महाराष्ट्र बवाल : शिवसेना-NCP-कांग्रेस के बीच सबकुछ ठीक नहीं? : राहुल गांधी LAC पर चीन की हरकत देख PM मोदी की NSA अजीत डोभाल और CDS बिपिन रावत के साथ बैठक श्रमिक ट्रेन को लेकर उद्धव सरकार के सवालों के जवाब में भड़का रेल मंत्रालय 6 महोने मे भारत शुरू कर सकता है कोविड-19 वैक्सीन का मानव परीक्षण कोरोना काल में शिक्षा का माध्यम बन रहा इंटरनेट-सेठ एम आर जयपुरिया स्कूल रॉबर्ट्सगंज केरल के मुख्यमंत्री के गृहनगर को घोषित किया गया कोरोना हॉटस्पॉट पुलिस बलों में एक बार फिर अपराध दर बढ़ने को लेकर चिंता भारतीय सैनिकों पर लाठी-कंटीले तारों वाले डंडे और पत्थर का किया इस्तेमाल कर चीनी सैनिकों ने दिखाई नीचता सरकार पर हमला , कहा : पूरी तरह फेल हो गया लॉकडाउन : राहुल गांधी WHO की नई चेतावनी बनी सिर दर्द, कहा जहां मरीज ठीक है वहाँ बाद सकती है और संख्या योग्य विद्यार्थियों के लिए प्रोजेक्ट मैनेजमेंट में है सुनहरा भविष्य लॉकडाउन तोड़ने वाली बात पर बयान देते मनोज तिवारी BSF ने बांग्लादेश का कराया मुंह मीठा करा पाकिस्तान को नहीं दी ईद की मिठाई कोरोना : दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर को फिर से किया गया सील पाताल लोक पर सामने आया नया विवाद अनुष्का शर्मा के खिलाफ भाजपा MLA की शिकायत कोरोना के चलते ही अपने नागरिकों को भारत से निकालेगा चीन दिल्ली में मिल रहे सरकारी ई पास के फर्जी मामले क्या कोरोना को पता है उसे फ्लाइट में संक्रमण नहीं फैलाना? : SC अमेरिका ने 33 चाइनीज कंपनियों और संस्थाओं को ट्रेड ब्लैकलिस्ट कोरोना राहत : दिल्ली के आधे से ज्यादा कोरोना रेड जोन बने ओरेंग जोन

चार साल और चौहत्तर साल की सीमा को रौंद आज भी चेयरमैन पद पर काबिज

14-05-2019 19:33:27



लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया 

दिल्ली।  आई आई एम् काशीपुर सपनो की दुनिया का एक ऐसा संस्थान जो प्रबंधन के धुरंधरों को पैदा करने के लिए भारत सरकार के द्वारा जनता के टैक्स के पैसो से बनाया जाता है और इस संस्थान पर बनते ही ऐसे लोगो का कब्जा हो जाता है जो पहले से ही दो गुना दो को पांच करना जानते है जिनके हाथो में किसी  भी शिकायतकर्ता को निपटाने , बहलाने या किनारे लगाने की चाभी मौजूद होती है हालांकि हाल में ही न्यायालय में एक केस में तो पटखनी खा भी चुके है और आगे भी खायेगे।  पर आज इन सबसे ज्यादा जरूरी है कि ऐसी क्या मजबूरिया है जो आई आई एम् के नियमावली को धता बताते हुए यह महाशय चेयरमैन के पद पर आज भी काबिज है जिसकी मियाद इनके संस्थान के ज्वाइन करने के बाद चार  साल बाद स्वतः समाप्त हो जाती है और या इनकी उम्र चौहत्तर साल पार करते ही पर दोनों को धता बताते हुए यह आज भी काबिज है और इसके पीछे शंका सिर्फ एक ही बात की है कि  इनकी तिकड़ी की टीम का एक चेहरा यानी की डायरेक्टर भी इनका ही होना चाहिए भीतरखाने से खबर आ रही है की इन्होने उसके लिए अपने खासमखास बेहरुल इस्लाम को जो जुगाड़ करके सात साल का अनुभव वाली योग्यता बना बैठे है को अपना वारिस सिर्फ डायरेक्टर पद का घोषित करेंगे।  अगर सरकारी एजेंसिया बिना किसी दबाव के जांच पड़ताल करती है तो आई आई एम् में कम से कम २०० या ३०० करोड़ का घपला तो मिल ही जाएगा पर पता नहीं मोदी जी के ईमानदार तिलिस्म को यह कैसे धता बता रहे है इस बात की जानकारी मिलने पर आपसे जरूर साझा करेंगे।  लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया की टीम ने बाकायदा इनके पर्सनल सेक्रटरी को फ़ोन करके इनसे बात करने की कोशिश की पर वो इनसे हमारा कनेक्शन अभी तक नहीं लगा पायी है शायद पीके मूवी का रॉंग कनेक्शन न लगा रही हो. अब मजेदार बात यह होगी कि  क्या मीडिया , अदालत और लोग सरकार को इस धांधली के खिलाफ जागृत कर सकने में कामयाब होंगे या नहीं क्योकि करोडो में बनाये गए लाखो वाले फ्लैट अगर काइयो और फंगस के साथ ही बनाये गए है और आने वाली बारिश में छतो को टपकना ही है और घर में बच्चो की नाव वाली नदी इस बार मिलनी है तो ऐसे आई आई एम् को और इस चेयरमैन को तहे दिल से शुक्रिया।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :