Select location to see news around that location.Select Location

शादीशुदा महिला से शादी करने पर महिला के परिजनों ने युवक को ईंट-पत्थर से पीटकर किया अधमरा, फिर जिंदा जलाया

शादीशुदा महिला से शादी करने पर महिला के परिजनों ने युवक को ईंट-पत्थर से पीटकर किया अधमरा, फिर जिंदा जलाया


पांच महीने पहले गांव की शादीशुदा महिला को भगा ले गया था श्रवण

पुलिस के दबाव में कोर्ट में पेश हुए थे दोनों, कोर्ट ने दी थी साथ रहने की अनुमति

सीतामढ़ी. सहियारा थाना क्षेत्र के ओरलहिया गांव में शादी-शुदा महिला से शादी करने पर महिला के परिजनों ने युवक को पहले ईंट-पत्थर से बेरहमी से कुचला फिर जिंदा जला दिया।

साक्ष्य छुपाने की नीयत से शव को जलाने के लिए ईंख के खेत में ले गए। इसी दौरान घटना की सूचना मिलने पर पुलिस ने पहुंच कर शव को कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। घटना के बाद गांव में तनाव है। मृतक की पहचान किशोरी महतो के 25 वर्षीय पुत्र श्रवण महतो के रूप में हुई है।

मृत श्रवण का बड़ा भाई दुर्योधन महतो के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें ग्रामीण मिश्री लाल महतो, हरिदेव महतो, नारायण महतो, लालबाबू महतो, मुकेश महतो, देव नारायण महतो, सुधीर कुमार, रमेश कुमार, राहुल कुमार, रवि कुमार, राजू कुमार, अमित कुमार, कपलेश महतो, गौरी कुमार व वीरेंद्र भगत को आरोपित किया गया है।

पहली पत्नी को छोड़ ग्रामीण महिला से की थी शादी

दुर्योधन ने पुलिस को बताया कि उसके भाई की पहली शादी पांच साल पहले रामनगरा गांव निवासी महेंद्र महतो की बेटी के साथ हुई थी। पहली शादी से दो बेटियां हैं। इसी बीच उसे गांव में ही तीन बच्चों की मां मिश्रीलाल महतो की पत्नी दुरतीया देवी से प्यार हो गया। इस बात की जानकारी उसकी पहली पत्नी को हुई। इसके बाद वह अपने मायके चली गई।

पांच महीने पहले दुरतीया को भगा कर ले गया था दिल्ली

श्रवण दिल्ली में चालक का काम करता था। पांच महीने पहले वह दुरतीया को भगा कर दिल्ली ले गया। इसके बाद दुरतीया के ससुर हिरदेव महतो ने थाने में बहू के अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसमें श्रवण को आरोपित किया गया था। पुलिस व कोर्ट के बढ़ते दबाव के कारण श्रवण दो माह पहले सीतामढ़ी आया। कोर्ट में बयान दर्ज करवाया। दुरतीया ने श्रवण के साथ रहने की कोर्ट से गुहार लगाई। कोर्ट ने इजाजत दे दी।

घटना के बाद से गांव में दहशत, घर छोड़कर सभी आरोपी फरार

सहियारा थाना क्षेत्र के कोरलहिया गांव में एक युवक को जिंदा जला दिए जाने के बाद से दोनों पक्षों के बीच तनाव है। गांव के लोग दहशत में हैं। आरोपी अपने घरों से फरार हैं। तनाव को देखते हुए पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है। इस बीच परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया है।

थानाध्यक्ष संजीव कुमार ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया है। इस बीच पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए देर शाम गांव में छापेमारी की। सभी अपना घर छोड़ कर फरार हो गए हैं। कहा कि आरोपियों के रिश्तेदारों वो परिचितों समेत संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।

12 दिन पहले ही दुरतीया के साथ घर लौटा था श्रवण

12 दिन पहले दोनों अपने गांव ओरलहिया लौटे। दोनों यहीं रह रहे थे। एक दिसंबर को दुरतीया का पहला पति मिश्रीलाल महतो और ससुर हिरदेव महतो श्रवण के घर गए। वहां से दुरतीया को पकड़कर दोनों अपने घर ले गए और उसका मोबाइल छीन लिया। इस बात की जानकारी श्रवण को हुई तो वह मिश्रीलाल के घर गया व ग्रामीणों के सहयोग से उसे अपने घर वापस ले आया। आरोपियों ने दुरतीया को वापस कर दिया, लेकिन उसका मोबाइल रख लिया। श्रवण ने मोबाइल की मांग की तो कल आने की बात कह वापस लौटा दिया।

मोबाइल लाने गया तो घटना को दिया गया अंजाम

शनिवार की सुबह श्रवण मिश्रीलाल के यहां मोबाइल लेने गया। वहीं उसे पकड़कर ईंट पत्थर से पीट-पीट कर अधमरा कर दिया। इसके बाद केरोसिन छिड़ककर जिंदा जला दिया।

आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए की जा रही छापेमारी

थानाध्यक्ष संजीव कुमार ने कहा कि मृत श्रवण के भाई दुर्योधन के बयान पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। इसमें ग्रामीण महिला से शादी करने के कारण आक्रोश में घटना को अंजाम देने का आरोप लगाया गया है। फिलहाल सभी आरोपित फरार है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top