इलाहबाद कोर्ट ने रद्द की अब्दुल्ला आजम की विधायकी रद्द टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने बताया टीम का असली लक्ष्य नागरिकता कानून पर बोले PM, मोदी अधिनियम पर हिंसक विरोध दुर्भाग्यपूर्ण नागरिकता कानून को लेकर चल रहे प्रदर्शन में दिल्ली में आज फिर फूंकी गयी बसें 15 फरवरी से शुरू होंगी 10वी ऑर 12वी की CBSE की बोर्ड परीक्षा नागरिकता कानून : पश्चिम बंगाल मे हिंसक प्रदर्शनों के चलते अब इंटरनेट भी बंद नागरिकता कानून को लेकर असम, त्रिपुरा, ऑर नगालेंड समेत कई पूर्वोतर राज्यों मे हिंसक प्रदर्शन अब भाजपा का सहयोगी असम गण परिषद खुद ही नागरिकता कानून के विरोध मे पहुचेगा SC बिग बॉस एक्ट कंटेस्टेंट और एक्ट्रेस पायल रोहतगी को विवादित बयान के चलते किया अरेस्ट वीडियो जारी कर कहा कि उनकी सरकार असम के लोगों के अधिकारों की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री सर्बानंद मुंबई पोलिक एको मिला सलमान के घर को बम से उड़ाना वाला ईमेल अपने पद से इस्तीफा देने वाले सवाल पर जाने जदयू के प्रशांत किशोर का जवाब मोदी हैं तो 100 रुपये किलो प्याज, 45 साल की सर्वोच्च बेरोजगारी मुमकिन है : प्रियंका गांधी हमारे देश को बांटा जा रहा है और अर्थव्यवस्था को कमजोर किया जा रहा है: राहुल गांधी जलोड़ी दर्रा में हुई इस साल की दुसरी भारी बर्फ़बारी नवलेखा की कार्यशाला आसान और अपमार्जित गूगल न्यूज सर्विस इस सर्दी मे यहाँ जाकर ले सकते है साल के अंतिम दिनो का मजा दुनिया के पहले एचआईवी पॉजिटिव 'स्पर्म बैंक' की शुरुआत करने वाला देश बना न्यूजीलैंड भारत के हिटमैन बने दुनिया के तीसरे सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले खिलाड़ी "महंगाई डायन खाय जात है" तीन साल के सबसे बड़े स्तर पर पहुची मुद्रास्फीति

जेल में होगा सख्त कानून,कैदी के पास मोबाइल मिलने पर 1000 का जुरमाना

Jyotsana Yadav 05-09-2019 12:45:46



उत्तर प्रदेश सरकार अब प्रदेश की जेलों में सख्ती बरतने के लिए जेल में मोबाइल रखने वाले अपराधियों को दंडित करने का नियम बनाने जा रही है. नए नियम के मुताबिक जेल में यदि किसी कैदी के पास मोबाइल पाया जाता है तो उसे 10 हजार रुपए जुर्माना और 3 साल और जेल की सलाखों के पीछे गुजारने होंगे. यह नियम अन्य प्रतिबंधित चीजों पर भी लागू होगा और इसके साथ साथ 25 हजार रुपए का जुर्माना भी किया जाएगा.

दरअसल जेल के अंदर से कैदियों ने मोबाइल फोन के जरिए कई वारदातों को अंजाम दिया है और उसी के जरिए अपराधी जेल के अंदर से अपना नेटवर्क चलाते हैं. लिहाजा इस नेटवर्क की कमर तोड़ने के लिए सरकार ने फैसला लिया है. यदि कोई अपराधी जेल के भीतर से किसी अपराध को अंजाम देने के लिए मोबाइल का इस्तेमाल करता है तो उस पर 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा.अभी तक कैदियों के पास से प्रतिबंधित वस्तु पाए जाने पर 6 महीने की सजा और 200 रुपए के जुर्माने का प्रावधान है लेकिन अब इसे बेहद सख्त बनाया जा रहा है. इस प्रवधान के जरिए जेल के अंदर बंद अपराधी मोबाइल और प्रतिबंधित वस्तुओं के इस्तेमाल से डरेंगे. इस बीच जेल प्रशासन ने जेल मुख्यालय में 24 स्क्रीन वाली वीडियो वॉल लगा दी है, जिससे प्रदेश के सभी 72 जिलों में सीसीटीवी कैमरों की लाइव फीड हाई स्पीड इंटरनेट के जरिए मुख्यालय स्थित कंट्रोल रूम को मिलेगी

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :