करिश्माई पकड़ और संगठन को जोड़ना जानते है बृजमोहन अग्रवाल चीन के सिंगापुर मे भी आया कोरोना साथ ही बड़ी कोंडोम की बिक्री कर्नाटक मुख्यमंत्री कार्यालय घेरने पहुचे कोंग्रेसी अध्यक्ष समेत हुये गिरफ्तार PM मोदी को लेकर आपत्तिजनक बयान देने के आरोप में शशि थरूर पर दिल्ली हाई कोर्ट का जुर्माना श्री राम के नारे पर भड़क अखिलेश बोले भाजपा से है जान का खतरा वेलेंटाइन डे पर प्यार का इज़हार करना पड़ा महंगा, चोर कह कर गाँव वालों ने पीटा केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह के लिए पीएम मोदी को न्योता संस्कृति विवि के 14 और छात्रों को मिली नौकरी निर्भया केस की सुनवाई के बाद बेहोश हुई SC की जज 40 जवानों के घर जाकर मिट्टी को लगाया माथे पर, उमेश जाधव ने दी पुलवामा के शहीदों को दी सबसे सच्ची श्रद्धांजलि कश्मीर में होंगे पंचायत चुनाव दिल्ली विधानसभा चुनाव : जो जनता करती है, सही करती है - प्रियंका गांधी दिल्ली चुनाव के बाद केजरीवाल की जीत पर कांग्रेस नेता शत्रुध्न सिन्हा ने उन्हे बताया सुपर लीडर संस्कृति विश्वविद्यालय में मनाया गया यूनानी दिवस हरियाणा मे क्या भाजपा गैर जाट प्रदेश अध्यक्ष के साथ नही कर सकती दो या तीन उपाध्यक्षो का प्रयोग दिल्ली विधासभा मे आप की 9 मे से 8 महिला बनी विधायक झटका : अब इस रेट पर मिलेगी गैर सब्सिडी वाली LPG, 149 रुपये तक बढ़ गए घरेलू गैस सिलेंडर CBI Vs CBI: सुप्रीम कोर्ट के जज ने अखिकारियों लगाई फटकार कहा मेन खिलाड़ी अब भी क्यों आजाद? रामलीला मैदान में अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को लेंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिल्ली चुनाव में हार पीएम मोदी की नहीं, अमित शाह की विफलता है : शिव सेना

लाहुल-स्पीति आने जाने वाले यात्रियों के लिए आफत बनती जा रही है रोहतांग की बर्फ

बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर ने स्वयं रात तक मोर्चा संभाला और जवानों की बदौलत रोहतांग दर्रे को फतह किया। लाहुल घाटी के समस्त लोगों व प्रदेश सरकार ने बीआरओ का आभार जताया है। बीआरओ ने रोहतांग दर्रे को बहाल तो कर लिया है, लेकिन जोखिम अभी बरकरार है।

Deepak Chauhan 12-11-2019 23:40:06



जीत सूद/मनाली

हालांकि पिछले सात दिनों से बर्फबारी के कारण यातायात के लिये बंद हुआ रोहतांग दर्रा मंगलवार को वाहनों के लिए बहाल तो हो गया। लेकिन दोपहर बाद बर्फीला तूफान चलने से लोगों की जान आफत में आ गई। रोहतांग दर्रे पर तूफान चलने के बाद दोनों छोर से वाहन पीछे लौट गये हैं। उल्लेखनीय है कि रोहतांग दर्रे में अढ़ाई फीट से अधिक बर्फबारी हुई है। दर्रे में राहनीनाला से राक्षी ढांक तक भारी बर्फबारी हुई है। हालांकि प्रशासन की पहल से बीआरओ ने रोहतांग सुरंग से दो दिन में एक हजार से अधिक लोग रेस्क्यू कर लिए थे। लेकिन अभी भी रोहतांग के दोनों ओर हजारों लोग अपने गंतव्य तक पहुंचने के इंतजार में हैं। जबकि सोमवार को बीआरओ ने रोहतांग को यातायात के लिये बहाल करने के लिये अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। माइनस डिग्री में रात 11 बजे तक काम करते हुए जवानों ने लाहुल घाटी को कुल्लू से जोड़ दिया। बीआरओ ने तीन दिन कड़ी मशक्कत के बाद बर्फ से दबे रोहतांग दर्रे को बहाल किया है।

बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर ने स्वयं रात तक मोर्चा संभाला और जवानों की बदौलत रोहतांग दर्रे को फतह किया। लाहुल घाटी के समस्त लोगों व प्रदेश सरकार ने बीआरओ का आभार जताया है। बीआरओ ने रोहतांग दर्रे को बहाल तो कर लिया है, लेकिन जोखिम अभी बरकरार है। मढ़ी से लेकर कोकसर तक करीब 40 किलोमीटर सफर हल्की सी गलती पर जानलेवा हो सकता है।सड़क में पानी व बर्फ शीशे की तरह जम रहा है। प्रशासन द्वारा फोर वाई फोर वाहनों में ही दर्रा पार करने की सलाह दी गई है। मनाली के एसडीएम रमन घरसंगी ने लोगों से आग्रह किया कि वह खिली धूप में ही सुबह 11 बजे से शाम 3 बजे के बीच दर्रा पार करें। उन्होंने यह भी सलाह दी है कि अकेले रोहतांग दर्रा पार करने के बजाय काफिले में सफर करें। ताकि किसी भी प्रकार की अनहोनी से बचा जा सके।


बर्फबारी, किसी के लिए आफत और किसी के लिए मस्ती 


हाल ही में रोहतांग दर्रे सहित कुल्लू मनाली की चोटियों में ताजा हिमपात होने से जहां मौसम खुशनुमा बना है वही विश्व प्रसिद्ध पर्यटक नगरी मनाली में ताजा बर्फबारी को देखने के लिए देश-विदेश से पर्यटकों की होड़ लगी है ।मनाली के गुलाबा में बने स्नो पॉइंट में देश के विभिन्न विभिन्न राज्यों से आए पर्यटक बर्फबारी के बीच खूब मस्ती कर रहे हैं और प्रकृति का नजारा ले रहे हैं । पर्यटकों में नव विवाहित जोड़ें , स्कूल कॉलेज के लड़के लड़कियां और  परिवार सहित मनाली घूमने आए पर्यटक बर्फ में खूब अठखेलियां कर रहे हैं ।ऐसे में गुजरात से आए युवा पर्यटक सोहन  व रमन ने बताया कि जैसे ही उन्होंने मनाली में बर्फबारी होने का समाचार मिला तो वह अपने कदम हिमाचल की तरफ आने से नहीं रोक पाए और सीधे ही कुल्लू मनाली  पहुंचे। उन्होंने कहा कि हम चार दोस्त  यहां घूमने आए हैं और गुलाबा में बर्फ के बीच में खूब मस्ती की ।उन्होंने कहा कि यह हमारी जिंदगी का एक यादगार  टूर रहा है।  रोहतांग दर्रे में हिमपात होने के कारण  लाहौल जाने वाले यात्रियों के लिए आफत बनी हुई है। मंगलवार को बीआरओ ने बड़ी मशक्कत के साथ रोहतांग दर्रा यातायात के लिए बहाल तो किया लेकिन मौसम का एकाएक खराब होना और रोहतांग में बर्फीला तूफान चलने के कारण लाहौल आने जाने वाली सभी गाड़ियां गुलाबा से पुलिस ने बापिस करवा दी।जिस कारण  जनजातीय जिला लाहौल स्पीति की ओर जाने वाले लगभग 100 से अधिक लाहौल वासी गुलाबा से मायूस हो के वापिस मनाली पुहंचे। ऐसे में ना तो कोकसर से मनाली की ओर गाड़ी आई न ही मनाली  की तरफ।
 

लोकल न्यूज़ ऑफ इंडिया की टीम पहुंची स्नो पॉइंट गुलाबा


बर्फबारी के बीच की एक घन्टा की खूब मस्ती


बर्फबारी को देखने के लिए जहां पूरा विश्व मनाली पहुंच रहा है वही लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया के प्रधान संपादक विजय शुक्ला सहित एनएसपीआर के राष्ट्रीय अध्यक्ष आमिर अल्वी भी प्रकृति का नजारा देखने के लिए  मनाली के स्नो प्वाइंट गुलाबा पहुंचे। उन्होंने इस मौके पर अपनी टीम के साथ बर्फ के बीच खूब मस्ती की। वही बर्फबारी का आनंद ले रहे पर्यटकों की तस्वीरें भी अपने कैमरे में कैद की ।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :