सुशांत केस:-सूरज पंचोली, बोले- बेहतर होगा मैं इस मामले में कुछ ना बोलूं लंबी उम्र की ख्वाहिश होगी जल्द पूरी राजाराम के जयकारे के साथ भूमि पूजन प्रारंभ अयोध्या में मंदिर निर्माण से शेख रशीद ने कहा - भारत बन गया 'राम नगर' सुशांत सिंह राजपूत केस की CBI करेगी जांच प्रशांत भूषण को सुप्रीम कोर्ट की नसीहत भारतीय अर्थव्यवस्था का बुरा दौर बीता मुंबई की जूलरी कंपनी ने SBI को लगाया 387 करोड़ रुपए का चूना माइक्रोसॉफ्ट के लिए सदी की सबसे बड़ी डील होगी टिकटॉक देखें कैसे राम मंदिर भूमि पूजन से पहले तैयार है अयोध्या नगरी यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2019 का फाइनल रिजल्ट जारी राजस्थान सियासी संकट: क्या सच में कांग्रेस हाईकमान से बागी विधायकों ने लगाई गुहार- किसी तीसरे को बना दो CM सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की सीबीआई जांच की सिफारिश घरेलू रसोई गैस हुई महंगी आज का राशिफल भारत से बिगड़े रिश्ते का चालाकी से फायदा उठा रहा चीन गोल्ड बॉन्ड में निवेश है फायदे का सौदा जांबाज एयर फोर्स ऑफिसर के रोल में दिखीं जाह्नवी कपूर नया कानून-अब नहीं चलेगा बाइक या स्कूटर पर लोकल हेलमेट देना होगा चालान सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने पीएम नरेंद्र मोदी से लगाई मदद की गुहार

4.5 की तीव्रता से हिली दिल्ली-एनसीआर में धरती

भूकंप में झटके के बाद कई इलाकों में लोग अपने घर के बाहर निकल आए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने बताया कि गुरुग्राम-हरियाणा के दक्षिण-पश्चिम में 63 किमी की दूरी पर 4.5 रिक्टर तीव्रता का भूकंप आया है।

Deepak Chauhan 03-07-2020 19:06:53



दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार शाम को एक बार फिर से भूकंप के झटके महसूस किए गए। दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद में भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 4.5 रही। पिछले कुछ समय में दिल्ली-एनसीआर समेत देश के विभिन्न शहरों में कई बार भूकंप के झटके आ चुके हैं।

[removed]

भूकंप में झटके के बाद कई इलाकों में लोग अपने घर के बाहर निकल आए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने बताया कि गुरुग्राम-हरियाणा के दक्षिण-पश्चिम में 63 किमी की दूरी पर 4.5 रिक्टर तीव्रता का भूकंप आया है।

मिजोरम के चम्फाई में भी शुक्रवार दोपहर को भूकंप का झटका आया था। कुछ दिनों में मिजोरम में कई बार भूकंप आ चुका है।


भूकंप आए तो क्या करें

भूकंप के दौरान मकान, दफ्तर या किसी भी इमारत में अगर आप मौजूद हैं तो वहां से बाहर निकलकर खुले में आ जाएं। इसके बाद खुले मैदान की ओर भागें। भूकंप के दौरान खुले मैदान से ज्यादा सुरक्षित जगह कोई नहीं होती। भूकंप आने की स्थिति में किसी बिल्डिंग के आसपास न खड़े हों। अगर आप ऐसी बिल्डिंग में हैं, जहां लिफ्ट हो तो लिफ्ट का इस्तेमाल बिल्कुल न करें। ऐसी स्थिति में सीढ़ियों का इस्तेमाल करना ही उचित होता है।

भूकंप के दौरान घर के दरवाजे और खिड़की को खुला रखें। इसके अलावा घर की सभी बिजली स्विच को ऑफ कर दें। अगर बिल्डिंग बहुत ऊंची हो और तुरंत उतर पाना मुमकिन न हो तो बिल्डिंग में मौजूद किसी मेज, ऊंची चौकी या बेड के नीचे छिप जाएं। भूकंप के दौरान लोगों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वो पैनिक न करें और किसी भी तरह की अफवाह न फैलाएं, ऐसे में स्थिति और बुरी हो सकती है।

[removed]

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :