Select location to see news around that location.Select Location

गोल मार्केट के एनपी बंगाली गर्ल्स स्कूल की घटना, दूसरी क्लास की बच्ची से दुष्कर्म

गोल मार्केट के एनपी बंगाली गर्ल्स स्कूल की घटना, दूसरी क्लास की बच्ची से दुष्कर्म

दूसरी क्लास की बच्ची से ज्यादती मामला: आरोपी को देख रोने लगी मासूम, बोली- अंकल मुझे मार डालेंगे

गोल मार्केट के एनपी बंगाली गर्ल्स स्कूल की घटना, एनडीएमसी ने स्कूल हेडमिस्ट्रेस व क्लास टीचर को सस्पेंड किया

आरोपी इलेक्ट्रिशियन जिस जूनियर इंजीनियर के अधीन था, वह भी बर्खास्त

नई दिल्ली. मंदिर मार्ग इलाके के गोल मार्केट स्थित एनपी बंगाली गर्ल्स स्कूल में दूसरी क्लास की बच्ची से दुष्कर्म के मामले में नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) ने आरोपी इलेक्ट्रिशियन राम आसरे (50) के साथ ही स्कूल की हेड मिस्ट्रेस संतोष रावत, क्लास टीचर शिखा और असिस्टेंट इंजीनियर तुलसी राम को लपरवाही बरतने के आरोप में सस्पेंड कर दिया है।

इनके अलावा एक जूनियर इंजीनियर सौरभ बिष्ट को भी बर्खास्त किया गया है। राम आसरे सौरभ के अधीन ही काम करता था। दूसरी तरफ शुक्रवार को पुलिस बच्ची को लेकर स्कूल पहुंची और सभी कर्मचारियों को लाइन में खड़ा कर पहचान कराई। बच्ची राम आसरे को देखकर रोने लगी और बोली- अंकल मुझे मार देंगे। शिनाख्त के बाद आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। घटना के विरोध में अभिभावकों ने स्कूल में प्रदर्शन भी किया। सोमवार को अभिभावकों और स्कूल अधिकारियों के बीच बैठक होगी।

चहकते हुए स्कूल जाती थी, अब स्कूल के नाम से ही कांप उठती है:बच्ची के दादा जी ने आंसू पोछते हुए बताया कि कभी हंसी-खुशी स्कूल जाने वाली उनकी बच्ची अब स्कूल के नाम से ही कांप उठती है, रोने लगती है। वह एक ही बात कहती है...मां मैं स्कूल नहीं जाऊंगी, अंकल मुझे मार देंगे। सिर्फ बच्ची ही नहीं पूरा परिवार सदमे में है। उनके मुताबिक हर दिन स्कूल से आने के बाद सबसे पहले नमस्ते करती थी, उसके बाद ही बैग उतारती थी। लेकिन गुरुवार को उसने न तो नमस्ते की और ना ही मुझसे बात की। मैं समझ गया था कि आज मेरी पोती के साथ स्कूल में कुछ हुआ है। मैनें पूछा भी कि बेटा आज क्या हुआ, मुझसे बात क्यों नहीं की। तो उसने केवल इतना कहा कि दादा जी तबियत ठीक नहीं है और बिना कपडे बदले ही लेट गई। खाना भी नहीं खाया। शाम को जब उसके पापा आए तो भी उससे बात नहीं की और गुमसुम ही रही। देर रात जब दर्द ज्यादा हुआ तो रोने लगी। फिर उसकी मम्मी ने देखा तो प्राइवेट पार्ट से ब्लीडिंग हो रही थी। इसके बाद उसे अस्पताल लेकर गए। वहां डॉक्टरों ने इलाज के दौरान बताया कि बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ है। -जैसा कि भास्कर के धर्मेंद्र डागर को बताया

पिछले साल ही हटाया था मेल स्टाफ, अब पूरी तरह एंट्री बैन की :एनडीएमसी ने अप्रैल 2017 में ही स्कूल से पुरुष स्टाफ को हटा दिया था। इसमें टीचर, चपरासी, गार्ड आदि शामिल थे। हालांकि माली, इलेक्ट्रिशियन जैसा स्टाफ स्कूल में आते-जाते रहते थे। हादसे के बाद एनडीएमसी ने गर्ल्स स्कूल में पुरुष स्टाफ की एंट्री पूरी तरह बैन कर दी है। एनडीएमसी सचिव गीताली तारे के मुताबिक गर्ल्स स्कूल में पढ़ाई के दौरान किसी भी तरह का निर्माण, मरम्मत या बिजली का काम नहीं होगा। किसी भी विभाग का पुरुष कर्मचारी स्कूल में दाखिल नहीं होगा। बहुत इमरजेंसी होने पर सुपरविजन में एंट्री होगी। काम होते ही उसे बाहर कर दिया जाएगा।

सिर्फ क्लासरूम में लगे हैं कैमरे:एनडीएमसी के स्कूलों की निगरानी के लिए अभी तक क्लास रूम और बरामदों में ही सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। मगर अब स्कूल के हर हिस्से में सीसीटीवी कैमरे लगाएंगे। यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि एनडीएमसी के स्कूलों के एंट्री और एक्जिट गेट भी सीसीटीवी की निगरानी में हों।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top