Select location to see news around that location.Select Location

युवती की हत्या कर: दोनों आंखें फोड़ी, शव बोरी में डालकर खेत में फेंका

युवती की हत्या कर: दोनों आंखें फोड़ी, शव बोरी में डालकर खेत में फेंका


पटियाला के दक्षिणी बाईपास फ्लाईओवर के पास खेत में मिली लाश

पटियाला. 25 साल के लगभग उम्र की युवती का बुधवार को सनौर रोड पर दक्षिणी बाइपास के पास खेतों में बोरी बंद शव मिला। किसी ने बारिश के मौसम का फायदा उठाकर बाइपास ओवरब्रिज से लगभग 25 फीट ऊंचाई से इसे गिराया है। पुलिस पहली नजर में इसे हत्या मान रही है। क्योंकि लाश को बुरी तरह से क्षत-विक्षत किया गया है।

डॉक्टरों के अनुसार चेहरे पर पत्थर मारकर दोनों आंखें फोड़ी गई हैं। पहचान छुपाने के लिए न केवल उसके चेहरे को केमिकल से जलाया गया है। बोरी से लाश निकालने वाली महिला पुलिस कर्मियों ने बताया कि गला घोंटने का भी अंदेशा है क्योंकि चुनरी को 10 बार लपेटकर गला घोंटा गया है।

मंगलवार देर शाम जब खेत में फसल देखने गए मालिक को सड़न की बदबू आई तो उसने बोरी को देखा और पुलिस को सूचित किया। सदर पुलिस ने मौके पर पहुंच शव को कब्जे में लेकर राजिंदरा अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। पुलिस शव की पहचान में लगी है। पहचान के बाद ही पोस्टमार्टम किया जाएगा।

बारदाने की बोरी में डालकर फेंकी गई थी लाश :

भास्कर टीम जब राजिंदरा की मोर्चरी में पहुंची और युवती की पहचान के लिए रखी निशानियों को देखा तो इनमें दो ऐसे कड़े मिले जिनमें से एक पर मीरा-राम लिखा हुआ था। इससे पुख्ता होता है कि युवती नजदीक के ही किसी इलाके की हो सकती है। क्योंकि ऐसा कड़ा पहनने की प्रथा केवल संगरूर और पटियाला जिलों के पुआद इलाके और आस-पास के गांवों में है। यह कड़ा विशेषकर ससुराल पक्ष की ओर से होने वाली दुलहन को पहनाया जाता है। इससे यह बात भी पुख्ता होती है कि या तो युवती की मंगनी हो चुकी थी या फिर वह शादीशुदा थी। पुलिस कड़े के आधार पर दोनों जिलों के सभी थानों को सूचित कर चुकी है।

इसके साथ ही जिस बोरे में लाश मिली वह बारदाने का बोरा है। पुलिस का मानना है कि हो सकता है कि कातिल किसी मंडी के नजदीक रहने वाले हैं क्योंकि ऐसा बोरा मंडियों के नजदीक ही मिल पाता है आम नहीं मिलता। इसे लेकर पुलिस ने दाना मंडियों के आस-पास के क्षेत्रों में भी पूछताछ शुरू कर दी है। इसके साथ पुलिस ने क्षेत्र के थानों में गुमशुदा लोगों को लेकर मिली शिकायतों पर भी गौर करना शुरू किया है ताकि कहीं से पहचान हो सके।

अंदेशा: 3-4 दिन पुरानी है लाश

खेतों में बोरी बंद लाश की सूचना मिलते ही सदर पुलिस खेत में पहुंची। बोरी से शव को निकाल आस-पास के लोगों से पहचान करवाई गई लेकिन युवती की पहचान नहीं हो पाई। बोरी में से बदबू आ रही थी जिससे पुलिस को अंदेशा है कि लाश 3 से 4 दिन पहले फेंकी गई है। या फिर मारने के तीन-चार दिन बाद बारिश के मौसम का फायदा उठाकर आज फेंकी गई है। फिलहाल पुलिस ने फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट्स टीम को बुलाकर सैंपल जुटाए हैं। इन सैंपल के आधार पर आगे की जांच की जाएगी। दावा है कि कातिलों का जल्द पता लगा लिया जाएगा।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top