Select location to see news around that location.Select Location

पुलिस ने बुजुर्ग महिला काे बाल पकड़कर घसीटा, लाठियों से पीटा: वीडियो वायरल

बुजुर्ग महिला काे बाल पकड़कर घसीटा पुलिस वाले ने, थाने में 2 की उंगलियां तोड़ीं

पुलिस कर्मचारियों ने राज सिंह के हाथ की तालियों और पीठ पर लाठियों से वार कर उंगलियांं तोड़ दी।

बठिंडा। बठिंडा के कस्बा भगता भाईका में पड़ते सुखानंद रोड में एक कांग्रेसी नेता के ईंट भट्ठे पर धरना देकर बैठे मजदूरों पर पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाई। एक बुजुर्ग महिला को बालों से पकड़कर जमीन पर गिराने और थप्पड़ मारने के साथ लाठियों से भी पीटा गया। वेतन की मांग कर रहे मजदूरों पर पुलिस ने कांग्रेसी भट्ठा मालिक के इशारे से धक्केशाही की जबकि वह शनिवार शाम से शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे। इस मामले में एक वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस वाले अपने बचाव के लिए कथित तौर पर स्वयं को घायल कहकर सिविल अस्पताल में दाखिल हो गए। दूसरी ओर वीडियो में देखें तो कहीं भी पुलिस पर किसी तरह का जानलेवा हमला दिखाई नहीं दे रहा।

सुखानंद रोड पर स्थित आरके ईंट भट्ठे पर काम करने वाले करीब 6 मजदूरों जसवीर कौर, जगमोहन सिंह, राज सिंह, शिंदा ने आरोप लगाया कि भट्टा मालिक कांग्रेस का नेता है। वह लंबे समय से मजदूरी के पैसे नहीं दे रहा है। भट्टा मजदूर लंबे समय से वेतन देने की मांग कर रहे थे। वही मामले में प्रशासन के अधिकारियों के पास भी शिकायत की गई थी लेकिन राजनीतिक दबाव में भट्ठा मालिक पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई। इसके विरोध में शनिवार से उन्होंने भट्ठे में काम करना बंद कर दिया और धरना देकर बाहर बैठ गए। भट्ठा मालिक उन्हें पहले धमकी देता रहा लेकिन जब वह नहीं माने तो उसने पुलिस को बुलाकर उन्हें वहां से उठाने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस एएसआई कुलदीप सिंह, सब इंस्पेक्टर वीर सिंह पुलिस कर्मचारियों को लेकर भट्ठे में आए और उन्हें बिना कारण व चेतावनी के पीटना शुरू कर दिया। अब उन्हें धमकी दी जा रही है कि अगर उन्होंने मामले में समझौता नहीं किया तो पुलिस पर हमला करने व वर्दी फाड़ने के आरोप में मामला दर्ज करवाया जाएगा। जगमोहन सिंह ने कहा कि वीडियो मे देखा जा सकता है कि कहीं भी पुलिस कर्मचारी की वर्दी पर हाथ नहीं डाला गया है बल्कि एक जगह जब बुजुर्ग महिला को पीट रहे हैं तो उसे छुड़ाने के दौरान लाठी जरूर पकड़ी है।

थाने में बंद लोगों को छोड़ा

पुलिस कर्मचारियों ने राज सिंह के हाथ की तालियों और पीठ पर लाठियों से वार कर उंगलियांं तोड़ दी। वहीं जगमोहन सिंह पर भी देर सांय तक थाने में लाठियां बरसाते रहे। घटना के दौरान किसी ने वीडियो बनाकर उसे पत्रकारों को भेज दिया। इसमें मारपीट की घटना वायरल होते ही पुलिस कर्मचारियों ने थाने में बंद लोगों को छोड़ दिया। परिजनों ने राज सिंह, जगमोहन व महिला को अस्पताल में दाखिल करवाया।

आरोपियों पर हो कार्रवाई

पुलिस के लाठीचार्ज में 3 लोग गंभीर जख्मी हुए हैं। इसमें पुलिस एक राजनीतिक व्यक्ति के इशारे पर अपनी कर्तव्य को भूल कर लोगों पर जुल्म कर रही है। पुलिस प्रशासन के साथ राज्य सरकार मजदूरों पर जुल्म करने वाले पुलिस अफसरों और उनका शोषण कर उनके वेतन रोकने वाले कांग्रेसी नेता व ईट भट्ठा मालिक मिंटू गर्ग पर केस दर्ज कर गिरफ्तार किया जाए। - रणजीत गहरी, लोकजनशक्ति पार्टी।

आयोग के पास की कंप्लेंट

लोक इंसाफ पार्टी के जतिंदर सिंह भल्ला, बाबा हरदीप सिंह व आम आदमी पार्टी के राकेश रिंकू, समाज सेवी गुरविंदर शर्मा ने कहा कि पूरे मामले की शिकायत सीएम के साथ मानवाधिकार आयोग के पास की गई है। इसमें शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने वाले मजदूरों पर लाठीचार्ज करने, अवैध हिरासत में रखकर मजदूरों की पिटाई करने और बुजुर्ग महिला को बेरहमी से पीटने वाले पुलिस कर्मचारियों व अधिकारियों के खिलाफ बिना देरी कानूनी कार्रवाई की मांग की गई है।

कार्रवाई से बचने को झूठ बोल रहे पुलिस वाले

पुलिस सरेआम झूठ बोल रही है। वायरल वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि पुलिस मजदूरों पर अत्याचार कर रही है और महिला को पीट रही है। 3 लोगों को पकड़कर थाने में लेकर गए, जहां उन्हें जमकर पीटा। दो लोगों की उंगलिया भी टूट गई और शरीर पर गहरे जख्म है। अब पुलिस के कर्मचारी कार्रवाई से बचने के लिए अस्पताल में दाखिल होकर झूठ बोल रहे हैं। - तरसेम सिंह जोड़ा, नेता, ईंट भट्टा यूनियन।

वीडियो वायरल फिर भी डीएसपी को लिखित शिकायत का इंतजार

मेरे पास अभी तक दूसरे पक्ष ने किसी तरह की लिखित शिकायत नहीं की है। कुछ पुलिस कर्मचारी गंभीर हालत में है जिससे वह बयान देने में असमर्थ है। बयान लेने के बाद बनती कार्रवाई होगी।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top