Select location to see news around that location.Select Location

गुरुकुल यौन शोषण के आरोपी वॉर्डन को जेल, मैजिस्ट्रेट के सामने हुई पेशी

गुरुकुल यौन शोषण के आरोपी वॉर्डन को जेल, मैजिस्ट्रेट के सामने हुई पेशी

रेवाड़ी- गुरुकुल यौन शोषण मामले में पुलिस ने वॉर्डन और 5 नाबालिग छात्रों को गिरफ्तार कर लिया है। नाबालिग आरोपियों को सोमवार रात के समय ही किशोर न्याय बोर्ड के सामने पेश किया गया। इसके बाद उन्हें बाल सुधार गृह हिसार भेज दिया गया है। वहीं, आरोपी वॉर्डन सचिन को मंगलवार को किशोर न्याय बोर्ड के प्रिंसिपल मैजिस्ट्रेट आशीष कुमार शर्मा के सामने पेश किया गया। मैजिस्ट्रेट ने आरोपी को जेल भेज दिया। इस मामले की अगली सुनवाई 11 सितंबर को होगी। गौरतलब है कि गुरुकुल भैयापुर लाढौत में रविवार को यौन शोषण का मामला सामने आया था। गुरुकुल के छात्रों का सीनियर छात्रों ने यौन शोषण किया था। यह मामला तब सामने आया था, जब रक्षाबंधन के मौके पर परिजन बच्चों से मिलने के लिए पहुंचे थे। इसके बाद एक पीड़ित बच्चे की मां की शिकायत के आधार पर आरोपी छात्रों और गुरुकुल प्रबंधन के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ था। एसपी जशनदीप सिंह रंधावा ने बताया कि गुरुकुल के मुख्य वार्डन बौंद कला निवासी सचिन के अलावा 5 नाबालिग आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पीड़ित बच्चों का मेडिकल कराया गया। मेडिकल रिपोर्ट में यौन शोषण से इनकार नहीं किया जा सकता। इसके बाद पीड़ित बच्चों को परिजनों के हवाले कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि गुरूकुल के और छात्रों के बयान भी रेकॉर्ड किए जाएंगे। वहीं, बचाव पक्ष के वकील नसीब पंघाल ने बताया कि आरोपी नाबालिग छात्रों की जमानत पर 30 अगस्त को सुनवाई होगी। जिला कलेक्टर डॉ. यश गर्ग ने गुरुकुल भैयापुर लाढौत में बच्चों के साथ यौन शोषण की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा कि रोहतक के उन सभी हॉस्टल्स में काउंसलिंग कराई जाएगी, जहां अलग-अलग उम्र के छात्र रह रहे हैं। उन्होंने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इन हॉस्टल्स में बाकायदा प्रफेशनल काउंसलर जाएंगे और छात्रों की काउंसलिंग करेंगे ताकि भविष्य में इस प्रकार की घटना की नौबत न आए। किशोर न्याय बोर्ड के प्रिंसिपल मैजिस्ट्रेट के सामने पेश किए जाने से पहले आरोपी सचिन ने अहम खुलासा किया। मीडिया के कैमरे के सामने कहा कि गुरुकुल में एक छात्र को कुकर्म करते हुए पकड़ा था। छात्र से पूछताछ में और आरोपी छात्रों के नाम सामने आए थे। इस घटना की सूचना फौरन गुरुकुल आचार्य और प्रिंसिपल को दे दी थी। इसके बाद आचार्य और प्रिंसिपल के आदेश पर सभी छात्रों के हॉस्टल बदल दिए गए थे। रक्षाबंधन के दिन जब आरोपी छात्रों की लिस्ट मांगी गई थी, तो वह उन्होंने सौंप दी। इस दिन दोपहर बाद पीड़ित छात्रों के परिजन गुरुकुल पहुंच गए और हंगामा शुरू कर दिया। इस पूरे मामले में वह बेकसूर है। हालांकि, मैजिस्ट्रेट के सामने पेशी के बाद जब आरोपी वॉर्डन सचिन बाहर आया, तो अपने बयान से पलट गया। मीडिया के कैमरे के सामने उसने कहा कि छात्रों में सिर्फ झगड़े की बात सामने आई थी। वह खुद इसमें कहीं भी शामिल नहीं है। वह तो ऑफिस से घर और घर से ऑफिस जाता था। वह सच्चाई का साथ देगा और उसे कानून पर पूरा भरोसा है।


Madhu Dheer

Madhu Dheer

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top