सुशांत केस:-सूरज पंचोली, बोले- बेहतर होगा मैं इस मामले में कुछ ना बोलूं लंबी उम्र की ख्वाहिश होगी जल्द पूरी राजाराम के जयकारे के साथ भूमि पूजन प्रारंभ अयोध्या में मंदिर निर्माण से शेख रशीद ने कहा - भारत बन गया 'राम नगर' सुशांत सिंह राजपूत केस की CBI करेगी जांच प्रशांत भूषण को सुप्रीम कोर्ट की नसीहत भारतीय अर्थव्यवस्था का बुरा दौर बीता मुंबई की जूलरी कंपनी ने SBI को लगाया 387 करोड़ रुपए का चूना माइक्रोसॉफ्ट के लिए सदी की सबसे बड़ी डील होगी टिकटॉक देखें कैसे राम मंदिर भूमि पूजन से पहले तैयार है अयोध्या नगरी यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2019 का फाइनल रिजल्ट जारी राजस्थान सियासी संकट: क्या सच में कांग्रेस हाईकमान से बागी विधायकों ने लगाई गुहार- किसी तीसरे को बना दो CM सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की सीबीआई जांच की सिफारिश घरेलू रसोई गैस हुई महंगी आज का राशिफल भारत से बिगड़े रिश्ते का चालाकी से फायदा उठा रहा चीन गोल्ड बॉन्ड में निवेश है फायदे का सौदा जांबाज एयर फोर्स ऑफिसर के रोल में दिखीं जाह्नवी कपूर नया कानून-अब नहीं चलेगा बाइक या स्कूटर पर लोकल हेलमेट देना होगा चालान सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने पीएम नरेंद्र मोदी से लगाई मदद की गुहार

पूर्वी लद्दाख की सीमा पर हालात में हो रहा सुधार

चीन ने गुरुवार को बताया कि दोनों देशों की सीमा पर हालात में सुधार आ रहा है। हाल ही में शीर्ष सैन्य अधिकारी और एनएसए अजीत डोभाल व चीनी विदेश मंत्री के बीच बातचीत के बाद से भारत-चीन के सैनिक पीछे लौटने लगे हैं। कई इलाकों से चीनी सैनिक पूरी तरह से पीछे हट च

Deepak Chauhan 09-07-2020 16:44:09



भारत-चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में कई महीनों से चल रहे तनाव में अब कमी आने लगी है। चीन ने गुरुवार को बताया कि दोनों देशों की सीमा पर हालात में सुधार आ रहा है। हाल ही में शीर्ष सैन्य अधिकारी और एनएसए अजीत डोभाल व चीनी विदेश मंत्री के बीच बातचीत के बाद से भारत-चीन के सैनिक पीछे लौटने लगे हैं। कई इलाकों से चीनी सैनिक पूरी तरह से पीछे हट चुके हैं।

चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि बीजिंग भारत और चीन सीमा मामलों पर परामर्श और समन्वय (डब्ल्यूएमसीसी) के लिए कार्य तंत्र के तहत नई दिल्ली के साथ बातचीत का नया दौर शुरू करेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने गुरुवार को कहा,चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि बीजिंग भारत और चीन सीमा मामलों पर परामर्श और समन्वय (डब्ल्यूएमसीसी) के लिए कार्य तंत्र के तहत नई दिल्ली के साथ बातचीत का नया दौर शुरू करेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने गुरुवार को कहा, 'कमांडर-स्तरीय वार्ता में सहमति बनने के बाद भारत-चीन के सैनिकों ने गलवान घाटी और अन्य सीमावर्ती क्षेत्रों से सैनिकों को पीछे हटाने के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं।'

उन्होंने कहा, 'सीमा पर हालात स्थिर हैं और सुधार हो रहा है। दोनों पक्षों में सैन्य और राजनयिक चैनलों के माध्यम से बातचीत जारी रहेगी, जिसमें सीमा मामलों पर WMMC की बैठक भी शामिल है।' उन्होंने आगे कहा, 'आशा है कि भारत ठोस कार्रवाई करने के लिए हमारे साथ मिलकर काम करेगा और सहमति को लागू करेगा। साथ ही संयुक्त रूप से सीमा पर डी-एस्केलेशन के लिए काम करेगा।'

इससे पहले मंगलवार को, चीनी विदेश मंत्रालय ने हमारे अंग्रेजी सहयोगी अखबार 'हिन्दुस्तान टाइम्स' को बताया था कि नई दिल्ली और बीजिंग द्वारा एक साथ क्षेत्र में दो महीने की तनावपूर्ण स्थिति को समाप्त करने के अपने फैसले की घोषणा के एक दिन बाद, उसके सैनिकों ने गलवान घाटी से पीछे हटना शुरू कर दिया था।

बता दें कि दोनों देशों के शीर्ष सैन्य अधिकारियों की बैठक 6, 22 और 30 जून को हुई थी, जबकि WMCC की दो बैठकें 5 और 24 जून को हुई। इन सभी बैठकों में सीमा के तनाव को कम करने की कोशिशें की गई थीं। इसके बाद, 5 जुलाई को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल और चीनी विदेश मंत्री वांग के फोन कॉल पर बात करने के बाद दोनों देश सैनिकों की वापसी पर सहमत हुए थे।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :