रोज 15 हजार से ज्यादा टूरिस्ट पहुंचते हैं स्टेच्यू ऑफ यूनिटी

Truecaller जैसा ऐप लॉन्च कर सकती है गूगल राहुल गांधी ने कोरोना वैक्सीन को लेकर पीएम मोदी से पूछे सवाल रोशनी जमीन घोटाला में कांग्रेस-पीडीपी समेत NC नेता शामिल सोने की कीमतों में आया उछाल, चांदी में गिरावट दिसंबर से फिर पड़ेगा आपकी जेब पर असर बीमारियों में बैंगन खाने से करें परहेज अहमदाबाद में कर्फ्यू हटते ही आम दिनों की तरह हलचल हुई शुरू राहुल पर निशाना साधने वाले कांग्रेसी पहले आईना देखें- अधीर रंजन कोरोना काल के साथ साथ नहीं मिल रही है महंगाई में राहत ड्रग्स केस: कॉमेडियन भारती सिंह और पति हर्ष को मिली जमानत हिमाचल से भी ठंडा राजस्थान का माउंट आबू Big Boss14-घर से बेघर हुए जान ने शो के कंटेस्टेंट्स की खोली पोल मेट्रो में मास्क नहीं लगाने पर 250 रुपये देना होगा जुर्माना भारत में बन रही ऑक्सफोर्ड की कोवीशील्ड 90% तक असरदार राज्यसभा चुनाव के लिए BJP के सामने पासवान की जगह कौन Drugs case: भारती और उनके पति हर्ष को मिली मुंबई कोर्ट से जमानत ‘इंडियाज बेस्ट डांसर’ के विजेता बने अजय सिंह यूपी में शादी समारोहों में 100 लोग ही हो सकेंगे शामिल अली संग नए अपार्टमेंट में शिफ्ट हुई रिचा चड्ढा धवन के साथ दूसरा ओपनर के लिए मयंक और शुभमन रेस में

रोज 15 हजार से ज्यादा टूरिस्ट पहुंचते हैं स्टेच्यू ऑफ यूनिटी

Anjali Yadav 31-10-2020 14:27:43

अंजलि यादव,

लोकल न्यूज ऑफ इंडिया,



नई दिल्ली: गुजरात में बनाई गई दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति- स्टेच्यू ऑफ यूनिटी देखने का क्रेज दुनिया में तेजी से बढ़ रहा है. सरदार सरोवर डैम के पास बनाई गई इस प्रतिमा की कारीगरी देखने के लिए पूरी दुनिया से लोग भारत आ रहे हैं. इस बारे में सामने आई रिपोर्ट्स की माने तो कोरोना काल से पहले तक 43 लाख टूरिस्ट इसे देखने आ चुके हैं.

 

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी का क्रेज इस कदर लोगों में देखने को मिल रहा है कि अब हर दिन यहाँ आने वाले लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. रिपोर्ट्स की माने तो अमेरिका के स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी की तुलना में स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए लोग ज्यादा आ रहे हैं.

 

अब यहां आने वालों की संख्या इस साल मार्च तक 15 हजार के पार पहुंच चुकी है. जबकि स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी देखने लोग रोजाना तकरीबन 10 हजार के करीब हैं.

 

 

डेढ़ साल में इतनी हुई कमाई

इस प्रतिमा को 31 अक्टूबर 2018 को लॉन्च किया था और 1 नवंबर 2018 से 17 मार्च 2020 तक लगभग पूरी दुनिया के टूरिस्ट यहाँ आने लगे थे. मार्च तक यहां 43 लाख पर्यटक आ चुके थे. लाखों लोगों ने मार्च तक करीब 120 करोड़ रुपए की कमाई मंत्रालय कर चुका था. हालांकि इसके बाद कोरोना काल शुरू हो गया और 17 मार्च से 16 अक्टूबर तक यानी कुल 8 महीने स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को टूरिस्टों के लिए बंद रखना पड़ा। इसे 17 अक्टूबर से फिर से सभी के लिए खोल दिया गया है. अब जबकि मात्र 14 दिन इसे खोले हुए हो चुकें हैं तब यहां आने वालों की संख्या 10 हजार से ज्यादा हो चुकी है.

 

 

देश के टॉप-5 स्मारकों से ज्यादा कमाई

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को देखने वाले टूरिस्टों की संख्या अब बढ़ती जा रही है. 31 अक्टूबर, 2018 के बाद से करीब एक साल में यहां 24 लाख से ज्यादा पर्यटक इसे देखने के लिए आ चुके हैं। स्टेच्यू ऑफ यूनिटी की पहले साल में इनकम 63.69 करोड़ रुपए थी. इसके बाद, 2019 में देश के टॉप-5 स्मारकों में ये सबसे ज्यादा कमाई करने वाला टूरिस्ट स्पॉर्ट बन गया और इसने सबसे ज्यादा कमाई की.

 

 

आप कैसे पहुंचे

टूरिस्टों की सुविधा के लिए 31 अक्टूबर से अहमदाबाद से केवडिया के बीच सी-प्लेन सर्विस भी शुरू की जा रही है. ये सफर को आसान बना देगा इसकी एक तरफ की टिकट 1500 रुपए होगी. अगर आप भी स्टेच्यू ऑफ यूनिटी देखने के लिए जाना चाहते हैं तो आपको नर्मदा से सबसे नजदीक वडोदरा एयरपोर्ट जाना होगा वहां से स्टेच्यू ऑफ यूनिटी से 90 किमी दूर है. दूसरे राज्यों के साथ वडोदरा एयरपोर्ट से कनेक्टेड फ्लाइट्स हैं और सबसे करीबी रेलवे स्टेशन अंकलेश्वर है जो स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से दूरी 90 किमी है.



चीन से प्रतिमा का संबंध

इस मूर्ति से चीन का अनोखा संबंध है. इसे बनाने में कई चीनी मजदूर तो लगे हैं लेकिन खास ये है कि इसके पूरे होने पर ये चीन स्थित दुनिया की सबसे लंबी प्रतिमा से भी लंबी होगी. दरअसल चीन में स्प्रिंग टेंपल बुद्ध प्रतिमा लगी है जिसकी लंबाई 128 मीटर है. अभी ये दुनिया की सबसे लंबी प्रतिमा है. लेकिन स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की लंबाई 182 मीटर होगी जो स्प्रिंग टेंपल बुद्ध प्रतिमा से ज्यादा है. 

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :