सुशांत केस:-सूरज पंचोली, बोले- बेहतर होगा मैं इस मामले में कुछ ना बोलूं लंबी उम्र की ख्वाहिश होगी जल्द पूरी राजाराम के जयकारे के साथ भूमि पूजन प्रारंभ अयोध्या में मंदिर निर्माण से शेख रशीद ने कहा - भारत बन गया 'राम नगर' सुशांत सिंह राजपूत केस की CBI करेगी जांच प्रशांत भूषण को सुप्रीम कोर्ट की नसीहत भारतीय अर्थव्यवस्था का बुरा दौर बीता मुंबई की जूलरी कंपनी ने SBI को लगाया 387 करोड़ रुपए का चूना माइक्रोसॉफ्ट के लिए सदी की सबसे बड़ी डील होगी टिकटॉक देखें कैसे राम मंदिर भूमि पूजन से पहले तैयार है अयोध्या नगरी यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2019 का फाइनल रिजल्ट जारी राजस्थान सियासी संकट: क्या सच में कांग्रेस हाईकमान से बागी विधायकों ने लगाई गुहार- किसी तीसरे को बना दो CM सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने की सीबीआई जांच की सिफारिश घरेलू रसोई गैस हुई महंगी आज का राशिफल भारत से बिगड़े रिश्ते का चालाकी से फायदा उठा रहा चीन गोल्ड बॉन्ड में निवेश है फायदे का सौदा जांबाज एयर फोर्स ऑफिसर के रोल में दिखीं जाह्नवी कपूर नया कानून-अब नहीं चलेगा बाइक या स्कूटर पर लोकल हेलमेट देना होगा चालान सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने पीएम नरेंद्र मोदी से लगाई मदद की गुहार

गायनेकोलॉजिस्ट की समलैंगिक जोड़ों के लिए एक सेफ सेक्स गाइड

सामान्‍य जोड़ों के लिए तो फि‍र भी जरूरत भर का ‘ज्ञान’ यहां वहां से मिल जाता है। पर समलैंगिक जोड़ों के लिए तो हालत और भी खराब है। आप इनकार नहीं कर सकते कि ऐसी जानकारी सीधे जोड़ों के लिए अधिक आसानी से उपलब्ध है। सेम सेक्‍स कपल के लिए अब भी हमारे समाज में

Deepak Chauhan 23-06-2020 20:06:38



जब यौन शिक्षा की बात आती है, तो हम में से अधिकांश को इससे दूर रखा गया है। बढ़ेे होते हुए सेक्‍स के बारे में हमारा ज्ञान बस इतना ही है, जितना अपने बड़ों से हमने छुपतेेेेेेेेे-छुपाते सुना  या इंटरनेट पर जो अधकचरा मिला।  इसलिए, जहां तक यौन स्‍वास्‍थ्‍य की बात आती है तो अब भी हम पूरी तरह स्‍पष्‍ट नहीं हैं कि क्‍या सही है और क्‍या गलत। 

हालांकि, सामान्‍य जोड़ों के लिए तो फि‍र भी जरूरत भर का ‘ज्ञान’ यहां वहां से मिल जाता है। पर समलैंगिक जोड़ों के लिए तो हालत और भी खराब है।  आप इनकार नहीं कर सकते कि ऐसी जानकारी सीधे जोड़ों के लिए अधिक आसानी से उपलब्ध है। सेम सेक्‍स कपल के लिए अब भी हमारे समाज में ढेर सारे टैबू हैं। 

इसलिए, हमने वॉकहार्डट हॉस्पिटल, मुंबई से डॉ. गंधाली देवरुखकर से सेम सेक्‍स कपल यानी ऐसे जोड़े जो अपने ही जेंडर के व्‍यक्ति के साथ यौन व्‍यवहार करते हैं, उनके लिए हेल्‍दी सेक्‍स और सेक्‍सुअल हाइजीन पर प्रकाश डालने को कहा।  

वह कहती है: “इस समूह के लोग एचआईवी, गोनोरिया, क्लैमाइडिया और एचपीवी संक्रमण जैसी बीमारियों के अधिक शिकार होते हैं। हालांकि, सुरक्षा और स्वच्छता केे प्रति जागरुक करके इन्हें काफी हद तक रोका जा सकता है।”

वे समलैंगिक जोड़ों के लिए कुछ महत्वपूर्ण सेक्‍सुअल हाइजीन सुझाव देती हैं, जिनके अभ्‍यास से वे बिना किसी चिंता के अपने यौन जीवन का आनंद ले सकते हैं:


1 कंडोम का प्रयोग करें

डॉ गंधाली के अनुसार: “ कंडोम का उपयोग संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद कर सकता है। उन्हें हर बार कंडोम का उपयोग करना चाहिए। अगर आप पुरुष हैं और एक दूसरे पुरुष के साथ यौन व्‍यवहार कर रहे हैं तो आपको पुरुष कंडोम का प्रयोग करना चाहिए। और अगर आप स्‍त्री हैं और किसी स्‍त्री के साथ आप यौन संबंध बना रहीं हैं तो आपको फीमेल कंडोम का प्रयोग करना चाहिए। यह संक्रमण को फैलने से रोकने का सबसे प्रभावी तरीका है।”

वह आगे सुझाव देती है कि मौखिक सेक्स के दौरान भी कंडोम का उपयोग किया जाना चाहिए। मौखिक सेक्स के माध्यम से संक्रमण को होने से रोकने के लिए महिलाएं डेंटल डेम का भी उपयोग कर सकती हैं


2 सेक्‍स के बाद खुद को क्‍लीन करें 

सेक्स के तुरंत बाद अपने अपने आप को क्‍लीन करना बहुत जरूरी है। भले ही आप एक-दूसरे से सटे रहना चाहती हैं और कडलिंग के लिहाज से यह आपके लिए महत्‍वपूर्ण समय है, फि‍र भी डॉ. गंधाली कहती हैं: “सामान्‍य तरीके से पर खुद को अच्‍छी तरह से धोना जरूरी है। यह एसटीडी के साथ-साथ यूटीआई के खतरे को भी कम करता है। महिलाओं को यह ध्‍यान रखना चाहिए कि उन्‍हें न डोचिंग करनी है और न ही योनि में कुछ भी डालना है।

योनि का अपना एक सेल्‍फ क्‍लींजिंग सिस्‍टम है। अपनी सही तरह से सफाई करने के लिए जरूरी है कि वे सामने से पीछे की ओर खुद को धोएं। क्‍योंकि यदि आप पीछे से आगे की ओर धोएंगी तो एनल से वेजाइना में बैक्‍टीरिया के आने का खतरा हो सकता है। इस वक्‍त वेजाइना का द्वारा सामान्‍य से ज्‍यादा खुला होता है।”

इसके अलावा,  संक्रमणों को खुद से दूर रखने के लिए जरूरी है कि आप अपने जननांगों को नियमित रूप से साफ करें। माइल्‍ड इंटीमेट वाश का उपयोग किया जा सकता है और आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप शौच के बाद अपने आप को ठीक से साफ करें। ताकि किसी भी तरह के बैक्‍टीरिया के पनपने की संभावना को खत्‍म किया जा सके।


3 सेक्स टॉयज को ठीक से साफ करना और स्‍टोर करना भी जरूरी है

सेक्स टॉयज वास्तव में आपके यौन आनंद को और बढ़ा देते हैं। लेकिन उन्हें रखरखाव की भी आवश्यकता है। डॉ. गंधाली सेक्स टॉयज को हर बार उपयोग से पहले अच्‍छी तरह  धोने की सलाह देते हैं। साथ ही इन्‍हें उपयोग किए जाने के बाद भी अच्‍छी तरह धोकर ही स्‍टोर करना चाहिए।

वह बताती है, “यदि इन्‍हें ठीक तरह से साफ न किया जाए तो उन पर धूल एकत्र हो सकती है। जो निश्चित रूप से इंटीमेट एरिया में संक्रमण और जलन पैदा कर सकती है। इसलिए, यह जरूरी है कि उन्हें उपयोग करने के तुरंत बाद धोया जाए। यदि संभव हो, तो उन्‍हें धोने के लिए बीटाडाइन सॉल्‍यूशन का इस्‍तेमाल करें जो एक खास कीटाणुशोधक है। हालांकि आप चाहें तो इन्‍हें अपने रेगुलर सोप से भी वॉश कर सकती हैं।”


4 ओरल हाइजीन का ख्‍याल रखना भी जरूरी है

ओरल सेक्स निश्चित रूप से सुखद है और समलैंगिक जोड़ों में यह नियमित रूप से किया जाने वाला अभ्‍यास है। पर यह खुशी के साथ संक्रमण का जोखिम भी बढ़ा देता है। इसलिए, मौखिक स्वच्छता ऐसा मुद्दा है जिस पर समझौता नहीं किया जाना चाहिए। डॉ गांधाली सुझाव देती हैं,  “सेक्स के ठीक बाद कुल्‍ला करना और गरारे करना एक अत्यंत महत्वपूर्ण कदम है, जिसे बिल्‍कुल नहीं भूला जाना चाहिए। आप चाहें तो कि‍सी एल्‍कोहल बेस्‍ड माउथवॉश का भी इस्‍तेमाल कर सकती हैं। क्योंकि यह बैक्टीरिया को मारने और आपके मुंह को साफ रखने में ज्‍यादा प्रभावशाली होता है। इससे संक्रमण की संभावना कम हो जाएगी।”


5 नियमित स्क्रीनिंग भी है जरूरी

पबमेड सेंट्रल में प्रकाशित एक रिपोर्ट में यह सामने आया कि समलैंगिक सेक्‍स करने वाले पुरुषों  और महिलाओं में कुछ खास प्रकार के कैंसर जैसे कि  गुदा कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर, गले के कैंसर  और जीभ के कैंसर का जोखिम ज्‍यादा रहता है। डॉ. गंधाली सुझाव देती हैं कि जब आप समलैंगिक यौन संबंधों में सक्रिय हो जाएं, तो आपको नियमित रूप से स्क्रीनिंग के लिए जाना शुरू कर देना चाहिए। यह स्‍क्रीनिंग इस तरह के खतरनाक कैंसर से बचाने में आपकी मदद कर सकती है। यह साल में एक बार भी करवाई जा सकती है।

तो, लड़कों और लड़कियों, अब आप समझ ही गए होंगे कि समलैंगिक यौन संबंधों में आपको क्‍या सावधानियां रखनी हैं। तो जब भी सेफ सेक्स की बात आए तो किसी भी तरह का बहाना न बनाएं!

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :