इलाहबाद कोर्ट ने रद्द की अब्दुल्ला आजम की विधायकी रद्द टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने बताया टीम का असली लक्ष्य नागरिकता कानून पर बोले PM, मोदी अधिनियम पर हिंसक विरोध दुर्भाग्यपूर्ण नागरिकता कानून को लेकर चल रहे प्रदर्शन में दिल्ली में आज फिर फूंकी गयी बसें 15 फरवरी से शुरू होंगी 10वी ऑर 12वी की CBSE की बोर्ड परीक्षा नागरिकता कानून : पश्चिम बंगाल मे हिंसक प्रदर्शनों के चलते अब इंटरनेट भी बंद नागरिकता कानून को लेकर असम, त्रिपुरा, ऑर नगालेंड समेत कई पूर्वोतर राज्यों मे हिंसक प्रदर्शन अब भाजपा का सहयोगी असम गण परिषद खुद ही नागरिकता कानून के विरोध मे पहुचेगा SC बिग बॉस एक्ट कंटेस्टेंट और एक्ट्रेस पायल रोहतगी को विवादित बयान के चलते किया अरेस्ट वीडियो जारी कर कहा कि उनकी सरकार असम के लोगों के अधिकारों की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री सर्बानंद मुंबई पोलिक एको मिला सलमान के घर को बम से उड़ाना वाला ईमेल अपने पद से इस्तीफा देने वाले सवाल पर जाने जदयू के प्रशांत किशोर का जवाब मोदी हैं तो 100 रुपये किलो प्याज, 45 साल की सर्वोच्च बेरोजगारी मुमकिन है : प्रियंका गांधी हमारे देश को बांटा जा रहा है और अर्थव्यवस्था को कमजोर किया जा रहा है: राहुल गांधी जलोड़ी दर्रा में हुई इस साल की दुसरी भारी बर्फ़बारी नवलेखा की कार्यशाला आसान और अपमार्जित गूगल न्यूज सर्विस इस सर्दी मे यहाँ जाकर ले सकते है साल के अंतिम दिनो का मजा दुनिया के पहले एचआईवी पॉजिटिव 'स्पर्म बैंक' की शुरुआत करने वाला देश बना न्यूजीलैंड भारत के हिटमैन बने दुनिया के तीसरे सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले खिलाड़ी "महंगाई डायन खाय जात है" तीन साल के सबसे बड़े स्तर पर पहुची मुद्रास्फीति

अब वन्यजीव भोजन की तलाश में नहीं भटकेंगे

Khushboo Diwakar 15-07-2019 11:07:48



जापानी सीड बॉल पद्धति से फलदार एवं सब्जी बीजों का छिड़काव

रायपुर: वनाच्छादित छत्तीसगढ़ राज्य(Chhattisgarh) में वन्य जीवों को (Wild animals) भोजन की तलाश में (looking for food) भटकना न पड़े इसलिए वन विभाग द्वारा जापान में प्राचीनकाल से प्रचलित और दुनिया भर में बीज बुवाई के लिए लोकप्रिय सीड बॉल पद्धति को इस्तेमाल में लाया जा रहा है। प्रदेश के जंगलों में वन विभाग द्वारा 19 लाख 35 हजार 500 सीड बॉल का छिड़काव किया गया है।  

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वनों में पशु-पक्षियों को भोजन उपलब्ध कराने फलदार एवं सब्जी बीज के छिड़काव के निर्देश दिए थे। सीड बॉल बनाने के लिए उपजाऊ मिट्टी, गोबर खाद एवं वर्मी कंपोष्ट को निश्चित अनुपात में मिलाकर आंटे जैसा गूथ कर गोला बनाकर उसमें फलदार एवं सब्जियों का बीज डाला जाता है। फलदार बीजों आम, कटहल, जामुन, बेर, बेल एवं करौदा तथा सब्जी बीजों लौकी, बरबट्टी, भिंडी और बैगन बीजों का छिड़काव किया गया है। वन विभाग द्वारा वन्यजीवों के प्राकृतिक रहवास में भोजन व्यवस्था सुनिश्चित करने 11 जुलाई को बीज बुवाई महापर्व मनाया गया,जिसमे लगभग 2 लाख लोगो ने हिस्सा लिया।

वनांचल क्षेत्रो में बीज बुवाई महापर्व से दोहरा लाभ मिलेगा। वनों में भोजन उपलब्ध होने से जहां एक ओर हिंसक प्राणियों से होने वाली जनहानि के प्रकरणों में कमी आएगी। भोजन उपलब्ध होने से वन्य प्राणी आबादी क्षेत्रों में प्रवेश नहीं करेंगे। वहीं वनों पर निर्भर रहने वाले लोगों को जैविक फल और सब्जी भी मिलेगी, इससे पोषण स्तर में वृद्धि होगी। वनों में बड़ी मात्रा में जैविक फलों और सब्जियों का उत्पादन भी होगा।वन क्षेत्रों में निवास करने वाले ग्रामीणों को जैविक सब्जियों की बिक्री से अतिरिक्त आमदनी भी मिलेगी।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :