सुशांत केस:-सूरज पंचोली, बोले- बेहतर होगा मैं इस मामले में कुछ ना बोलूं लंबी उम्र की ख्वाहिश होगी जल्द पूरी राजाराम के जयकारे के साथ भूमि पूजन प्रारंभ अयोध्या में मंदिर निर्माण से शेख रशीद ने कहा - भारत बन गया 'राम नगर' सुशांत सिंह राजपूत केस की CBI करेगी जांच प्रशांत भूषण को सुप्रीम कोर्ट की नसीहत भारतीय अर्थव्यवस्था का बुरा दौर बीता मुंबई की जूलरी कंपनी ने SBI को लगाया 387 करोड़ रुपए का चूना माइक्रोसॉफ्ट के लिए सदी की सबसे बड़ी डील होगी टिकटॉक देखें कैसे राम मंदिर भूमि पूजन से पहले तैयार है अयोध्या नगरी यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2019 का फाइनल रिजल्ट जारी राजस्थान सियासी संकट: क्या सच में कांग्रेस हाईकमान से बागी विधायकों ने लगाई गुहार- किसी तीसरे को बना दो CM सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की सीबीआई जांच की सिफारिश घरेलू रसोई गैस हुई महंगी आज का राशिफल भारत से बिगड़े रिश्ते का चालाकी से फायदा उठा रहा चीन गोल्ड बॉन्ड में निवेश है फायदे का सौदा जांबाज एयर फोर्स ऑफिसर के रोल में दिखीं जाह्नवी कपूर नया कानून-अब नहीं चलेगा बाइक या स्कूटर पर लोकल हेलमेट देना होगा चालान सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने पीएम नरेंद्र मोदी से लगाई मदद की गुहार

दक्षिण चीन सागर में युद्धपोतों का अभ्यास, चीन से निपटने को तैयार अमेरिका

दो विमान वाहक चार युद्धपोतों के साथ चौबीसों घंटे फ्लाइट टेस्टिंग और हमला करने की क्षमता का परीक्षण करेंगे। पूरी दुनिया की नजर इसलिए भी टिकी हुई है क्योंकि चीन और अमेरिका के सैन्य जहाज एक ही क्षेत्र में एक समय पर अभ्यास करेंगे, यह बेहद ही दुर्लभ मौका है।

Deepak Chauhan 04-07-2020 13:22:13



दक्षिण चीन सागर में हेकड़ी दिखा रहे चीन पर लगाम लगाने के लिए अमेरिका ने विवादित इलाके में अपने दो विमानवाहक युद्धपोतों को भेज दिया है। ये पोत यहां सैन्य अभ्यास में शामिल होंगे। अमेरिकी नेवी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि यूएसएस रेगन और यूएसएस निमित्ज हिंद प्रशांत क्षेत्र को स्वतंत्र रखने के लिए ऑपरेशन और एक्सरसाइज में जुटे हैं। 

दो विमान वाहक चार युद्धपोतों के साथ चौबीसों घंटे फ्लाइट टेस्टिंग और हमला करने की क्षमता का परीक्षण करेंगे। पूरी दुनिया की नजर इसलिए भी टिकी हुई है क्योंकि चीन और अमेरिका के सैन्य जहाज एक ही क्षेत्र में एक समय पर अभ्यास करेंगे, यह बेहद ही दुर्लभ मौका है। 

रोनाल्ड रीगन कैरियर स्ट्राइक ग्रुप के अधिकारी लेफ्टिनेंट कमांडर सीन ब्रोफी ने एएनआई से कहा, ''मैं पुष्टि कर सकता हूं कि यूएसएस निमित्ज (CVN 68) और यूएसएस रोनाल्ड रीगन (CVN 76) हिंद प्रशांत क्षेत्र स्वतंत्र और खुला रखने के लिए कैरियर ऑपरेशन और एक्सरसाइज में जुटे हैं।'' 

यूएस नेवी के अधिकारी ब्रोफी ने कहा, ''यह प्रयास अमेरिका की उस प्रतिबद्धता के तहत है जिसमें हम अंतरराष्ट्रीय कानूनों के मुताबिक सभी देशों के उड़ने, नौवहन अधिकारों के साथ खड़े हैं।'' अमेरिका ने इस अभ्यास की प्लानिंग काफी पहले की थी, लेकिन इसे चीन को कड़ा संदेश देते हुए अभी आयोजित किया जा रहा है, क्योंकि चीन विवादित पारासेल आइलैंड के पास अभ्यास में जुटा है, जिसका अमेरिका सहित कई देशों ने विरोध किया है। 

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ''अमेरिका दक्षिण पूर्व एशिया के अपने मित्रों से सहमत है। पीआरसी (पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना) का दक्षिण चीन सागर में विवादित स्थान पर सैन्य अभ्यास का हम विरोध करते हैं। हम चीन के गैरकानूनी दावे का विरोध करते हैं।''

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :