Select location to see news around that location.Select Location

जीजा -साले ने किया अपने ही दोस्त का कत्ल, मांगी फिरौती की रकम

जीजा -साले ने किया अपने ही दोस्त का कत्ल, मांगी फिरौती की रकम

दिल्ली में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिसमें पैसों की भूख में दो दोस्तों ने अपने ही दोस्त का कत्ल कर दिया. इतना ही नहीं दोनों ने कत्ल कर न सिर्फ अपने दोस्त की लाश के 6 टुकड़े कर उसके घरवालों से 50 लाख रुपये की फिरौती की मांग भी की .
पुलिस के मुताबिक, दोनों आरोपियों को बिहार से गिरफ्तार कर लिया गया है. दोनों आरोपी एक-दूसरे के रिश्तेदार हैं. उनके बीच जीजा-साले का रिश्ता है. पुलिस ने आरोपियों की पहचान भूषण उर्फ वरुण (जीजा) और विक्की उर्फ ऋतुराज (साला) के तौर पर की है, जबकि मृतक की पहचान सचिन के तौर पर की है.
पुलिस ने बताया कि आरोपी जीजा-साले दोनों ही अपने दोस्त सचिन की हत्या कर उसी के मोबाइल से उसके घर वालों से फिरौती मांग रहे थे. पुलिस उस मोबाइल को ट्रैक करते हुए दोनों आरोपियों तक पहुंची. आरोपियों का पीछा-पीछा करते-करते पुलिस ने बिहार स्तिथ अपने घरों में ऐश फरमाते धार दबोचा.
पुलिस पूछताछ में दोनों ने हत्या का जुर्म कुबूल कर लिया है. मृतक सचिन ने दोनों दोस्तों उर्फ़ जीजा-साले की अपने घर पार्टी पर बुलाया था. सचिन की पार्टी में आरोपी जीजा-साले उसकी दौलत देखकर चकित हो गए. तभी से दोनों ने ठान लिया था कि सचिन को किडनैप कर उसके घरवालों से ऊंची रकम वसूली जा सकती है साजिश के तहत दोनों ने अपने दोस्त सचिन को किसी बहाने सेअपने घर बुलाया. मृतक सचिन जब उनके घर पहुंचा तो दोनों ने सचिन का हाथ-पैर बांध दिया और काम पर चले गए.
काम से लौटकर आने के बाद आरोपी जीजा-साले ने मिलकर सचिन का कत्ल कर दिया और लकड़ी काटने वाली आरी से लाश के 6 टुकड़े कर दिए. और लाश के टुकड़ों को उन्होंने पास के ही सेप्टिक टैंक में फेंक दिया था. उन्होंने सबूत मिटाने के लिएऐसा खेल खेला.
इधर सचिन के परिवार वालों ने बाबा हरिदास नगर थाने में उसकी गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई. पुलिस अभी मामले की जांच कर ही रही थी कि सचिन के घरवालों ने पुलिस को बताया कि उनके पास फिरौती की कॉल आ रही है.
आरोपी जीजा-साले सचिन के घरवालों से 50 लाख मांग रहे थे. हालांकि सचिन के पिता ने 10 लाख की फिरौती देने की बात मान ली थी. सचिन के पिता द्वारा 10 लाख की फिरौती देने की बात मान लेने के बावजूद दोनों ने सचिन का कत्ल कर दिया.
लेकिन इन सबके बीच आरोपियों ने एक गलती कर दी. फिरौती मांगने के लिए वे सचिन के मोबाइल का ही इस्तेमाल कर रहे थे. पुलिस ने मोबाइल ट्रैक करना शुरू किया तो पता चला कि आरोपी लगातार शहर बदल रहे थे. कभी आरोपियों की लोकेशन सोनीपत मिलती तो कभी बवाना.
आखिरकार मोबाइल ट्रैक करते-करते पुलिस आरोपियों के घर बिहार जा पहुंची और दोनों को गिरफ्तार कर लिया. DCP शिबेश सिंह ने बताया कि टेक्निकल सर्विलांस के आधार पर दोनों को बिहार से गिरफ्तार किया गया. दोनों की मृतक सचिन से अच्छी जान पहचान थी. 12 मई को आरोपियों ने सचिन को फोन करके मिलने के लिए बुलाया था.


Local News of India

Local News of India

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top