सुशांत केस:-सूरज पंचोली, बोले- बेहतर होगा मैं इस मामले में कुछ ना बोलूं लंबी उम्र की ख्वाहिश होगी जल्द पूरी राजाराम के जयकारे के साथ भूमि पूजन प्रारंभ अयोध्या में मंदिर निर्माण से शेख रशीद ने कहा - भारत बन गया 'राम नगर' सुशांत सिंह राजपूत केस की CBI करेगी जांच प्रशांत भूषण को सुप्रीम कोर्ट की नसीहत भारतीय अर्थव्यवस्था का बुरा दौर बीता मुंबई की जूलरी कंपनी ने SBI को लगाया 387 करोड़ रुपए का चूना माइक्रोसॉफ्ट के लिए सदी की सबसे बड़ी डील होगी टिकटॉक देखें कैसे राम मंदिर भूमि पूजन से पहले तैयार है अयोध्या नगरी यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2019 का फाइनल रिजल्ट जारी राजस्थान सियासी संकट: क्या सच में कांग्रेस हाईकमान से बागी विधायकों ने लगाई गुहार- किसी तीसरे को बना दो CM सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की सीबीआई जांच की सिफारिश घरेलू रसोई गैस हुई महंगी आज का राशिफल भारत से बिगड़े रिश्ते का चालाकी से फायदा उठा रहा चीन गोल्ड बॉन्ड में निवेश है फायदे का सौदा जांबाज एयर फोर्स ऑफिसर के रोल में दिखीं जाह्नवी कपूर नया कानून-अब नहीं चलेगा बाइक या स्कूटर पर लोकल हेलमेट देना होगा चालान सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने पीएम नरेंद्र मोदी से लगाई मदद की गुहार

कपिल मिश्रा और भाजपा ने दिल्ली दंगों को भड़काया : कांग्रेस

दलवई ने दिल्ली दंगों के मामले में कपिल मिश्रा के खिलाफ एफआईआर के लिए याचिका पर स्टेटस रिपोर्ट मांगने पर भी खुशी जताई। उन्होंने कहा कि अदालत के इस कदम से मैं बहुत खुश हूं कि कोर्ट ने कपिल मिश्रा के बारे में स्टेटस रिपोर्ट मांगी है।

Deepak Chauhan 07-07-2020 18:04:29



इस साल फरवरी में उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई साम्प्रदायिक हिंसा (North East Delhi Violence) को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व राज्यसभा सांसद हुसैन दलवई ने कहा कि कपिल मिश्रा और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने ही दिल्ली में दंगे भड़काए थे।

मंगलवार को दलवई ने कहा कि दिल्ली दंगों को भड़काने में कपिल मिश्रा और बीजेपी की भूमिका है। माहौल बिगड़ गया और दंगे हो गए। पुलिस केवल एक पक्ष और एक वर्ग विशेष के लोगों को निशाना बना रही है। 

दिल्ली में न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए दलवई ने दिल्ली दंगों के मामले में कपिल मिश्रा के खिलाफ एफआईआर के लिए याचिका पर स्टेटस रिपोर्ट मांगने पर भी खुशी जताई। उन्होंने कहा कि अदालत के इस कदम से मैं बहुत खुश हूं कि कोर्ट ने कपिल मिश्रा के बारे में स्टेटस रिपोर्ट मांगी है। 

दिल्ली की एक अदालत ने उत्तर प्रदेश के तीन निवासियों द्वारा फरवरी के महीने में क्षेत्र में हिंसा को भड़काने में अपनी कथित भूमिका को लेकर दिल्ली और उत्तर प्रदेश के तीन निवासियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के बाद स्टेटस रिपोर्ट मांगने के लिए पुलिस को नोटिस जारी किया है।


दिल्ली दंगे में 53 लोगों की हुई थी मौत

गौरतलब है कि नागरिकता कानून के समर्थकों और विरोधियों के बीच संघर्ष के बाद 24 फरवरी को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, घोंडा, चांदबाग, शिव विहार, भजनपुरा, यमुना विहार इलाकों में सांप्रदायिक दंगे भड़क गए थे।

इस हिंसा में कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई थी और 200 से अधिक लोग घायल हो गए थे। साथ ही सरकारी और निजी संपत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचा था। उग्र भीड़ ने मकानों, दुकानों, वाहनों, एक पेट्रोल पम्प को फूंक दिया था और स्थानीय लोगों तथा पुलिस कर्मियों पर पथराव किया।

इस दौरान राजस्थान के सीकर के रहने वाले दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल की 24 फरवरी को गोकलपुरी में हुई हिंसा के दौरान गोली लगने से मौत हो गई थी और डीसीपी और एसीपी सहित कई पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल गए थे। साथ ही आईबी अफसर अंकित शर्मा की हत्या करने के बाद उनकी लाश नाले में फेंक दी गई थी।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :