कोरोना के चलते ही अपने नागरिकों को भारत से निकालेगा चीन दिल्ली में मिल रहे सरकारी ई पास के फर्जी मामले क्या कोरोना को पता है उसे फ्लाइट में संक्रमण नहीं फैलाना? : SC अमेरिका ने 33 चाइनीज कंपनियों और संस्थाओं को ट्रेड ब्लैकलिस्ट कोरोना राहत : दिल्ली के आधे से ज्यादा कोरोना रेड जोन बने ओरेंग जोन प्रवासी मजदूरों के लिए गृह मंत्रालय का आदेश अगले 10 दिनों के लिए 2600 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें दिल्ली-एनसीआर में पड़ रही भीषण गर्मी अभी तक 45 लाख श्रमिकों को घरों तक पहुंचाया गया उनके घर : रेलवे बोर्ड संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगी आदित्यनाथ का जन्मदिन बड़ी धूमधाम से बनाएगा विश्व हिंदू महासंघ संगठन-पारस जैन राहुल की विडियो पर मायावती का तंज़ , कहा- मजदूरों की दुर्दशा के लिए कांग्रेस कसूरवार दिल्ली मे तेजी से बड़ रही कोरोना की गति, आंकड़ा 13 हजार के पास सरकार की योजनाओं का हर प्लेटफार्म से होगा प्रचार: नवीन गोयल 25 मई से शुरू होने जा रहे विमान सेवाओं को लेकर सबसे बड़ा सवाल स्वयंभू धर्मगुरु दाती महाराज एक बार फिर सुर्खियों, लॉकडाउन मे करी शनि मंदिर मे पूजा गोवा हुआ कोरोना फ्री राज्य : राज्यपाल सत्यपाल मलिक यूपी के अमरोहा से ताल्लुकात रखता है कराची विमान हादसे मे बचा एक शख्स महाराष्ट्र को कोरोना राहत, मृत्यु दर 4.76% से गिरकर हुई 3.49% PPE किट पहनकर बाल काट रहे सूरत के यूनिसेक्स सैलून बार्बर महाचक्रवात अम्फान की वजह से पश्चिम बंगाल को दोहरा झटका भारत में कोरोना वायरस के मामलों में रिकॉर्ड तोड़ उछाल

तीसरी बार भी टली निर्भया के दोषियों की फांसी माँ ने कहा 'सरकार को देना होगा जवाब'

केस के दौरान सभी सुनवाई में खुद मौजूद रहनेवाली 23 वर्षीय निर्भया की मां ने कहा वह तब तक चैन से नहीं बैठेगी जब तक उनकी बेटी के साथ रेप और उसकी हत्या करनेवालों को फांसी नहीं हो जाती।

Deepak Chauhan 02-03-2020 19:12:23



निर्भया गैंगरेप के चारों गुनहगारों की सोमवार को तीसरी बार फांसी टलने के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि इस केस में दोषियों की सजा मे देरी यह ‘सरकार और सिस्टम की विफलता’ है।

केस के दौरान सभी सुनवाई में खुद मौजूद रहनेवाली 23 वर्षीय निर्भया की मां ने कहा वह तब तक चैन से नहीं बैठेगी जब तक उनकी बेटी के साथ रेप और उसकी हत्या करनेवालों को फांसी नहीं हो जाती।

उन्होंने कहा- “सरकार को कोर्ट को यह जवाब देना होगा कि क्यों दोषियों की फांसी में देरी हो रही है।” उनका तरह से ये बातें उस वक्त कही गई जब सोमवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट की तरफ से तीसरी बार निर्भया के गुनहारों को फांसी टाल दी गई।


क्यों टली निर्भया के गुनहगारों की तीसरी बार फांसी?

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट के जज धर्मेंद्र राणा ने सोमवार (2 मार्च) को निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्या के चारों दोषियों की मौत की सजा पर अगले आदेश तक के लिए रोक लगा दी। अदालत ने कहा कि ऐसे में जब दोषी पवन कुमार गुप्ता की दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित है, फांसी नहीं दी जा सकती। सोमवार को ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुधारात्मक याचिका (क्यूरेटिव पिटीशन) खारिज होने के बाद पवन ने राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका की है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि की है कि पवन की दया याचिका उन्हें मिल गई है। अब मंत्रालय यह याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेजेगा और वह इस पर विचार करेंगे तथा फैसला लेंगे।


क्या है पूरा मामला?

दक्षिण दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 को एक चलती बस में 23 वर्षीय छात्रा 'निर्भया से सामूहिक बलात्कार और उसपर बर्बर हमला हुआ था। निर्भया की 29 दिसंबर को उसी साल सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में मौत हो गई थी। मुकेश सिंह, विनय शर्मा, अक्षय कुमार सिंह, पवन गुप्ता, राम सिंह और एक किशोर को इस मामले में दोषी पाया गया था। राष्ट्रपति मुकेश, विनय और अक्षय की दया याचिका अस्वीकार कर चुके हैं। राम सिंह ने जेल में आत्महत्या कर ली थी और किशोर को सजा पूरी करने के बाद रिहा कर दिया गया था।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :