ISI के संपर्क में पाकिस्तानी उच्चायोग के दो वीजा सहायकों को दिल्ली पकड़ा भारतीय टीम के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या जल्द बनेंगे पापा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के लिए 40 हजार से अधिक बुलेट प्रूफ जैकेट की मंजूरी दिल्ली सरकार की गरीबी पर केजरीवाल पर तंज़ कसते कुमार विश्वास दिल्ली में टूटा कोरोना रिकॉर्ड आज मिले 1295 नए मरीज, 20 हजार के करीब पहुंचा आंकड़ा अल्ट्राटेक सीमेंट वर्क्स डाला के सौजन्य से मजदूरों को वितरित किया गया राशन किट कोरोना चपेट में आये उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज आकाशीय बिजली के चपेट में आने से एक युवक जख्मी लॉकडाउन 5.0 के अनलॉक 1 मे कुछ यूं होगी उत्तर प्रदेश में निर्देश 30 जून तक हुआ बिहार का लॉकडाउन कोरोना के चलते दिल्ली सरकार की दिख रही गरीबाई, केंद्र से कर रही मदद की गुहार अब 10 की बजाए 11 संख्या का हो सकता है आपका मोबाइल नंबर अखिलेश हो या योगी सरकार वनकर्मी और वन माफिया है सब पर भारी मन की बात: योग और आयुर्वेद, हॉलिवुड से हरिद्वार तक कोरोना संकट मे योग को गंभीरता से ले रहे लोग लॉकडाउन-5: 8 जून से धार्मिक स्थल और शॉपिंग मॉल खुलेंगे स्कूल-कॉलेज को जुलाई मे खोलने पर विचार, मेट्रो भी हो सकती है शुरू उसके बाद 1 जून से 'लॉकडाउन' अनलॉक, दूसरे राज्यों से आने जाने में नहीं होगी दिक्कत कुछ इस प्रकार का होगा लॉकडाउन 5.0 का रंग रूप लॉकडाउन 5.0 की घोषणा, कंटेनमेंट जोन को छोड़ सभी चीजों को खोलने की इजाजत नज़मा आपी ने उड़ाया चीन का मज़ाक, टिकटोक ने उड़ा दी विडियो

संस्कारी परिवार प्रियंका गांधी से अपने बच्चों को दूर रखें: स्मृति ईरानी

Khushboo Diwakar 02-05-2019 20:22:49



  • मोदी के खिलाफ बच्चों की अभद्र नारेबाजी से स्मृति ईरानी नाराज
  • अमेठी से भाजपा प्रत्याशी ने कहा- प्रियंका का असली चेहरा सामने आया

अमेठी. अमेठी लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी ने गुरुवार को कहा कि अच्छे संस्कार वाले परिवारों को चाहिए कि वो अपने बच्चों को प्रियंका गांधी से दूर रखें। ईरानी का यह बयान उस वीडियो के वायरल होने के बाद आया है जिसमें कुछ बच्चे प्रियंका के सामने नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा में नारेबाजी कर रहे हैं। दूसरी तरफ, बाल संरक्षण आयोग ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग को कार्रवाई करने के निर्देश दे दिए हैं। 

राजनीति के लिए बच्चों का उपयोग गलत
प्रियंका के सामने बच्चों की मोदी विरोधी नारेबाजी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अमेठी में न्यूज एजेंसी से बातचीत में स्मृति ने कहा, ‘प्रियंका गांधी ने बच्चों से प्रधानमंत्री के खिलाफ अभद्र भाषा में नारे लगवाए। चुनाव प्रचार के लिए बच्चों का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। मैं सभी संस्कारी परिवारों से अपील करना चाहती हूं कि वो अपने बच्चों को प्रियंका गांधी से दूर रखें। मुझे इस बात की खुशी है कि जो परिवार खुद को सुसंस्कृत बताता है, अब उसके चेहरे से नकाब उतर चुका है।’

ये प्रियंका का असली चेहरा
कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका ने कुछ दिनों पहले एक बयान में कहा था, ‘आवारा पशुओं के भी नाम होते हैं।’ न्यूज एजेंसी के मुताबिक, यह बयान कथित तौर पर मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्नाथ के बारे में दिया गया था। इस बारे में पूछे गए एक सवाल पर ईरानी ने कहा, ‘यह उनका (प्रियंका गांधी का) असली चेहरा है। वो प्रधानमंत्री और एक मुख्यमंत्री का अपमान कर रही हैं। यह गोरखनाथ मठ के अध्यक्ष का भी अपमान है। क्या यही बात वो गोरखपुर में बोल सकती हैं।’ ईरानी ने आगे कहा, प्रियंका यहां प्रत्याशी नहीं हैं। अमेठी में उनकी हर उपस्थिति राहुल गांधी की नाकामियों को उजागर करती है।

बाल संरक्षण आयोग का चुनाव आयोग को पत्र
राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर निर्देश दिया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा के इस्तेमाल के मामले में सख्त कदम उठाया जाए। चुनाव आयोग को उस वीडियो की क्लिप भी भेजी गई है जो सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इसमें कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की मौजूदगी में कुछ बच्चे नारेबाजी कर रहे हैं। इसमें वो मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का भी इस्तेमाल करते दिखते हैं। हालांकि, प्रियंका उन्हें ऐसी भाषा का इस्तेमाल करने से मना करती हैं।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :