhan 01-07-2019 14:36:05



गाड़ियों से होने वाला शोर आमतौर पर परेशानी का सबब बनता है। इलेक्ट्रिक वाहनों की समस्या इसके उलट है। ये वाहन काफी कम आवाज करते हैं और नजर न पड़े तो सड़कों पर मौजूद लोगों को पता ही नहीं चलता कि कोई वाहन उनके करीब से गुजर रहा है। यूरोपियन यूनियन (ईयू) ने इस बात को गंभीरता से लिया है।

ईयू अगले सोमवार को इस संबंध में नए नियम जारी करने वाला है। इसके तहत इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं के लिए वाहनों में आवाज पैदा करने वाली मशीन लगाना अनिवार्य हो जाएगा।आवाज इतनी होनी चाहिए कि आस-पास के लोगों को पता चल सके कि कोई गाड़ी गुजर रही है।


नियम चार पहिया वाहनों के लिए 

ये नियम चारपहिया ई-वाहनों के लिए आ रहे हैं। इनमें ऐसी मशीन लगाई जाएगी जो आम गाड़ियों की मशीन की तरह आवाज करे। इस मशीन को एकोस्टिक व्हीकल अलर्ट सिस्टम (एवास) कहलाएगी। जब गाड़ी रिवर्स की जा रही हो या 19 किलोमीटर प्रतिघंटा के कम की रफ्तार से गुजर रही हो तो इस मशीन का ऑन होना अनिवार्य होगा। ईयू का कहना है कि जब गाड़ी रिवर्स हो रही हो या कम रफ्तार से चल रही हो तो ज्यादा संभावना होती है कि आस-पास लोग मौजूद हों। उन्हें सावधान करने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों से सामान्य गाड़ियों की तरह आवाज आना जरूरी है। हालांकि, वाहन चालकों को यह अधिकार दिया जाएगा कि वे जरूरत पड़ने पर इस डिवाइस को डिएक्टिवेट कर सकें।


ब्रिटेन की एक चैरिटी संस्था ने ईयू से शिकायत की

ब्रिटेन की एक चैरिटी संस्था ने ईयू से शिकायत की थी कि इलेक्ट्रिक वाहन आवाज नहीं करते हैं और ये सड़कों पर मौजूद आमलोगों के लिए जानलेवा हो सकते हैं। संस्था ने ईयू के नियमों का स्वागत किया है। लेकिन, साथ ही यह भी कहा है कि ये नियम सिलेक्टिव नहीं होने चाहिए। संस्था के मुताबिक अधिक स्पीड पर भी एवास सिस्टम ऑन रखने की बाध्यता होनी चाहिए। इससे लोगों को ज्यादा सुरक्षा मिलेगी।


यूरोप में 2021 से सभी इलेक्ट्रिक कार में एवास सिस्टम लगाना जरूरी

यूरोपियन यूनियन ने साल 2021 से सभी इलेक्ट्रिक कार के लिए एवास सिस्टम जरूरी कर दिया है। ईयू ने बयान जारी कर कहा, ‘ऐसा नहीं है कि सिर्फ नए मॉडल के लिए ये नियम जरूरी हैं। 2021 से बाजार में आने वाले पुराने मॉडल की नई गाड़ियों में भी इसे लगाना होगा।’ ब्रिटेन ने 2040 से देश में नई पेट्रोल-डीजल कार पर बैन लगाने जा रहा है। अभी वहां गैर पेट्रोल-डीजल गाड़ियों की संख्या 6.6% है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :