पंजाब के तीन जिलों में जहरीली शराब पीने से 30 लोगों की मौत

हरियाणा में बिल के खिलाफ सड़कों पर उतरे किसानों ने लगाया जाम भारत ने चीनी सीमा पर 6 नई पहाड़ियों पर किया कब्जा बिल आने से किसानों की इनकम होगी डबल या हो जाएंगे बर्बाद बिल से नाराज विपक्ष उपसभापति के खिलाफ लाया अविश्वास प्रस्ताव कृषि बिल के विरोध में संसद परिसर में धरने पर बैठी विपक्ष IPL 2020: दिल्ली और पंजाब में आज होगी कांटे की टक्कर विपक्ष के विरोध-हंगामे के बीच नारेबाजी से किसान बिल पास किसानों को पूंजीपतियों का ‘गुलाम' बना रही सरकार- राहुल गांधी कृषि बिल पर राज्यसभा में पक्ष-विपक्ष आमने सामने विपक्षी इसको हरायें, यही किसान चाहता है- केजरीवाल क्या अफवाह पर ही एक मंत्री ने दे दिया इस्तीफा- संजय राउत राज्यसभा में किसान बिल के पास होने का ये है गणित दुनिया भर में अब तक इतने करोड़ लोग हो चुके है संक्रमित कृषि बिल पर चर्चा के दौरान राज्यसभा में हंगामा बिहार में AIMIM और समाजवादी जनता दल डेमोक्रेटिक के बीच गठबंधन तय: असदुद्दीन ओवैसी 4,130 रुपये सस्ता हुआ सोना,चांदी में आई 10,379 रुपये की गिरावट क्या कोरोना के चलते अभी भी अस्पतालों में ऐसा हो रहा है राज्यसभा में कल पेश होगा कृषि सुधार विधेयक ड्रग्स को लेकर बोले अनुराग कश्यप बिहार में मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण है डायरिया

पंजाब के तीन जिलों में जहरीली शराब पीने से 30 लोगों की मौत

Gauri Manjeet Singh 31-07-2020 19:07:47

तरनतारन/ अमृतसर/बटाला, जेएनएन। पंजाब के कई जिलों में जहरीली शराब पीने से 30 लोगों की मौत हो गई। मरने वाले तरनतारन, अमृतसर और बटाला क्षेत्र के हैं। इससे पहले पांच लोगों की मौत हो गई थी। आज 25 और लोगों ने दम तोड़ दिया। इससे हड़कंप मच गया है। मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने पूरी मामले की जांच के आदेश दिए हैं। वीरवार को मारे गए पांच  लोगों के परिजनों ने इस संबंध में पुलिस को बिना सूचना दिए शवों का अंतिम संस्‍कार कर दिया।

य‍े मौतें वीरवार से लेकर अब तक जहरीली शराब पीने से 30 लोगों की मौत हो गई है। तरनतारन में 15,  अमृतसर में आज दो और बटाला में दो लोगों की मौत हुई है।  दो दिन में अमृतसर में नौ और बटाला के छह लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अमृतसर, बटाला और तरनतारन में शराब पीने से हुई मौतों के मामले में जालंधर के डिविजनल कमिश्नर को न्यायिक जांच करने के आदेश दिए हैं। इस जांच में ज्वाइंट एक्सरसाइज एंड टैक्सेशन कमिश्नर और संबंधित जिलों के पुलिस अधीक्षक भी शामिल होंगे।

उधर, पंजाब पुलिस के डीजीपी दिनकर गुप्ता द्वारा जारी किए गए प्रेस बयान में कहा गया है कि मौत के पहले पांच मामले अमृतसर ग्रामीण क्षेत्र मैं मुच्छल और टांगरा गांव में सामने आए थे। इस मामले में मृतकों में गांव मुच्छल के मंगल सिंह, बलविंदर सिंह, दलबीर सिंह, गुरप्रीत सिंह, कश्मीर सिंह ,काका सिंह ,कृपाल सिंह ,जसवंत सिंह , जोगा सिंह के अलावा कांगड़ा गांव के बलदेव सिंह शामिल हैं। बटाला शहर में बूटा राम, भिंडा , रिंकू सिंह, काला, कालू , बिल्ला और जितेंद्र की मौत हुई है।

इन लोगों की मौत देसी ढंग से घरों में तैयार की गई अवैध शराब पीकर हुई है। मारे गए लोगों में गांव नौरंगाबाद निवासी धर्म सिंह, साहिब सिंह, तेजा सिंह, हरबंस सिंह, सुखदेव सिंह, गांव मल्लमोहरी निवासी मिट्ठू सिंह, नाजर सिंह (पिता-पुत्र), जोधपुर निवासी मिट्ठू सिंह, भुल्लर निवासी प्रकाश सिंह, गांव बचड़े गुरमेल सिंह के अलावा तरनतारन निवासी रंजीत सिंह, हरजीत सिंह, हरजीत सिंह हीरा, भाग मल्ल सिंह, अमरीक सिंह शामिल है। डीसी कुलवंत सिंह धूरी का कहना है कि मामले की जांच के आदेश दिए गए है।

गांव मुच्छल के करीब तीस घरों में अवैध शराब का धंधा करते हैं लोग

जानकारी के अनुसार, गांव मुच्छल में वीरवार को जहरीली शराब पीने से पांच लोगों की मौत के बाद शुक्रवार को आसपास के गांव के 16 और लोगों ने दम तोड़ दिया। वीरवार को मरे लोगों की पहचान दलबीर सिंह, बलविंदर सिंह, गुरप्रीत सिंह, मंगल सिंह व बलदेव सिंह के रूप में हुई थी। इन पीडि़त परिवारों ने पुलिस को सूचित किए बिना ही शवों का अंतिम संस्कार कर दिया। साथ ही आरोप लगाया कि गांव के कई घरों में देसी शराब निकालकर बेची जाती है।

सब इंस्पेक्टर अनूप सिंह ने बताया कि पुलिस पीडि़तों के बयान ले रही है। मुच्छल गांव निवासी जागीर कौर ने बताया कि उसका बेटा गुरप्रीत सिंह पिछले तीन साल से शराब पी रहा था। मंगलवार को उसने काफी शराब पी। देर रात उसकी तबीयत बिगड़ गई। बुधवार को उसने दम तोड़ दिया।

वहीं मंगल सिंह, दलबीर सिंह, बलदेव सिंह और बलविंदर सिंह के स्वजनों ने बताया कि चारों ने मंगलवार को गांव में ही शराब पी थी। सभी की मौत बुधवार को हुई। पीडि़त परिवारों ने आरोप लगाया कि गांव में अवैध शराब का धंधा पुलिस की मिलीभगत से चल रहा है। यहां 30 से अधिक घर अवैध शराब का कारोबार कर रहे हैं। सस्ती शराब के चक्कर में युवाओं की जिंदगी से खेला जा रहा है। एसएसपी विक्रमजीत दुग्गल ने कहा कि मामले की पूरी जांच करवाई जाएगी।

तरनतारन में भी अवैध शराब पीने से हुई थी तीन लोगों की मौत

तरनतारन के गांव रटौल में गत दिवस अवैध देसी शराब पीने से तीन लोगों की मौत हो गई। एक व्यक्ति की आंखों की रोशनी चली गई थी। यहां भी पीडि़त परिवारों ने भी पुलिस को सूचित किए बिना ही शवों का अंतिम संस्कार कर दिया था।

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :