दिल्ली में मिल रहे सरकारी ई पास के फर्जी मामले क्या कोरोना को पता है उसे फ्लाइट में संक्रमण नहीं फैलाना? : SC अमेरिका ने 33 चाइनीज कंपनियों और संस्थाओं को ट्रेड ब्लैकलिस्ट कोरोना राहत : दिल्ली के आधे से ज्यादा कोरोना रेड जोन बने ओरेंग जोन प्रवासी मजदूरों के लिए गृह मंत्रालय का आदेश अगले 10 दिनों के लिए 2600 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें दिल्ली-एनसीआर में पड़ रही भीषण गर्मी अभी तक 45 लाख श्रमिकों को घरों तक पहुंचाया गया उनके घर : रेलवे बोर्ड संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगी आदित्यनाथ का जन्मदिन बड़ी धूमधाम से बनाएगा विश्व हिंदू महासंघ संगठन-पारस जैन राहुल की विडियो पर मायावती का तंज़ , कहा- मजदूरों की दुर्दशा के लिए कांग्रेस कसूरवार दिल्ली मे तेजी से बड़ रही कोरोना की गति, आंकड़ा 13 हजार के पास सरकार की योजनाओं का हर प्लेटफार्म से होगा प्रचार: नवीन गोयल 25 मई से शुरू होने जा रहे विमान सेवाओं को लेकर सबसे बड़ा सवाल स्वयंभू धर्मगुरु दाती महाराज एक बार फिर सुर्खियों, लॉकडाउन मे करी शनि मंदिर मे पूजा गोवा हुआ कोरोना फ्री राज्य : राज्यपाल सत्यपाल मलिक यूपी के अमरोहा से ताल्लुकात रखता है कराची विमान हादसे मे बचा एक शख्स महाराष्ट्र को कोरोना राहत, मृत्यु दर 4.76% से गिरकर हुई 3.49% PPE किट पहनकर बाल काट रहे सूरत के यूनिसेक्स सैलून बार्बर महाचक्रवात अम्फान की वजह से पश्चिम बंगाल को दोहरा झटका भारत में कोरोना वायरस के मामलों में रिकॉर्ड तोड़ उछाल चीन की कोविड-19 वैक्सीन? चीन ने शुरू किया कोरोना वैक्सीन का पहला ट्रायल

देसी घी दान देने के लिए उमड़ रहे है श्रद्धालु, मक्खन बनाने में जुटे है युवा पुजारी

अभी भी मंदिर के पास 15 क्विंटल देसी घी दान के रूप में पहुंच चुका हुआ है। शुक्रवार सायं तक ही मंदिर प्रशासन के पास लगभग लगभग 30 क्विंटल देसी घी में से 15 क्विंटल मक्खन का रूप दे दिया गया है।

Anupaul 11-01-2020 16:48:55



कांगड़ा, 7 जनवरी,(ग्रोवर) :;मकर संक्राति के दिन होने वाले घृत पर्व के आयोजन के लिए शक्ति पीठ माता श्री बज्रेश्वरी देवी मंदिर में शुक्रवार 15 क्विंटल मक्खन तैयार कर लिया गया है। घृत पर्व के आयोजन के लिए इस बार भी भारी संख्या में श्रद्धालुओं द्वारा देसी घी दान में देने के लिए पहुंच रहे है और अभी भी मंदिर के पास 15 क्विंटल देसी घी दान के रूप में पहुंच चुका हुआ है। शुक्रवार सायं तक ही मंदिर प्रशासन के पास लगभग लगभग 30 क्विंटल देसी घी में से 15 क्विंटल मक्खन का रूप दे दिया गया है।

घृत पर्व के आयोजन को अभी चार दिन शेष है और ऐसे में भारी संख्या में श्रद्धालुओं द्वारा देसी घी दान के रूप में मंदिर में पहुंच रहा है। पिछल्ली वर्ष की भांति इस वर्ष भी घृत पर्व के आयोजन के चार दिन पहले ही ही 15 क्विंटल मक्खन मंदिर के पुजारियों द्वारा तैयार कर लिया गया है। मंदिर के पुजारियों ने इस भी संभावना जताई है कि इस बार तीस क्विंटल से ज्यादा मक्खन तैयार हो सकता है। देसी घी बनाने में जुटे मंदिर के पुजारी पंडित निशांत शर्मा ने बताया कि मक्खन बनाने की प्रक्रि या 4 जनवरी को शुरू हो गई थी और 10 जनवरी तक 15 क्विंटल से ज्यादा देसी घी से मक्खन को तैयार कर लिया गया है।

उन्होने बताया कि मक्खन बनाने का कार्य सुबह चार बजे ही शरू करना पड़ रहा है क्योकि देसी घी से मक्खन बनाने की वीधि में वक्त लगता है। उन्होने दानी श्रद्धालुओं से अपील की है जिन्होने देसी घी अभी दान में देना है तो 12 जनवरी तक मंदिर कार्यलय में जमा करवा दे जिससे देसी घी से मक्खन बनाया जा सके। उन्होने 13 व 14 जनवरी को आने वाले देसी का प्रयोग मक्खन बनाने के काम नही आएगा।
फोटो कैप्शन: 10 केजीआर 1,2: मंदिर परिसर के एक कमरे में लगे हुये मक्खन के ढेर व देसी घी से मक्खन बनाने में जुटे हुये मंदिर के पुजारी 


Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :