मुंबई पोलिक एको मिला सलमान के घर को बम से उड़ाना वाला ईमेल अपने पद से इस्तीफा देने वाले सवाल पर जाने जदयू के प्रशांत किशोर का जवाब मोदी हैं तो 100 रुपये किलो प्याज, 45 साल की सर्वोच्च बेरोजगारी मुमकिन है : प्रियंका गांधी हमारे देश को बांटा जा रहा है और अर्थव्यवस्था को कमजोर किया जा रहा है: राहुल गांधी जलोड़ी दर्रा में हुई इस साल की दुसरी भारी बर्फ़बारी नवलेखा की कार्यशाला आसान और अपमार्जित गूगल न्यूज सर्विस इस सर्दी मे यहाँ जाकर ले सकते है साल के अंतिम दिनो का मजा दुनिया के पहले एचआईवी पॉजिटिव 'स्पर्म बैंक' की शुरुआत करने वाला देश बना न्यूजीलैंड भारत के हिटमैन बने दुनिया के तीसरे सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले खिलाड़ी "महंगाई डायन खाय जात है" तीन साल के सबसे बड़े स्तर पर पहुची मुद्रास्फीति बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के F16 के इस्तेमाल पर US ने लगाई फटकार ICC T20I Batting Rankings के पहले 10 मे विराट, साथ ही के एल राहुल को फायेदा नागरिकता बिल को लेकर बांग्लादेश विदेश मंत्री ने की भारत यात्रा रद्द हिमाचल की चोटियां बर्फ से लकदक, जलोड़ी दर्रा में भी बर्फ़बारी निरमंड के नोर पंचायत का चार दशक पुराना भवन जलकर स्वाहा अब तैयार है हवा से बनी दुनिया की पहली कार्बन निगेटिव वोदका हर 5 में से 2 कर्मचारी तबीयत का बहाना लेकर लेते है बॉस से छुट्टी कमाल का बैलेंस : ये है बैलेंसराज जो किसी भी चीज को किसी पर भी बैलेंस करदे सिर्फ आतंक ही नहीं, एड्स जैसी बीमारी से भी गंभीर रूप से ग्रस्त है पाकिस्तान हार्दिक पांडया ने कही टीम मे अपनी वापसी को लेकर कुछ बाते

सरकारी रिकॉर्ड में राम रहीम किसान नहीं ख़ारिज हो सकती है पैरोल याचिका

Shweta Chauhan 25-06-2019 17:50:25



रोहतक की सुनारिया जेल में दुष्कर्म और हत्या के मामले में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को खेती के लिए पैरोल मिलना मुश्किल लग रहा है। सिरसा के तहसीलदार ने रिपोर्ट में बताया है कि डेरे के पास कुल 250 एकड़ भूमि है। इसमें कहीं भी राम रहीम मालिक या काश्तकार नहीं है। सारी भूमि डेरा सच्चा सौदा ट्रस्ट के ही नाम है। इसी वजह से प्रशासन की नजर में पैरोल का आधार नहीं बन रहा है।

डीसी अशोक कुमार गर्ग ने बताया कि रिपोर्ट तैयार की जा रही है। इसे जल्द ही तैयार कर जेल प्रशासन को भेजा जाएगा। एसएसपी डॉ. अरुण नेहरा ने बताया कि वे मैरिट के आधार पर ही फैसला लेंगे। वहीं, सिरसा प्रशासन की रिपोर्ट के बाद ही रोहतक जेल प्रशासन कोई फैसला लेगा। प्रशासनिक सूत्रों ने भास्कर को बताया कि राम रहीम के बाहर आने पर सिरसा में कानून व्यवस्था कायम रखने में दिक्कत आ सकती है। 24 घंटे निगरानी रखना भी मुश्किल होगा। इसलिए पैरोल देने की सिफारिश के आसार न के बराबर हैं।

अभी भी दो केस विचाराधीन

गुरमीत सिंह पर अभी भी दो केस सीबीआई कोर्ट में विचाराधीन हैं। इनमें रणजीत सिंह की हत्या और साधुओं को नपुंसक बनाए जाने का केस है। वहीं, पंचकूला और सिरसा हिंसा मामले में आदित्य इंसां अभी तक फरार है। पुलिस उसे मोस्ट वांटेड अपराधी घोषित कर चुकी है। उस पर पांच लाख रुपए का इनाम भी  है।

जेलमंत्री ने कहा- पैरोल हर कैदी का अधिकार

हरियाणा के जेल मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने कहा, "किसी भी कैदी को पैरोल का अधिकार है। गुरमीत ने पैरोल के लिए अपील की है, उस पर जेल अधीक्षक ने जिला प्रशासन को पत्र लिखकर जवाब मांगा है। अब पैरोल पर फैसला लेने का काम जेल प्रशासन और पुलिस का है।"

जेल अधीक्षक ने पूछा- क्या पैरोल देना उचित होगा

रोहतक जेल अधीक्षक ने पैरोल के संबंध में सिरसा जिला प्रशासन से राय मांगी है। उन्होंने सिरसा प्रशासन को पत्र लिखकर कहा है कि गुरमीत का जेल में आचरण अच्छा है। उसने जेल में कोई अपराध भी नहीं किया। वह सजा का एक साल पूरा कर चुका है। वह हरियाणा का है, इसलिए पैरोल अधिनियम 2012 और 2013 के अंतर्गत हार्डकोर श्रेणी में नहीं आता। लेकिन उस पर अभी दो केस और लंबित हैं। क्या उसे पैरोल देना उचित होगा?’

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :