वाराणसी के रिक्शा चालक मंगल खेवट से भेंट कर उनकी बेटी की शादी का लिया न्यौता पाकिस्तान को लगा एक और बड़ा झटका, 'ग्रे लिस्ट' में बने रहने देने की सिफारिश करिश्माई पकड़ और संगठन को जोड़ना जानते है बृजमोहन अग्रवाल चीन के सिंगापुर मे भी आया कोरोना साथ ही बड़ी कोंडोम की बिक्री कर्नाटक मुख्यमंत्री कार्यालय घेरने पहुचे कोंग्रेसी अध्यक्ष समेत हुये गिरफ्तार PM मोदी को लेकर आपत्तिजनक बयान देने के आरोप में शशि थरूर पर दिल्ली हाई कोर्ट का जुर्माना श्री राम के नारे पर भड़क अखिलेश बोले भाजपा से है जान का खतरा वेलेंटाइन डे पर प्यार का इज़हार करना पड़ा महंगा, चोर कह कर गाँव वालों ने पीटा केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह के लिए पीएम मोदी को न्योता संस्कृति विवि के 14 और छात्रों को मिली नौकरी निर्भया केस की सुनवाई के बाद बेहोश हुई SC की जज 40 जवानों के घर जाकर मिट्टी को लगाया माथे पर, उमेश जाधव ने दी पुलवामा के शहीदों को दी सबसे सच्ची श्रद्धांजलि कश्मीर में होंगे पंचायत चुनाव दिल्ली विधानसभा चुनाव : जो जनता करती है, सही करती है - प्रियंका गांधी दिल्ली चुनाव के बाद केजरीवाल की जीत पर कांग्रेस नेता शत्रुध्न सिन्हा ने उन्हे बताया सुपर लीडर संस्कृति विश्वविद्यालय में मनाया गया यूनानी दिवस हरियाणा मे क्या भाजपा गैर जाट प्रदेश अध्यक्ष के साथ नही कर सकती दो या तीन उपाध्यक्षो का प्रयोग दिल्ली विधासभा मे आप की 9 मे से 8 महिला बनी विधायक झटका : अब इस रेट पर मिलेगी गैर सब्सिडी वाली LPG, 149 रुपये तक बढ़ गए घरेलू गैस सिलेंडर CBI Vs CBI: सुप्रीम कोर्ट के जज ने अखिकारियों लगाई फटकार कहा मेन खिलाड़ी अब भी क्यों आजाद?

NRC/CAA : जूही चावला के सियासी बोल कहा, पहले खुद समझे फिर बोले

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हुई हिंसा के बाद जेएनयू जाने के लिए बॉलीवुड स्टार दीपिका पादुकोण को सोशल मीडिया में 'बायकॉट' का भी सामना करना पड़ा, लेकिन बॉलीवुड हस्तियों समेत कई लोगों ने उनकी काफी प्रशंसा भी की।

Deepak Chauhan 09-01-2020 16:25:41



नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर अभिनेत्री जूही चावला ने बुधवार को कहा कि सरकार की लगातार आलोचना करने के बजाए, किसी को अपने आचरण पर विचार करना चाहिए और विभाजन के बजाए एकजुट होने की बात करनी चाहिए। आपको बता दें कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हुई हिंसा के बाद जेएनयू जाने के लिए बॉलीवुड स्टार दीपिका पादुकोण को सोशल मीडिया में 'बायकॉट' का भी सामना करना पड़ा, लेकिन बॉलीवुड हस्तियों समेत कई लोगों ने उनकी काफी प्रशंसा भी की। 

जूही ने मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि हम पहले रुक कर समझ लें कि बात क्या है, क्यों है, किस लिए बनाई गई है और क्या हो रहा है। हम पहले समझे और फिर मुंह खोलें। कोई भी चीज तोड़ने में बहुत वक्त नहीं लगता है। उठकर बस को तोड़ दिया और घुस किसी का सिर फोड़ दिया लेकिन कुछ जोड़ने बहुत वक्त लगता है। 

उन्होंने कहा कि हम काम करने जा रहे हैं, यह सोचकर कि अपने काम को कैसे अंजाम दिया जाए, तब कहीं कोई घटना घटती है और अचानक मीडिया हमसे पूछती है, आप इस बारे में क्या सोचते हैं? हम इस मामले को नहीं समझ पाते हैं, लोगों को बात समझ में नहीं आई है लेकिन आपको एक प्रतिक्रिया की आवश्यकता है।

जूही ने पत्रकारों से कहा कि लोग इसे समझते हैं, चाहे वह एनआरसी हो या सीएए, क्यों इस बारे में बात की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह दुख की बात है कि लोग एकता से ज्यादा विभाजन की बात करते हैं।

उन्होंने कहा कि हर कोई फूट डालने की बात करता है। हम एकजुट होने की बात क्यों नहीं करते? हर कोई क्यों कहता है सरकार क्या कर रही है, वह ऐसा क्यों कर रही है? लेकिन मैं कहती हूं कि अगर आप एक उंगली उठाते हैं तो तीन उंगलियां आप पर होती हैं। हम क्या कर रहे हैं? चलो शांत हो जाओ, स्थिति को समझो।


जेएनयू छात्रों के साथ खड़े रहने पर दीपिका सोशल मीडिया पर हुई थी ट्रोल

आपको बता दें कि जेएनयू हिंसा मामले में दीपिका के कैंपस में पीड़ित छात्रों से मुलाकात के बाद से ट्विटर पर हैशटैग 'बॉयकॉट छपाक' के जवाब में हैशटैग 'आई सपोर्ट दीपिका' और 'छपाक देखो तपाक से' ट्रेंड करने लगा। दरअसल, दीपिका हमले का शिकार हुए छात्रों के साथ एकजुटता प्रकट करने के लिये मंगलवार शाम अचानक जेएनयू पहुंच गई थी जहां एक सभा में उनके छात्रसंघ अध्यक्ष आईशी घोष के साथ खामोश खड़े रहने को फिल्म जगत और उससे बाहर लोगों की प्रशंसा मिली। वहीं दूसरी और एक वर्ग ने शुक्रवार को रिलीज हो रही उनकी फिल्म छपाक के बहिष्कार का आह्वान किया।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :