सचिन पायलट के फेसबुक पोस्ट पर फिर दिखाई दिया कांग्रेस का 'हाथ'

देश की बड़ी आबादी पर अभी भी कोरोना से संक्रमित होने का खतरा जंगलराज ने एक और युवती को मार डाला- राहुल हाथरस गैंगरेप: सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता के पिता-भाई धरने पर बैठे Bihar Election: हर घर बिजली शौचालय पहुंचाने का दावा कितना सच? क्या 1 अक्तूबर से पडेगा आपकी जेब पर असर Bihar Election 2020: LJP ने बढ़ाई NDA में रार, अब BJP से भी नहीं बन रही बात ऑनलाइन धोखाधड़ी को देखते हुए Flipkart ने दी डिजिटल सुरक्षा बिहार की वाल्मीकिनगर लोकसभा सीट पर 3 नवंबर को उपचुनाव के लिए वोटिंग अक्तूबर से अप्रैल तक इन नौ दिनों में ही शादी के शुभ योग सीट बंटवारे पर घमासान के बीच जेपी नड्डा से मिले चिराग पासवान लॉकडाउन के चलते भी रहे मुकेश अंबानी मालामाल IPL: आज जीत की हैट्रिक लगा पाएगी दिल्ली? महबूबा मुफ्ती की हिरासत पर SC ने प्रशासन से मांगा जवाब Bihar Election 2020: क्या गलत कर रहे हैं चिराग पासवान? 56 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की घोषणा, इन 7 सीट पर नहीं होगा चुनाव Bihar Election: अब सुलझ जाएगी महागठबंधन की गांठ, घोषणा इसी सप्‍ताह रिया चक्रवर्ती और भाई शोविक की जमानत याचिका पर सुनवाई जारी बालिका वधू जैसे हिट शो देने वाले इन दिनों लगा रहे है ठेला हाथरस गैंगरेप की पीड़िता ने 15 दिन बाद तोड़ा दम किसानों से जुड़े नए कानूनों पर विपक्ष के विरोध पर बोले मोदी

सचिन पायलट के फेसबुक पोस्ट पर फिर दिखाई दिया कांग्रेस का 'हाथ'

Gauri Manjeet Singh 27-07-2020 16:04:10

राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच वर्चस्व की लड़ाई बीते दिनों सामने आ गई। इससे बीजेपी को लगने लगा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की तरह, वह कांग्रेस के एक और बड़े नेता को अपने पाले में करने में कामयाब हो गई है। लेकिन, पायलट के हालिया फेसबुक पोस्ट्स से बीजेपी की उम्मीदों पर पानी फिरता दिखाई दे रहा है। हालांकि, पायलट कुछ समय पहले भी बीजेपी में जाने की अटकलों को सिरे से खारिज कर चुके हैं।


सचिन पायलट ने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म फेसबुक पर कुछ पोस्ट्स की हैं, जिसमें कांग्रेस पार्टी का हाथ का चिह्न वापस लौट आया है। उन्होंने एक के बाद एक कई पोस्ट्स कीं। राजस्थान का विवाद शुरू होने के कुछ समय बाद उनके फेसबुक पोस्ट्स से पार्टी का हाथ का चिह्न गायब हो गया था। इसके बाद से उनके बीजेपी में जाने या फिर कोई और विकल्प चुनने की अटकलें तेज हो गई थीं।


पूर्व उप-मुख्यमंत्री पायलट ने फेसबुक पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के स्थापना दिवस की शुभकामनाएं दीं, जिसमें हाथ का चिह्न दिखाई दिया। उन्होंने पोस्ट में लिखा, 'सेवा और निष्ठा के पर्याय एवं राष्ट्र की सुरक्षा और जनता की रक्षा के लिए सदैव निःस्वार्थ भाव से समर्पित केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के समस्त जवानों एवं देशवासियों को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के स्थापना दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।' इसके अलावा, उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि पर भी फेसबुक पर पोस्ट लिखा है। इन दोनों पोस्ट में नीचे के भाग में कांग्रेस पार्टी का चिह्न 'हाथ' मौजूद है। वहीं, दूसरी ओर सचिन पायलट के सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स के बारे में जानकारी दी गई है।




कांग्रेस नेता के बीजेपी में जाने की अटकलों को उन पोस्ट्स से भी बल मिला था, जिसमें उन्होंने कांग्रेस का 'हाथ' का निशान हटा दिया था। उन्होंने पिछले दिनों कारगिल विजय दिवस और नाग पंचमी को लेकर जो फेसबुक पोस्ट किए थे, उसमें पार्टी सिंबल मौजूद नहीं था। 


कारगिल विजय दिवस पर सचिन ने लिखा था, 'कारगिल विजय दिवस के अवसर पर 1999 के कारगिल युद्ध में अपने अदम्य साहस, अद्भुत पराक्रम एवं शौर्य से दुश्मनों को पराजित कर देश को गौरवान्वित करने वाले माँ भारती के वीर सपूतों को सादर नमन। हमारे देश के वीर जवान हमारा गौरव हैं।' हालांकि, पायलट पहले ही बीजेपी में शामिल होने की अटकलों को खारिज कर चुके हैं।




बीजेपी में जाने की अटकलों को किया था खारिज


राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ना तो बीजेपी जॉइन करने जा रहे हैं और ना ही विपक्षी पार्टी के साथ उनकी कोई बैठक होने जा रही है। राजस्थान कांग्रेस में भूचाल के बीच सचिन पायलट के एक करीबी सहयोगी ने 'हिन्दुस्तान टाइम्स' से बातचीत में 13 जुलाई को यह दावा किया था। को यह दावा किया। वहीं, इसके दो दिन बाद खुद पायलट ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा था, 'मैं बीजेपी में नहीं शामिल हो रहा हूं। जो ऐसा (बीजेपी में शामिल होने की बात) कह कर रहे हैं वह असल में मुझे गांधी (गांधी परिवार) के नजरों में गिराना चाहते हैं।' उन्होंने इस बात को भी खारिज किया था कि बीजेपी के साथ मिलकर कांग्रेस के खिलाफ षड्यंत्र रच रहे हैं।

  • |

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :