CAA Protest / लखनऊ में शायर मुनव्वर राना की बेटियों के खिलाफ मुकदमे हुये दायर

किसान के हित की लड़ाई या व्यापारिक स्वार्थ की राजनीति—पं0 शेखर दीक्षित एचएएस अधिकारी राजीव कुमार होंगे मानव भारती यूनिवार्सिटी के नए प्रशासक दीपिका से NCB की पूछताछ और किसानों के प्रदर्शन की तारीख़ इत्तेफ़ाक़ या प्रयोग छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने की बड़ी आगजनी कृषि विधेयक को लेकर CM बघेल का केंद्र पर निशाना जमीन पर चीनी कब्जे को लेकर लीपापोती में लगी ओली सरकार 10 बातों में कैसे कृषि कानून से किसानों को होगा फायदा BlackTree ने किया 24 घंटे में 8000 से ज्यादा टी-शर्ट्स का सेल हरियाणा में कोरोना के चलते हुक्के पर लगी पाबंदी डॉक्टर ने जहर खाकर किया सुसाइड कोरोना संक्रमण के चलते बिहार चुनाव ऐप के जरिए उम्मीदवार ऑनलाइ नामांकन दाखिल कर पाएंगे नेपाल में भारी बारिश के कारण आया भूस्खलन सर्दियों में वायु प्रदूषण से बढ़ सकता है कोरोना संक्रमण 30 सितंबर तक ही कर सकते है राशन कार्ड को आधार से लिंक Nail Polish के सेट पर कलाकारों के Corona पॉजिटिव आने के बाद रुकी शूटिंग छेड़खानी व यौन अपराध करने वालों के शहरों में लगेंगे पोस्टर महबूबा मुफ़्ती की रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचीं बेटी इल्तिजा प्रकाश जावड़ेकर ने विपक्ष की राजनीति को बताया 'दिशाहीन' Maruti Swift से लेकर Baleno तक अब बिना डाउनपेमेंट के खरीदें मारुति की गाड़ियां Bihar Election: नीतीश कुमार को नहीं बनने दूंगी CM- पुष्पम प्रिया चौधरी

CAA Protest / लखनऊ में शायर मुनव्वर राना की बेटियों के खिलाफ मुकदमे हुये दायर

Deepak Chauhan 21-01-2020 13:29:01

लखनऊ में धारा 144 लागू होने के बाद भी नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में घंटाघर में हो रहे प्रदर्शन के मामले में पुलिस ने तीन मुकदमें दर्ज किए हैं। पुलिस ने मशहूर शायर मुनव्वर राना की दोनों बेटियों खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। दोनों बेटियां सुमैय्या राना, फौजिया राना और 12 अज्ञात महिलाओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 145, 188 और 352 के तहत लखनऊ के ठाकुरगंज थाने में एफआईआर दर्ज की गई है।

पुलिस ने जिनके खिलाफ मुकादमा दर्ज किया है उनमें से 24 लोग नामजद व 140 अज्ञात हैं। एडीसीपी पश्चिमी विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि धारा 144 के चलते प्रदर्शन पूरी तरह असंवैधानिक है। घंटाघर के सामने पिछले चार दिनों से महिलाए अपने बच्चों के साथ नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं।


पहली एफआईआर

ठाकुरगंज थाने में तैनात दारोगा सेठ पाल सिंह ने मोईनउद्दीन, रसूक अहमद, शबी फातिमा, साफिया, हफीजा और 138 अज्ञात महिलाओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 145, 188 और 283 के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। इस एफआईआर में 20 वाहनों का भी जिक्र किया गया है, जिनकी वजह से घंटाघर के आसपास जाम भी लगा।


दूसरी एफआईआर

ठाकुरगंज थाने में तैनात दारोगा कैलाश नारायण त्रिवेदी ने लईस हसन और नसरीन जावेद के खिलाफ आईपीसी की धारा 188, 505 1बी के तहत दर्ज करवाई है।


तीसरा मुकदमा

ठाकुरगंज थाने में तैनात महिला सिपाही ज्योति कुमारी ने शायर मुनव्वर राना की बेटी सुमैय्या राना, फौजिया राना, रुखसाना, शबी फातिमा और 10 अज्ञात महिलाओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 145, 188 और 352 के तहत ठाकुरगंज थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है।

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ घंटाघर के बाद गोमतीनगर के उजरियांव में गंज शहीदा कब्रिस्तान के पास स्थित दरगाह परिसर में दर्जनों की संख्या में महिलाओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। प्रदर्शन की जानकारी मिलने के बाद पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। धरना समाप्त करने के लिए पुलिस काफी देर तक प्रदर्शनकारियों को समझाती रहीं लेकिन वे नहीं मानीं। दरगाह परिसर में बैठी महिलाओं और बच्चों ने सीएए के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस ने एतराज जताते हुए घर जाने को कहा लेकिन महिलाएं अड़ी रहीं। उनका कहना है कि वे लोग इसी तरह से सीएए का विरोध करती रहेंगी।

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :