जुआयरियों-सट्टेबाज़ों को पाल रहा है, उत्तरप्रदेश का पुलिस प्रशाशन

हाथरस, बलरामपुर के बाद अब भदोही में भी दरिंदगी आई सामने IPL 2020: आज होगी क्रिस गेल की एंट्री! देखिए क्या होगी ड्रीम 11 टीम Bihar Election 2020: पिछले दो चुनावों में जिस गठबंधन में रहा जदयू SC का फैसला रद्द उड़ानों के यात्रियों को टिकट का पैसा होगा रिफंड अभिषेक बच्चन ने ड्रग्स पर ट्रोलर्स को दिया करारा जवाब सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले:एम्स की रिपोर्ट में सामने आए 3 बड़े सवाल अर्थव्यवस्था: सितंबर में निर्माण प्रक्रिया PMI साढ़े आठ साल के उच्च स्तर पर हाथरस के बाद अब बलरामपुर, आगरा, आजमगढ़, बागपत और बुलंदशहर में भी रेप IPL 2020:सैमसन के इस कैच की तारीफ की और याद किया सचिन तेंदुलकर ने अपना 1992 वर्ल्ड कप का दौर राहुल गांधी ने लगाया बड़ा आरोप कहा-पुलिस वालों ने मुझे धकेल के लाठी मारकर गिराया पीड़िता की पोस्टमॉर्टम तथा फोरेंसिक रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं-DGP प्रशांत कुमार पूर्व मंत्री राधाकृष्‍ण किशोर राजद में शामिल हुए राहुल-प्रियंका को एक्सप्रेस-वे पर गेस्ट हाउस में ले गई पुलिस Sarkari Naukri 2020:राजस्थान उच्च न्यायालय में निकली 1760 सरकारी नौकरियां रद्द उड़ानों के यात्रियों को रिफंड मिलेगा टिकट का पैसा होगा औरैया में साड़ी से लटके मिले एक महिला और तीन बच्चियों के शव बलरामपुर यौन दुष्कर्म मामले पर भड़की कृति सनन 'अनलॉक 5' में 15 अक्टूबर से खुलेंगे सिनेमाघर आखिर महेंद्र सिंह धोनी किस मनोरंजन प्रोजेक्ट पर कर रहे हैं काम? क्या PM मोदी अपने "प्रिय मित्र" का सम्मान करने के लिए एक और "नमस्ते ट्रम्प" रैली आयोजित करेंगे-चिदंबरम

जुआयरियों-सट्टेबाज़ों को पाल रहा है, उत्तरप्रदेश का पुलिस प्रशाशन

Abhayraj Singh Tanwar 12-11-2019 12:41:21

दिल्ली से सटे गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह का चाबुक भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर लगातार चल रहा है।  एसएसपी ने थाना लिंक रोड में तैनात इंस्पेक्टर लक्ष्मी चौहान और उनके अन्य 7 सहयोगियों को भ्रष्टाचार के मामले में लिप्त पाए जाने पर सलाखों के पीछे भेज दिया।  वही अब थाना इंदिरापुरम में भी तैनात रहे तेजतर्रार इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को एक मामले में लाइन हाजिर किया गया है। 

जांच में इंस्पेक्टर दीपक शर्मा और अन्य दो सब इंस्पेक्टर को भी दोषी पाया गया।  जिस मामले में आरोपियों को छोड़े जाने के मामले में रिश्वत ली गई थी, उसमें से 4.60 लाख रुपये भी बरामद कर लिए गए हैं।  मामला दर्ज कर दीपक शर्मा और अन्य दो सब इंस्पेक्टर को भी सस्पेंड कर दिया गया है।  जल्द ही दीपक शर्मा को सलाखों के पीछे जाना पड़ सकता है। 

गाजियाबाद पुलिस के अनुसार 22-23 अक्टूबर को लाखों रुपये लेकर जुआ और सटोरियों को छोड़े जाने का मामला सामने आया था।  इसके बाद थाना इंदिरापुरम प्रभारी इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को लाइन हाजिर किया गया।  इस पूरे मामले की जांच क्षेत्राधिकारी केशव कुमार को सौंपी गई।  क्षेत्राधिकारी की जांच में पता चला कि 22-23 की रात में वैशाली के होटल ग्रांड इन से 4 लोगों को दोनों सब इंस्पेक्टर ने जुआ खेलते पकड़ा था। लेकिन सभी को बिना गिरफ्तार किए छोड़ दिया गया और जुए के पैसे को रख लिया गया।  सीओ इंदिरापुरम केशव कुमार की जांच में इंस्पेक्टर दीपक शर्मा, 2 सब इंस्पेक्टरों संदीप और सचिन को भी दोषी पाया गया है। इनके कब्जे से रिश्वत की रकम 4,06,000 भी बरामद कर लिए गए हैं।  अब दीपक शर्मा और उनके सहयोगी दोनों सब इंस्पेक्टरों को भी सस्पेंड किया गया है।  दीपक शर्मा और दोनों सब इंस्पेक्टर के खिलाफ थाना इंदिरापुरम में ही आईपीसी 409 और पीसी एक्ट में मामला दर्ज किया गया है।  जुए में गिरफ्तार कर बिना कार्रवाई के छोड़े गए 13 लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया गया है। 

दिल्ली से सटे गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह का चाबुक भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर लगातार चल रहा है।  एसएसपी ने थाना लिंक रोड में तैनात इंस्पेक्टर लक्ष्मी चौहान और उनके अन्य 7 सहयोगियों को भ्रष्टाचार के मामले में लिप्त पाए जाने पर सलाखों के पीछे भेज दिया।  वही अब थाना इंदिरापुरम में भी तैनात रहे तेजतर्रार इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को एक मामले में लाइन हाजिर किया गया है। 

जांच में इंस्पेक्टर दीपक शर्मा और अन्य दो सब इंस्पेक्टर को भी दोषी पाया गया।  जिस मामले में आरोपियों को छोड़े जाने के मामले में रिश्वत ली गई थी, उसमें से 4.60 लाख रुपये भी बरामद कर लिए गए हैं।  मामला दर्ज कर दीपक शर्मा और अन्य दो सब इंस्पेक्टर को भी सस्पेंड कर दिया गया है।  जल्द ही दीपक शर्मा को सलाखों के पीछे जाना पड़ सकता है। 

गाजियाबाद पुलिस के अनुसार 22-23 अक्टूबर को लाखों रुपये लेकर जुआ और सटोरियों को छोड़े जाने का मामला सामने आया था।  इसके बाद थाना इंदिरापुरम प्रभारी इंस्पेक्टर दीपक शर्मा को लाइन हाजिर किया गया।  इस पूरे मामले की जांच क्षेत्राधिकारी केशव कुमार को सौंपी गई।  क्षेत्राधिकारी की जांच में पता चला कि 22-23 की रात में वैशाली के होटल ग्रांड इन से 4 लोगों को दोनों सब इंस्पेक्टर ने जुआ खेलते पकड़ा था। लेकिन सभी को बिना गिरफ्तार किए छोड़ दिया गया और जुए के पैसे को रख लिया गया।  सीओ इंदिरापुरम केशव कुमार की जांच में इंस्पेक्टर दीपक शर्मा, 2 सब इंस्पेक्टरों संदीप और सचिन को भी दोषी पाया गया है। इनके कब्जे से रिश्वत की रकम 4,06,000 भी बरामद कर लिए गए हैं।  अब दीपक शर्मा और उनके सहयोगी दोनों सब इंस्पेक्टरों को भी सस्पेंड किया गया है।  दीपक शर्मा और दोनों सब इंस्पेक्टर के खिलाफ थाना इंदिरापुरम में ही आईपीसी 409 और पीसी एक्ट में मामला दर्ज किया गया है।  जुए में गिरफ्तार कर बिना कार्रवाई के छोड़े गए 13 लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया गया है। 

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :