केजरीवाल और सिसोदिया को करना चाहिए हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा : दिल्ली HC दिल्ली हिंसा पर बोले पीएम मोदी : जल्द से जल्द हो शांति बहाल कपिल मिश्रा का वीडियो चलवा दिल्ली हिंसा पर हाईकोर्ट के जजों ने की सुनवाई अफवाहों पर ध्यान न दें लोग, दिल्ली मौजपुर हिंसा में अब तक 11 FIR दर्ज : दिल्ली पुलिस दिल्ली हिंसा पर बोले ट्रंप : भारत का अपना मामला इससे खुद ही निपटे दिल्ली हिंसा में 130 से ज्यादा अस्पताल में भर्ती, 9 की मौत दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में जारी हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है अभी तक 15 से लोगो को लगी गोली बीजिंग की हवा में बड़ा सुधार, भारत मे सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर : रिपोर्ट स्वाइन फ्लू की चपेट में सुप्रीम कोर्ट के 6 न्यायाधीश, मास्क पहनकर कोर्ट पहुंचे जस्टिस संजीव खन्ना LIVE : केजरीवाल भी पहुंचे गृह मंत्रालय, दिल्ली हिंसा पर हाईलेवल मीटिंग शुरू CAA : कई मेट्रो स्टेशन बंद, उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा में हेड कॉन्स्टेबल की मौत पत्नी संग आगरा ताज महल पहुंचे ट्रंप कहा वाह ताज साबरमती आश्रम पहुच विजिटर बुक मे ट्रंप ने लिखा 'थैंक्यू फ्रेंड मोदी' अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत की धरती पर रखा कदम ट्रम्प का भारत दौरा / मेलानिया दिल्ली के स्कूल में बच्चों से मिलेंगी, कार्यक्रम से केजरीवाल और सिसोदिया का नाम हटा भारत अमेरिका को व्यापार मे पाहुचा रहा है बड़ी चोट : डोनाल्ड ट्रम्प वायरल वीडियो में देखें उसका दर्द, नौ साल का बच्चा क्यों मरना चाहता है यूनिवर्सिटी से 93 की उम्र में मास्टर डिग्री ले सबसे उम्रदराज छात्र बने सीबीएसई स्कूलों के बच्चों ने ‘नो बैग डे’ को बताया ‘राइट चॉइस’ अब राम जी जुड़े स्थलों की यात्रा कराएगी 'श्री राम एक्सप्रेस'

वीरता मैडल से सम्मानित शहीद कैप्टन मृदुल शर्मा ने आखिरी सांस तक हमीरपुर का मान रखते हुए देश रक्षा का प्रयास किया 

हमीरपुर जिला वैसे वीरो की भूमि के रूप में जाना जाता है और जाहिर से बात है कि परिवार के सेना  ओतप्रोत कैप्टन मृदुल शर्मा इससे अछूते नहीं थे , आज जब देश पूरी दुनिया के साथ नया साल मना रहा है ठीक उसी दिन सन  २००४ को कैप्टन मृदुल शर्मा देश की रक्षा में अपनी आ

Vyomendra Singh 01-01-2020 15:52:06



अमर शहीद कैप्टन मृदुल शर्मा सेना मैडल (वीरता ) का जन्म देवभूमि एवं वीरभूमि नाम से प्रख्यात हिमाचल प्रदेश की शिवालिक पहाड़ियों में स्तिथ हमीरपुर जनपद में २४ फरवरी १९७८ को ले. कर्नल (रिटायर्ड) श्री जे के शर्मा एवं श्रीमती सुदेश शर्मा के यहाँ राजा हमीर की नगरी हमीरपुर में हुआ।  इनकी प्रारम्भिक एवं स्कूली शिक्षा विभिन्न स्थानों (केंद्रीय विद्यालय बकलेट , जिला चम्बा , केंद्रीय विद्यालय जालंधर छावनी एवं केंद्रीय विद्यालय हमीरपुर ) पर हुई , तत्पश्चात उन्होंने उच्च शिक्षा के लिए नेताजी सुभाष चंद्र बोष स्मारक , राजकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय हमीरपुर में (विज्ञान स्नातक) दाखिल हुए।  मृदुल शर्मा बचपन से ही तीक्ष्ण बुद्धि वाले थे।  जिसके परिणाम स्वरुप उन्होंने विद्यालयी एवं महाविद्यालय शिखा में शैक्षणिक योग्यता से सम्बंधित कई पुरस्कारों को जीता , उसमे से एक पुरस्कार उन्होंने हिमाचल प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री के कर कमलो से प्राप्त किया।  कैप्टन मृदुल शर्मा मे  देश रक्षा  के लिए सेना में जाने का जज्बा परिवार से विरासत में मिला था क्योकि उनके पिताजी (श्री जे के शर्मा ) रिटायर्ड ले. कर्नल जोकि सेना में उच्च पद पर कार्यरत थे।  उनकी इस देश रक्षा की बीजरूपी भावना का अंकुरित किया , उनकी स्कूली शिक्षा जो विभिन्न केंद्रीय विद्यालयों में हुई जिनका वातावरण देश प्रेम की भावना से ओतप्रोत था।  तत्पश्चात उनकी उच्च शिक्षा जिस महाविद्यालय में हो रही थी , जिसका वातावरण महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोष पर है , ने देश प्रेम का जो बीज कैप्टन शर्मा के ह्रदय में था , उसे अंकुरित और पल्ल्वित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। 
भयंकर गोलाबारी  कैप्टन  मृदुल शर्मा भी घायल हो गए।  घायल होने के बावजूद भी कैप्टन मृदुल शर्मा डटे  रहे और जीवन में जब तक एक भी सांस बची हैं देश पर न्योछावर करने की भावना जो भारतीय सेना का मूल मन्त्र हैं , उसको पूरी तरह चरितार्थ किया।  गंभीर अवस्था में  उपरान्त भी कैप्टन मृदुल शर्मा ने देश प्रेम एवं राष्ट्र ध्वज तिरंगे प्रति अदम्य साहस एवं शौर्य का अपरिचय दिया तथा देश का महान सपूत कैप्टन मृदुल शर्मा ने १ जनवरी २००४ को १. बजे अपनी अंतिम सांस ली पर देश के मान सम्मान की श्रीवृद्धि में अपने सर्वस्व अर्पण किया।  कैप्टन मृदुल शर्मा के इस अदम्य साहस , वीरता एवं शौर्य के लिए १५ जनवरी २००७ को देश रक्षा से सम्बंधित सेना मैडल पुरस्कार से अलंकृत किया गया। 


Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :