घरेलू रसोई गैस हुई महंगी आज का राशिफल भारत से बिगड़े रिश्ते का चालाकी से फायदा उठा रहा चीन गोल्ड बॉन्ड में निवेश है फायदे का सौदा जांबाज एयर फोर्स ऑफिसर के रोल में दिखीं जाह्नवी कपूर नया कानून-अब नहीं चलेगा बाइक या स्कूटर पर लोकल हेलमेट देना होगा चालान सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने पीएम नरेंद्र मोदी से लगाई मदद की गुहार बिहार कोरोना और बाढ़ से प्रभावित, अभी न कराएं चुनाव: NDA में सहयोगी LJP ने EC को लिखा पत्र शकुंतला देवीः वो महिला जो कंप्यूटर और कैलकुलेटर्स की स्पीड को देती थी मात हाई ब्लड प्रेशर से रहते हैं परेशान तो डाइट में शामिल करें साबुत मूंग पंजाब के तीन जिलों में जहरीली शराब पीने से 30 लोगों की मौत विराट कोहली के खिलाफ मद्रास हाई कोर्ट में दर्ज हुआ केस अयोध्या :श्रीराम मंदिर भूमि पूजन से पहले आइसोलेशन, पांच जोन में बांटी गई राम नगरी अनलॉक-3 : एलजी ने दिल्ली में होटल और साप्ताहिक बाजार खोलने के केजरीवाल सरकार के फैसलों पर लगाई रोक सुशांत मामले में लग रहे आरोपों पर रिया चक्रवर्ती ने तोड़ी चुप्पी दिल्ली में 8 रुपये प्रति लीटर सस्ता हुआ डीजल सुशांत सुसाइड केस:सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- मुझे क्यों लगता है कि सुशांत की हत्या हुई है आज का राशिफल राहुल का PM पर हमला - देश को बर्बाद कर रहे हैं मोदी नई शिक्षा नीति 2020 : स्कूल एजुकेशन, बोर्ड एग्जाम

हैरतअंगेज: 5 लाख नवजातों में से एक में होता है ऐसा, छह दिन की बच्ची के पेट में मिला भ्रूंण

यहां छह दिन की बच्ची के पेट में एक अविकसित भ्रूण पाया गया है। डॉक्टरों ने इसे असामान्य घटना होने का दावा किया है। एक डॉक्टर ने शनिवार (19 अक्टूबर) को बताया कि नवजात बच्ची के माता-पिता 17 अक्टूबर को उसे शहर के एक निजी नर्सिंग होम में लाए।

Deepak Chauhan 20-10-2019 11:41:41



छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में हैरतअंगेज मामला सामने आया है। यहां छह दिन की बच्ची के पेट में एक अविकसित भ्रूण पाया गया है। डॉक्टरों ने इसे असामान्य घटना होने का दावा किया है। एक डॉक्टर ने शनिवार (19 अक्टूबर) को बताया कि नवजात बच्ची के माता-पिता 17 अक्टूबर को उसे शहर के एक निजी नर्सिंग होम में लाए। माता-पिता दोंगरगांव इलाके के अमलीडीह गांव के रहने वाले हैं।

बाल चिकित्सक और नर्सिंग होम के मालिक डॉ. अनिमेश गांधी ने कहा, ''बच्ची के पेट के हिस्से में सूजन थी। चिकित्सा जांच के बाद उसका सोनोग्राफी टेस्ट कराया गया। सोनोग्राफी में पता चला कि बच्ची एक दुर्लभ चिकित्सा स्थिति में है जिसे 'गर्भस्थ' शिशु में भ्रूण कहा जाता है। उन्होंने बताया, ''इस स्थिति में पेट में एक अन्य शिशु का अविकसित भ्रूण पाया जाता है। उन्होंने बताया कि नवजात बच्ची की हालत सामान्य है और जांच में पता चला कि अविकसित भ्रूण उसके किसी अंग से जुड़ा नहीं है।

डॉ. गांधी ने बताया, ''लड़की को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। जब बच्ची का वजन करीब 4-5 किलोग्राम होगा तब हम भ्रूण हटाने की सर्जरी करेंगे। रायपुर के डॉ. नितिन शर्मा यह सर्जरी करेंगे जो पहले भी दो बार ऐसी सर्जरी कर चुके हैं।"

बच्ची की सोनोग्राफी करने वाले विकिरण चिकित्सक डॉ. अमित मोदी ने कहा कि ऐसी स्थिति पांच लाख नवजातों में से एक में पायी जाती है और देश में ऐसे केवल 9-10 मामले ही सामने आते हैं। डॉ. मोदी ने कहा, ''ऐसी स्थिति सामान्य तौर पर जुड़वा बच्चों के साथ गर्भधारण करने पर होती है। एक भ्रूण का विकास नहीं होता और आखिरकार वह दूसरे भ्रूण में मिल जाता है।"

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :