राम मंदिर पर फैसले से पहले उत्तरप्रदेश में बड़ाई गई सुरक्षा

ड्रग्स मामला: NCB रडार पर दीया मिर्जा, को पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा नये कृषि विधेयक : हक मार, हक दिलाने का दावा देश में पिछले 24 घंटों में एक लाख से ज्यादा लोग हुए ठीक IPL 2020: आज चेन्नई-राजस्थान का मैच IPL 2020: पहले मैच ने तोड़े BARC के सारे रिकॉर्ड बदला लो-बदल डालो- शशि यादव , राज्य अध्यक्ष, बिहार राज्य आशा कार्यकर्ता संघ जानिए एक ही दिन में कितना कम हुआ सोने-चांदी का दाम 1 घंटे के लिए लोकसभा स्थगित, राज्यसभा में कई विधेयक पारित पूर्व सांसद अतीक अहमद के आवास पर चला बुलडोजर मेट्रोपॉलिटन सिटीज से हवाई सेवाओं को जोड़े केंद्र- CM भूपेश सप्ताहभर के लिए बस-ऑटो बंद होने से रेलयात्री परेशान MP में किसानों को 10 हजार मिलेगी सम्मान निधि ड्रग्स रैकेट में बड़े सितारों का नाम पर भड़की रवीना टंडन शिक्षा विभाग की वेबसाइट हैक कर फर्जी शिक्षकों से की वसूली दुनियाभर में तीन करोड़ 12 लाख से ऊपर पहुंचा संक्रमितों का आंकडा जापान के नए PM ने अमेरिका से आपस में रिश्ते मजबूत करने पर की बातचीत भारत-चीन के बीच 13 घंटे चली कोर कमांडर वार्ता राज्यसभा में कृषि क्षेत्र से जुड़ा तीसरा विधेयक आज होगा पेश राज्यसभा में सांसदों के निलंबन वापसी की मांग बिहार उपचुनाव 2020: दांव पर लगा है 'नीतीश ब्रांड'

राम मंदिर पर फैसले से पहले उत्तरप्रदेश में बड़ाई गई सुरक्षा

Abhayraj Singh Tanwar 08-11-2019 10:52:29

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह और चीफ सेक्रेट्री राजेंद्र तिवारी को तलब किया है।  रंजन गोगोई दोनों अफसरों से आज दिन में मिलेंगे।  माना जा रहा है कि अयोध्या पर संभावित फैसले से पहले की तैयारियों को लेकर यह मुलाकात हो सकती है। 

अयोध्या विवाद पर फैसले को लेकर योगी सरकार से लेकर पूरा प्रशासनिक अमला हाई अलर्ट पर आ चुका है।  इस कड़ी सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों साथ सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। 

वहीं, केंद्रीय गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, अयोध्या के फैसले को देखते हुए सभी राज्यों को एडवाइजरी जारी की गई है।  सभी राज्यों को फैसले को लेकर अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं।  सूत्रों के मुताबिक अतिरिक्त सुरक्षा के लिए गृह मंत्रालय अर्धसैनिक बलों की 40 कंपनियां भेज रहा है।  इन 40 कंपनियों में 4000 पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान शामिल होंगे। 

उत्तर प्रदेश पुलिस ने बरेली जोन में 6 हजार से ज्यादा ऐसे लोगों को चिन्हित किया है जो फैसले के बाद उपद्रव कर सकते हैं।  ऐसे शरारती तत्वों को रेड कार्ड जारी किया गया है, यानी उन पर पुलिस की सख्त नजर रहेगी। बरेली जोन के शहर शाहजहापुर, बदायूं, पीलीभीत, रामपुर, मुरादाबाद, संभल, अमरोहा और बिजनौर में 4 हजार से अधिक ऐसे लोग चिन्हित किए गए हैं, ये वो लोग हैं जो बवाल करवा सकते हैं।  इसके अलावा 90 ऐसे स्थान चिन्हित किये गए है जो संवेदनशील हैं। 

अयोध्या पर फैसले से पहले अंबेडकर नगर के अलग-अलग कॉलेजों में 8 अस्थाई जेल बनाई गई है।  प्रशासन ने ऐसा फैसला सुरक्षा के मद्देनजर लिया है। अयोध्या में पहले से हाई अलर्ट है और जगह-जगह जवानों की तैनाती की गई है।  प्रशासन हर परिस्थिति से निपटने के लिए सुरक्षात्मक मोड में हैं।  संवेदनशील मामला होने की वजह से एहतियातन ऐसा किया गया है। 

अयोध्या मामले में फैसले से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार बेहद सजग है।  इस बाबत प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को कैबिनेट बैठक की और मंत्रियों को सलाह दी कि उकसाने वाली बयानबाजी नहीं होनी चाहिए।  मोदी ने मंत्रिपरिषद की बैठक में कहा कि अयोध्या मामले पर बेवजह बयानबाजी नहीं होनी चाहिए।  साथ ही पीएम मोदी ने अयोध्या विवाद पर आने वाले फैसले को लेकर देश में शांति और सौहार्द्र बनाए रखने में सहयोग करने की अपील की। 

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :