दिल्ली सरकार का एलान मौसम साफ अब ऑड -इवन की जरूरत नहीं रहमनुल्लाह की तूफानी पारी के साथ अफगानिस्तान ने वेस्टइंडीज को हराया बंगलादेश में 9 गुना महंगी हुई प्याज,दूसरे देशो से आयात करने की पड़ी जरुरत। फीफा वर्ल्ड कप क्वालीफायर में भारत का एक और ड्रा झड़ते बालों की समस्या, रोकने में मदद करेंगे ये आसान टिप्स बोनी फाई को-एड सी सेकेंडरी विद्यालय का वार्षिक खेल दिवस 2019 अगर आपकी भी होना चाहती है पतली तो बस इन आसान तरीको से करें डाइटिंग सरकार का ठेके कर्मचारियों के लिए बड़ा फैसला अधिकारियों-कर्मचारियों,और बच्चों समेत सभी ने नशे को खत्म करने की ली शपथ क्या कॉमनट्री बॉक्स तक ही सीमित है गौतम गंभीर की प्रदूषण को लेकर गंभीरता पति 1 पत्नियां 39, कितना बड़ा होगा परिवार क्या आप जानते है दुनिया का सबसे लम्बा इंसान 2 फीट 0.6 इंच वाली महिला की कहानी महिला T-20 जेमिमह ने दिखाया कमाल जोरदार भूकंप के बाद इंडोनेशिया में अब सुनामी का खतरा क्या दिल्ली है रेप का केपिटल ? आंध्र प्रदेश के कुरनूल में 6 साल के बच्चे कि सांभर की कड़ाही में गिरने से मौत राजनाथ पहुंचे अरुणाचल के बुमला पोस्ट पर बोले भारत और चीन सीमा पर तनाव नहीं नोएडा: पार्क में लड़की के साथ हुआ गैंगरेप, चार आरोपी गिरफ्तार, दो हुए फरार कटरीना कैफ-विक्की कौशल सामने आये दोनों के अफेयर के चर्चे

दुनिया का सबसे सुखी मुसलमान भारत में ही मलेगा : मोहन भागवत

मोहन भागवत ने किसी के प्रति कोई घृणा न होने पर जोर देते हुए कहा कि संघ का उद्देश्य भारत में परिवर्तन तथा उसे बेहतर भविष्य की ओर ले जाने के वास्ते देश में पूरे समाज को संगठित करना है, न कि केवल हिंदू समुदाय को। उन्होंने कहा कि मारे-मारे यहूदी फिरते थे। उनक

Deepak Chauhan 13-10-2019 12:37:42



 आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने किसी के प्रति कोई घृणा न होने पर जोर देते हुए कहा कि संघ का उद्देश्य भारत में परिवर्तन तथा उसे बेहतर भविष्य की ओर ले जाने के वास्ते देश में पूरे समाज को संगठित करना है, न कि केवल हिंदू समुदाय को। उन्होंने कहा कि मारे-मारे यहूदी फिरते थे। उनको भारत में आश्रय मिला। पारसियों की पूजा और मूल धर्म केवल भारत में सुरक्षित है। विश्व में सर्वाधिक सुखी मुसलमान भारत में मिलेगा। ये क्यों है? क्योंकि हम हिंदू हैं।

आरएसएस की शीर्ष निर्णय निर्धारण संस्था अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के मद्देनजर भुवनेश्वर बुद्धिजीवियों की सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि समाज को एकजुट करना आवश्यक है और सभी वर्गों को एक साथ आगे बढ़ना चाहिए तथा आरएसएस इस दिशा में काम कर रही है।

RSS चीफ मोहन भागवत बोले- विश्व में सबसे ज्यादा सुखी मुसलमान भारत में मिलेगा

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने किसी के प्रति कोई घृणा न होने पर जोर देते हुए कहा कि संघ का उद्देश्य भारत में परिवर्तन तथा उसे बेहतर भविष्य की ओर ले जाने के वास्ते देश में पूरे समाज को संगठित करना है

उन्होंने कहा, ''हमारी किसी के प्रति कोई घृणा नहीं है। एक बेहतर समाज बनाने के लिए हमें एक साथ आगे बढ़ना चाहिए जो देश में बदलाव ला सकें और उसे विकास में मदद दे सकें। ओडिशा के नौ दिन के दौरे पर आए भागवत ने कहा, ''यह हमारी इच्छा है कि आरएसएस ठप्पा हट जाए और आरएसएस तथा समाज एक समूह के तौर पर काम करें। चलिए सारा श्रेय समाज को दें। भारत की विविधता की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि पूरा देश एक सूत्र से बंधा है।


उन्होंने कहा

''भारत के लोग विविध संस्कृति, भाषाओं, भौगोलिक स्थानों के बावजूद खुद को एक मानते हैं।

भागवत ने कहा कि एकता के इस अनूठे अहसास के कारण मुस्लिम, पारसी और अन्य जैसे धर्मों से संबंधित लोग देश में सुरक्षित महसूस करते हैं। उन्होंने कहा, ''पारसी भारत में काफी सुरक्षित हैं और मुस्लिम भी खुश हैं।

समाज में बदलाव लाने की दिशा में उन्होंने कहा कि सही तरीका यह है कि ऐसे उत्कृष्ट इंसान तैयार किये जाए जो समाज को बदलने तथा देश की कायापलट करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सके क्योंकि 130 करोड़ लोगों को एकसाथ बदलना मुमकिन नहीं होगा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख ने कहा कि समाज में बदलाव लाना जरूरी है ताकि देश की किस्मत बदले और इसके लिए उत्कृष्ट इंसान तैयार करना आवश्यक है, ऐसा इंसान जिसका साफ-सुथरा चरित्र हो और जो प्रत्येक सड़क तथा शहर में नेतृत्व करने में सक्षम हो।

भागवत ओडिशा के नौ दिन के दौरे के लिए शनिवार को यहां पहुंचे। सूत्रों ने बताया कि इस दौरान वह अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की पहली बैठक में शिरकत करेंगे। इस दौरान उनके साथ भैयाजी जोशी भी होंगे।  उन्होंने बताया कि आरएसएस कार्यकारिणी समिति की बैठक यहां एक निजी विश्वविद्यालय में 16 से 18 अक्टूबर तक होगी। सूत्रों ने बताया कि भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा आरएसएस की बैठक में शामिल हो सकते हैं। उनका अगले सप्ताह ओडिशा का चार दिवसीय दौरा करने का कार्यक्रम है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :