कपिल मिश्रा और भाजपा ने दिल्ली दंगों को भड़काया : कांग्रेस अमेरिका का भारत को धन्यवाद कहा : 1959 से परम पावन और तिब्बती लोगों को शरण देने के लिए हम भारत को धन्यवाद देते हैं।'' पिछले 24 घंटो में 22,252 नए मामलो के साथ भारत में कुल 7,19,665 कोरोना मरीज नई विशेष ट्रेन दिल्ली से कई शहरों के लिए चलाने की तैयारी कोरोना संक्रमित पत्रकार ने एम्स की बिल्डिंग से कूदकर की आत्महत्या DRDO ने भी 12 दिन में बनाया 1000 बेड का अस्पताल अब सुजानपुर में युवाओं की टोली ने थामा कांग्रेस का दामन सैनिकों के जल्द से जल्द पीछे हटने पर सहमत हुए डोभाल और वांग भारत के साथ सैन्य बातचीत में बनी सहमति पर अमल ग्वालियर में बिना मास्क लगाए पकड़े जाने पर मिलेगी अजीब सजा डोभाल ने की थी चीन के विदेश मंत्री से बात, 2 किलोमीटर पीछे हटी चीनी सेना दक्षिणी चीन सागर में हमारे 2-2 विमानवाहक तैनात कोविड-19 के मरीज जल्द हो रहे हैं ठीक : अरविंद केजरीवाल कानपुर एनकाउंटर में मुख्य हत्यारोपी विकास दुबे के ऊपर राशि ढाई लाख का इनाम देश के इंजीनियरों को दिया चैलेंजदेश के इंजीनियरों को दिया मेड इन इंडिया ऐप का चैलेंज शराब के नशे में चूर पुलिस कर्मी ने एक महिला को अपनी कार से रौंद कानपुर एनकाउंटर से पहले विकास दुबे से SO विनय तिवारी ने की थी बात दक्षिण चीन सागर में युद्धपोतों का अभ्यास, चीन से निपटने को तैयार अमेरिका सीएम योगी का ऐलान शहीद पुलिसकर्मियों के परिजनों को एक-एक करोड़ भारत और अमेरिका की दोस्ती को देखकर चीन को 'जलन'

कच्चे तेलों के बढ़ रहे है दाम, US-ईरान तनाव का असर

दरअसल, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बताया है कि कि अमेरिका के एक युद्धपोत ने होरमुज जलमरुमध्य में एक ईरानी ड्रोन को नष्ट कर दिया है. ट्रंप ने बताया कि अमेरिकी नौसेना के एक युद्धपोत यूएसएस बॉक्सर ने उससे 1,000 यार्ड के अंदर उड़ रहे एक ड्रोन को कई

kunika katiyar 19-07-2019 16:15:08



आने वाले दिनों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में इजाफा हो सकता है. दरअसल, अमेरिका द्वारा ईरान के एक ड्रोन को मार गिराए जाने के बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में तनाव का माहौल है. इस वजह से शुक्रवार को कच्‍चे तेल के दाम में 2 फीसदी से अधिक का उछाल आया. आगे भी यह तेजी जारी रहने की आशंका है. अगर ऐसा हुआ तो इसका असर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में देखने को मिल सकता है. बता दें कि तेल की कीमतें अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कच्‍चे तेल के उतार-चढ़ाव पर ही निर्धारित होती हैं.

दरअसल, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बताया है कि कि अमेरिका के एक युद्धपोत ने होरमुज जलमरुमध्य में एक ईरानी ड्रोन को नष्ट कर दिया है. ट्रंप ने बताया कि अमेरिकी नौसेना के एक युद्धपोत यूएसएस बॉक्सर ने उससे 1,000 यार्ड के अंदर उड़ रहे एक ड्रोन को कई चेतावनियां दीं, लेकिन नजरंदाज किए जाने पर युद्धपोत ने उसे उड़ा दिया. यही वजह है कि कच्‍चे तेल के भाव बढ़ गए.

बता दें कि पिछले चार सत्रों में ब्रेंट के भाव में तकरीबन चार डॉलर प्रति बैरल की गिरावट रही. ब्रेंट का भाव जहां सप्ताह की शुरूआत में 66 डॉलर प्रति बैरल से उपर चल रहा था वहां गुरुवार को 61.30 डॉलर तक लुढ़कने के बाद 62.55 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ.

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (इनर्जी व करेंसी रिसर्च) अनुज गुप्ता के मुताबिक कच्चे तेल के दाम में पिछले दिनों मांग में नरमी के कारण गिरावट रही और मांग में अभी कोई तेजी नहीं आई है, लेकिन खाड़ी क्षेत्र में अमेरिका-ईरान के बीच तनाव गहराने से कच्चे तेल के भाव को सपोर्ट मिलता रहेगा. उन्होंने कहा कि उधर अमेरिका में ब्याज दरों में कटौती के संकेत मिलने से डॉलर में आई कमजोरी के बाद निवेशक डॉलर के बजाय कच्चे तेल के निवेश उपकरणों में निवेश कर सकते हैं.

अमेरिका- ईरान तनाव का असर कच्‍चे तेल पर (इंडिया टुडे आर्काइव)


Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :