दिल्ली-एनसीआर में भूंकप के झटके महसूस श्रमिक ट्रेन में महिला की मौत पर खाना पीना ना मिलने का आरोप तेज हवाओं के साथ और बारिश के साथ दिल्ली-एनसीआर में मौसम ने बदला मिज़ाज बिहार में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 70 नए मामले PPE किट पहन पेड़ के नीचे खुला 20 साल पुराना सैलून 1 जून से देश में लॉकडाउन बढ़ेगा या खत्म होगा? छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का हुआ निधन तेजस्वी के घर के बाहर दिखा, न मास्क- न सोशल डिस्टेंसिंग वाला नजारा अमेरिकी राष्ट्रपति के मध्यस्थता प्रस्ताव को ठुकरा चीन ने कहा किसी तीसरे की जरूरत नहीं चीन को लेकर मोदी का मूड खराब : ट्रंप , भारत ने नकारा श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में हुई कुछ लोगों की मौत से रेल मंत्रालय की लोगों से अपील पूरे देश में 33 हजार कोरोना को पीछे छोड़ 34 हजार मरीजों की संख्या के साथ आगे निकला महाराष्ट्र 'मैंने प्यार किया' में एक फॉटोग्राफर करनी चाहता था सलमान ओर भाग्यश्री की जबरन स्मूच जून मे बड़ सकती है पेट्रोल की कीमत, 5 रुपय तक तक हो सकती है बड़ोत्तरी संबित पात्रा में दिखे कोरोना लक्षण, मेदांता हॉस्पिटल में कराया एडमिट मानसून पहले 5 जून को पहुंचने का अनुमान, अब 1 जून को पहुंचेगा केरल 24 घंटे में रायपुर समेत रायगढ़ और सिम्स बिलासपुर से 100 डॉक्टरों का इस्तीफा 650 किमी का सफर स्कूटी से तय कर ड्यूटि करने पहुंची मुरैना की पुलिसकर्मी यूपी-बिहार में 5 लाख लोगों के साथ करीब 23 लाख लोग भारत में आइसोलेशन में ऊपर से शांति और बार्डर पर अशांति दिखा दौहरी चाल चल रहा है ड्रेगन

घोड़े पर चढ़कर मंडप पहुंची दुल्हन

Khushboo Diwakar 16-05-2019 18:02:11




  • दुल्हन मनाली का मंडप पर इंतजार करता रहा दूल्हा, दुल्हन ने बाद में लिए सात फेरे  
  • भोपाल की बापू कालोनी का मामला, घोड़ी पर चढ़ी दुल्हन को देखने के लिए जुटी भीड़ 

भोपाल. राजधानी भोपाल में बुधवार की शाम को एक शादी में अलग नजारा देखने को मिला। आमतौर पर शादियों में दूल्हे को घोड़ी पर बैठकर मंडप पर पहुंचते देखा होगा, लेकिन यहां इसके ठीक उलट दुल्हन घोड़े पर चढ़कर शादी के मंडप पर पहुंची। वहां दूल्हा उसका इंतजार कर रहा था। लड़की को घोड़े पर चढ़कर बारात चलने लगी तो देखने वालों की भीड़ जुट गई। 

भोपाल में बापू कॉलोनी जहांगीराबाद की रहने वाली 22 वर्षीय दुल्हन मनाली मेहरोलिया इसलिए घोड़ी पर चढ़ीं, ताकि हर लड़की समाज में निडर बने और खुद को सुरक्षित महसूस करे। इसलिए, मनाली घोड़े पर चढ़कर गाजे-बाजे और बारात लेकर विवाह स्थल पर पहुंचीं, जहां दूल्हा कुणाल चांवरिया उनका इंतजार कर रहा था। 

मनाली ने बताया कि ऐसा करने के पीछे उनका मकसद शहर की महिलाओं और युवतियों को निर्भीक बनने का संदेश देना था। परिजनों ने बताया कि मनाली ने संकल्प लिया था कि जब प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार में कमी आएगी और उनका विवाह होगा, तब वे बारात घोड़ी पर चढ़कर निकालेंगी, जिससे अन्य महिलाएं भी निडर बन सकें। 

दूल्हे ने पहुंचकर की थीं शादी की रस्में 

इसके पूर्व दूल्हा कुणाल शाम को दुल्हन के घर घोड़ी पर सवार होकर पहुंचा और रस्में अदाकर विवाह स्थल पर लौट गया। इसके बाद दुल्हन बारात लेकर निकली। बारात सिकंदरिया ग्राउंड शब्बन चौराहा पहुंचीं। यहां विवाह समारोह हुआ।

हर लड़की घोड़े पर चढ़कर शादी करने जाए

मनाली ने कहा, "मैंने ये फैसला इसलिए लिया, जिससे लड़कियां और महिलाएं खुद को सुरक्षित समझें, मैं चाहती हूं कि हर महिला सशक्त, निडर बने और खुद को समाज में सुरक्षित महसूस करे। साथ ही अपनी शादी में घोड़े पर चढ़कर शादी करने जाए।" 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :