Select location to see news around that location.Select Location

हत्या के लिए सुपारी देने वाले प्रॉपर्टी डीलर और उसके दो साथी गिरफ्तार


मर्सिडीज कार हार्ले डेविडसन बाइक, चंडीगढ़ में तीन फ्लैट और काफी जमीन है आरोपी प्रॉपर्टी डीलर के पास

स्वर्ण सिंह से 4 करोड़ रुपए ले 20 एकड़ जमीन की डील करवाई थी, फिर डेढ़ करोड़ दे बनवाई फर्जी फर्द

पटियाला। सीनियर आईएएस अफसर चरुण रुज्म के ससुर स्वर्ण सिंह की हत्या का मामला सुलझा लिया गया है। इसी कड़ी में पुलिस ने हत्या के लिए सुपारी देने वाले प्रॉपर्टी डीलर और उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या की वजह करोड़ों रुपए की डील संबंधी धोखाधड़ी से पर्दा उठने का शक है। पुलिस के मुताबिक हत्थे चढ़ चुका जगतार नामक आरोपी प्रॉपर्टी डीलर लग्जरी चीजों का शौकीन है और काफी जायदाद धोखे से ही कमा रखी है।

हत्या का मामला 18 नवंबर का है। चंडीगढ़ में सेटल हो चुके सीनियर आईएएस अफसर वरुण रुज्म के ससुर स्वर्ण सिंह का शव गाड़ी में पाया गया था। मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में पटियाला के एसएसपी मनदीप सिंह सिद्धू ने बताया कि हत्या के मुख्य सूत्रधार जगतार सिंह ने स्वर्ण सिंह से 4 करोड़ रुपए लेकर 20 एकड़ जमीन की डील करवाई थी। पैसे लेकर आरोपी ने स्वर्ण सिंह को जमीन की जाली फर्द बनाकर दी और खुद जमीन को ठेके पर लेकर पैसे देने की बात की। इतना ही नहीं सोहन सिंह के रिश्तेदार हरबंस सिंह से डेढ़ करोड़ रुपए लेकर जमीन की जाली फर्द दी। स्वर्ण सिंह को जब जगतार पर शक होना शुरू हुआ तो उन्होंने पटवारियों से जमीन की जानकारी लेनी शुरू की। जगतार ने हेरा-फेरी से पर्दा उठता देख स्वर्ण सिंह की हत्या की साजिश रची। हत्या के लिए उसने हरियाणा के गांव पिलखनी, दुखेड़ी जिला अंबाला के तीन लोगों से संपर्क किया और उन्हें स्वर्ण सिंह की हत्या की सुपारी दी। अब जगतार सिंह और उसके दो साथी पुलिस के हत्थे चढ़ गए हैं। पुलिस के मुताबिक आरोपी जगतार सिंह लग्जरी चीजों का शौकीन है जिसके पास मर्सिडीज कार हार्ले डेविडसन बाइक, चंडीगढ़ में तीन फ्लैट और काफी जमीन है, जो उसने ठगी के पैसे से जुटाई है।

हर महीने गांव में धार्मिक कार्यक्रम में आते थे स्वर्ण सिंह: मूल रूप से पटियाला जिले के गांव गांव उक्सी सैणियां के रहने वाले स्वर्ण सिंह कुछ बरस पहले यूनियन टेरीटरी कैडर के सुपरिंटेंडेंट इंजीनियर पद से रिटायर हुए। इसके बाद वह परिवार के साथ चंडीगढ़ में रहने लग गए थे, लेकिन हर महीने गांव के धार्मिक स्थान पर माथा टेकने आते थे। 18 नवंबर को भी स्वर्ण सिंह माथा टेकने के बाद कार में वापस लौट रहे थे कि किसी ने उनकी गोलियां मारकर हत्या कर दी। स्वर्ण सिंह के कान, सिर व छाती पर तीन गोलियां मारी गई। हत्या के बाद कातिलों ने निशानी के तौर पर कार की चाबी निकाल ली और चंडीगढ़ जाकर जगतार सिंह को दी। वहीं राजपुरा-सरहिंद नेशनल हाईवे के नजदीक गांव उक्सी सैणियां के पासखदानों में एक स्विफ्ट कार गिरी हुई थी। इसमें शव देखकर राहगीरों ने सदर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि कार सवार को तीन गोलियां मारी गई हैं। पहचान पत्र से पता चला कि मृतक चंडीगढ़ निवासी स्वर्ण सिंह (69) हैं और सीनियर आईएएस अधिकारी वरुण रुजम के ससुर हैं।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top