दिल्ली-एनसीआर में भूंकप के झटके महसूस श्रमिक ट्रेन में महिला की मौत पर खाना पीना ना मिलने का आरोप तेज हवाओं के साथ और बारिश के साथ दिल्ली-एनसीआर में मौसम ने बदला मिज़ाज बिहार में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 70 नए मामले PPE किट पहन पेड़ के नीचे खुला 20 साल पुराना सैलून 1 जून से देश में लॉकडाउन बढ़ेगा या खत्म होगा? छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का हुआ निधन तेजस्वी के घर के बाहर दिखा, न मास्क- न सोशल डिस्टेंसिंग वाला नजारा अमेरिकी राष्ट्रपति के मध्यस्थता प्रस्ताव को ठुकरा चीन ने कहा किसी तीसरे की जरूरत नहीं चीन को लेकर मोदी का मूड खराब : ट्रंप , भारत ने नकारा श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में हुई कुछ लोगों की मौत से रेल मंत्रालय की लोगों से अपील पूरे देश में 33 हजार कोरोना को पीछे छोड़ 34 हजार मरीजों की संख्या के साथ आगे निकला महाराष्ट्र 'मैंने प्यार किया' में एक फॉटोग्राफर करनी चाहता था सलमान ओर भाग्यश्री की जबरन स्मूच जून मे बड़ सकती है पेट्रोल की कीमत, 5 रुपय तक तक हो सकती है बड़ोत्तरी संबित पात्रा में दिखे कोरोना लक्षण, मेदांता हॉस्पिटल में कराया एडमिट मानसून पहले 5 जून को पहुंचने का अनुमान, अब 1 जून को पहुंचेगा केरल 24 घंटे में रायपुर समेत रायगढ़ और सिम्स बिलासपुर से 100 डॉक्टरों का इस्तीफा 650 किमी का सफर स्कूटी से तय कर ड्यूटि करने पहुंची मुरैना की पुलिसकर्मी यूपी-बिहार में 5 लाख लोगों के साथ करीब 23 लाख लोग भारत में आइसोलेशन में ऊपर से शांति और बार्डर पर अशांति दिखा दौहरी चाल चल रहा है ड्रेगन

अयोध्या विवाद: एक हफ्ते में मध्यस्था की दे रिपोर्ट : SC

सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद अयोध्या भूमि विवाद मामले में जारी मध्यस्थता प्रक्रिया के संबंध में बृहस्पतिवार को एक सप्ताह के अंदर नवीनतम स्थिति रिपोर्ट सौंपे जाने का आदेश दिया।

Deepak Chauhan 11-07-2019 12:38:56



सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद अयोध्या भूमि विवाद मामले में जारी मध्यस्थता प्रक्रिया के संबंध में बृहस्पतिवार को एक सप्ताह के अंदर नवीनतम स्थिति रिपोर्ट सौंपे जाने का आदेश दिया।

भाषा के अनुसार, प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश (सेवानिवृत्त) एफ एम आई कलीफुल्ला से 18 जुलाई तक स्थिति रिपोर्ट सौंप देने का अनुरोध किया।

साथ ही पीठ ने यह भी कहा कि वह अगला आदेश भी 18 जुलाई को ही देगी। उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश (सेवानिवृत्त) एफ एम आई कलीफुल्ला तीन सदस्यीय मध्यस्थता पैनल के अध्यक्ष हैं।

संविधान पीठ ने कहा कि नवीनतम स्थिति रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद अगर उसे लगेगा कि मध्यस्थता प्रक्रिया विफल रही तब मुख्य अयोध्या विवाद मामले की सुनवाई न्यायालय 25 जुलाई से दिन प्रतिदिन के आधार पर करेगा।

मध्यस्थ्ता समिति : सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस एफएम कलीफुल्ला की अध्यक्ष्ता में तीन सदस्यीय समिति को सर्वमान्य हल खोजने के लिए सौंप दिया था। समिति में धार्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर और मध्यस्थता विशेषज्ञ वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीराम पंचू शामिल हैं। 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :