देश के इंजीनियरों को दिया चैलेंजदेश के इंजीनियरों को दिया मेड इन इंडिया ऐप का चैलेंज शराब के नशे में चूर पुलिस कर्मी ने एक महिला को अपनी कार से रौंद कानपुर एनकाउंटर से पहले विकास दुबे से SO विनय तिवारी ने की थी बात दक्षिण चीन सागर में युद्धपोतों का अभ्यास, चीन से निपटने को तैयार अमेरिका सीएम योगी का ऐलान शहीद पुलिसकर्मियों के परिजनों को एक-एक करोड़ भारत और अमेरिका की दोस्ती को देखकर चीन को 'जलन' 4.5 की तीव्रता से हिली दिल्ली-एनसीआर में धरती पीएम नरेंद्र मोदी के लेह दौरे से चिढ़ा चीन लेह पहुंचे पीएम :- आपका मुकाबला कोई नहीं कर सकता : पीएम मोदी यूजीसी की नई गाइडलाइंस जारी होने के बाद स्पष्ट होंगी फाइल ईयर की परीक्षाएं अचानक लेह पहुंच गए प्रधानमंत्री मोदी कोरोना संक्रमितों की संख्या 92 हजार के पार, अबतक 63 हजार हुए ठीक तेज प्रताप की साली करिश्मा राय को तेजस्वी ने ज्वाइन कराई RJD 33 लड़ाकू विमानों को खरीदने के प्रस्ताव को मंजूरी शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में शामिल हुए 28 मंत्री दिल्ली-एनसीआर से कोरोना के खात्मे पर अमित शाह तीनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग करेंगे बैठक हमारे 20 जवानों ने बलिदान दिया तो चीन में यह संख्या दोगुनी : रविशंकर प्रसाद दिल्ली में शुरू होगा देश का पहला प्लाज्मा बैंक दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या हुई 417 दिल्ली के लोगों को डरने की कोई जरूरत नहीं, दिल्ली में नहीं कम्युनिटी स्प्रेड : अमित शाह

केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह के लिए पीएम मोदी को न्योता

पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने बताया कि पीएम मोदी के साथ आप ने बीजेपी के आठ विधायकों और सात सांसदों को भी इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि प्रधानमंत्री शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे या नहीं।

Deepak Chauhan 14-02-2020 18:12:00



आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रविवार (16 फरवरी) को रामलीला मैदान में होने वाले अपने शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रित किया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने बताया कि पीएम मोदी के साथ आप ने बीजेपी के आठ विधायकों और सात सांसदों को भी इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि प्रधानमंत्री शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे या नहीं।


क्या है 16 फरवरी को पीएम मोदी का कार्यक्रम 

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के अनुसार, वह रविवार को 30 से अधिक परियोजनाओं के शुभारंभ के लिये अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगे। पीएम अपने इस दौरे में करीब 1222 करोड़ की 52 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 446 करोड़ रुपये के 23 विकास कार्यों का शिलान्‍यास करेंगे। इसमें बीएचयू में वैदिक विज्ञान केंद्र, कैंसर अस्‍पताल का आवासीय भवन और सुपर स्‍पेशियलिटी अस्‍पताल का लोकार्पण शामिल है। चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर, मंडलीय अस्‍पताल परिसर स्थित मेटरनिटी विंग, राजातालाब में 220 केवी विद्युत उपकेंद्र, पुलिस लाइन परिसर में 200 क्षमता की महिला बैरक, शहर में तीन स्‍थानों पर मल्‍टीलेवल पार्किंग परियोजनाएं प्रमुख हैं।


क्या है आम आदमी पार्टी का कहना  

आम आदमी पार्टी की दिल्ली ईकाई के संयोजक राय ने कहा कि प्रधानमंत्री को शुक्रवार को सुबह पत्र भेजा गया। राय ने बताया है कि दिल्ली के सभी सातों सांसदों और भाजपा के आठ नव निर्वाचित विधायकों को भी शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रित किया गया है। राय ने  बताया कि अन्य राज्यों का कोई भी मुख्यमंत्री या नेता समारोह का हिस्सा नहीं होगा क्योंकि यह विशिष्ट रूप से दिल्ली का समारोह है। केजरीवाल ने अखबारों में विज्ञापनों के जरिए दिल्लीवासियों से अपने शपथ ग्रहण समारोह में आने का अनुरोध किया है जब वह लगातार तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बनेंगे। केजरीवाल अपनी कैबिनेट के साथ रविवार को सुबह 10 बजे रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा चुनावों में एक बार फिर आम आदमी पार्टी ने बंपर जीत हासिल की है। मंगलवार को आए नतीजों में आम आदमी पार्टी ने पचास फीसदी से ज्यादा वोट लेकर 62 सीटों पर जीत हासिल की है। मुख्य विपक्षी दल भाजपा के विधायकों की संख्या तीन से बढ़कर आठ हो गई है। कांग्रेस पिछली बार की तरह अपना खाता नहीं खोल पाई है। कांग्रेस के 63 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई है।


केजरीवाल तीसरी बार मुख्यमंत्री बनेंगे 

शीला दीक्षित के बाद अरविंद केजरीवाल ऐसे दूसरे नेता होंगे, जो तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। शीला दीक्षित 15 साल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। उन्हें 2013 में हराकर अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की सत्ता संभाली थी। इसके बाद उन्होंने 67 सीट जीतकर 2015 में दोबारा सीएम पद की शपथ ली थी। अब वह तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।


भाजपा निराश, कांग्रेस का सूपड़ा साफ

जीत का दावा कर रहे भाजपा नेता परिणाम के बाद निराश दिखाई दिए। पार्टी के मात्र आठ उम्मीदवार ही चुनाव जीत पाए। भाजपा को दावे के अनुरूप परिणाम तो नहीं मिले, लेकिन इस बार उसका मत प्रतिशत बढ़ा है। दूसरी ओर, इस चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया। कांग्रेस का मत प्रतिशत 4.26 प्रतिशत रहा। पिछले चुनाव के मुकाबले इसमें पांच फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है। कांग्रेस के 66 प्रत्याशियों में से सिर्फ तीन की जमानत बच सकी। दिल्ली विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का यह सबसे खराब प्रदर्शन है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :