केजरीवाल और सिसोदिया को करना चाहिए हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा : दिल्ली HC दिल्ली हिंसा पर बोले पीएम मोदी : जल्द से जल्द हो शांति बहाल कपिल मिश्रा का वीडियो चलवा दिल्ली हिंसा पर हाईकोर्ट के जजों ने की सुनवाई अफवाहों पर ध्यान न दें लोग, दिल्ली मौजपुर हिंसा में अब तक 11 FIR दर्ज : दिल्ली पुलिस दिल्ली हिंसा पर बोले ट्रंप : भारत का अपना मामला इससे खुद ही निपटे दिल्ली हिंसा में 130 से ज्यादा अस्पताल में भर्ती, 9 की मौत दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में जारी हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है अभी तक 15 से लोगो को लगी गोली बीजिंग की हवा में बड़ा सुधार, भारत मे सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर : रिपोर्ट स्वाइन फ्लू की चपेट में सुप्रीम कोर्ट के 6 न्यायाधीश, मास्क पहनकर कोर्ट पहुंचे जस्टिस संजीव खन्ना LIVE : केजरीवाल भी पहुंचे गृह मंत्रालय, दिल्ली हिंसा पर हाईलेवल मीटिंग शुरू CAA : कई मेट्रो स्टेशन बंद, उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा में हेड कॉन्स्टेबल की मौत पत्नी संग आगरा ताज महल पहुंचे ट्रंप कहा वाह ताज साबरमती आश्रम पहुच विजिटर बुक मे ट्रंप ने लिखा 'थैंक्यू फ्रेंड मोदी' अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत की धरती पर रखा कदम ट्रम्प का भारत दौरा / मेलानिया दिल्ली के स्कूल में बच्चों से मिलेंगी, कार्यक्रम से केजरीवाल और सिसोदिया का नाम हटा भारत अमेरिका को व्यापार मे पाहुचा रहा है बड़ी चोट : डोनाल्ड ट्रम्प वायरल वीडियो में देखें उसका दर्द, नौ साल का बच्चा क्यों मरना चाहता है यूनिवर्सिटी से 93 की उम्र में मास्टर डिग्री ले सबसे उम्रदराज छात्र बने सीबीएसई स्कूलों के बच्चों ने ‘नो बैग डे’ को बताया ‘राइट चॉइस’ अब राम जी जुड़े स्थलों की यात्रा कराएगी 'श्री राम एक्सप्रेस'

उत्तर प्रदेश की सड़कों पर नमाज पढ़ने या धार्मिक आयोजन करने पर प्रतिबंध

Khushboo Diwakar 14-08-2019 11:21:47



मेरठ और अलीगढ़ में सड़क पर नमाज को रोकने में मिली सफलता के बाद अब ये मॉडल पूरे उत्तर प्रदेश में लागू किया जा रहा है. डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने बताया है कि अब ऐसे किसी धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं होगी, जिससे लोगों को असुविधा हो. बता दें कि जब सड़कों पर नमाज को रोका गया तो कुछ जगहों पर लोगों ने इसका विरोध किया, लेकिन प्रशासन ने सख्ती इसे लागू कराया वहीं कई जगह मुस्लिम समाज में व्यापक तौर इस पहल का स्वागत किया.

मेरठ और अलीगढ़ में सड़क पर नमाज को रोकने में मिली सफलता के बाद अब ये मॉडल पूरे प्रदेश में लागू किया जा रहा है. राज्य पुलिस के मुखिया ओम प्रकाश सिंह ने बताया है कि अब ऐसे किसी धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं होगी जिससे लोगों को असुविधा हो, बता दें कि जब सड़कों पर नमाज को रोका गया तो कुछ जगहों पर लोगों ने इसका विरोध किया लेकिन प्रशासन ने सख्ती इसे लागू कराया.

ईद के दौरान मेरठ और अलीगढ़ में सड़कों पर नमाज पर रोक रही जिसके बाद मुस्लिम समाज ने मस्जिदों और ईदगाहों में ही ईद की नमाज अदा की, साथ ही ऊंट जैसे बड़े जानवर की कुर्बानी पर भी रोक लगाई गई. मुस्लिम समाज में व्यापक तौर इस पहल का स्वागत किया. सरकार ने कहा यह किसी समुदाय विशेष पर लागू नहीं होगा बल्कि सड़क पर होने वाले सभी धार्मिक आयोजन पर रोक रहेगी और खास मौकों पर प्रशासनिक स्वीकृति के बाद ही इजाजत दी जाएगी.

बता दें हाल ही के दिनों में सड़कों पर होने वाले नमाज के खिलाफ सड़क पर हनुमान चालीसा और आरती जैसे कार्यक्रम भी शुरू हुए जिससे समाज में काफी तनाव बढ़ रहा था. साथ ही लोगों को कई असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा था. इसे देखते हुए मेरठ में सड़क पर नमाज रोकने की एक पहल शुरू की गई जो सफल रही. मेरठ के बाद अलीगढ़ में भी इसे अपनाया गया है और दोनों जगहों पर यह प्रशासनिक प्रयास सफल होने के बाद यूपी पुलिस ने इस पूरे राज्य में लागू करने का फैसला किया है.

पश्चिम बंगाल में 'जय श्री राम' नारे लगने के बाद जमकर सियासत हुई. इसके बाद हनुमान चालीसा की राजनीति ने तेजी पकड़ी. पीछले दिनों में कई लोगों ने हावड़ा के सड़कों पर हनुमान चलीसा पढ़ी तो वहीं ऐसा ही एक नजारा अलीगढ़ में देखने को मिला. यहां पर भी लोगों ने सड़कों पर हनुमान चालीसा का पाठ किया. जिसकी वजह से सड़क पर लंबा जाम लग गया.

अलीगढ़ के सासनी गेट चौराहे के काली मंदिर पर बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लेकर हनुमान चालीसा का पाठ किया साथ ही आरती की. आरती के बाद कार्यकर्ताओं ने सभी भक्तों को तुलसी के पौधे भी बांटे. इस दौरान सड़क पर जाम लग गया और यातायात भी काफी प्रभावित हुआ.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :