Select location to see news around that location.Select Location

पानी को लेकर विवाद में किसान की हत्या, ग्रामीणों ने पोस्टमाॅर्टम के लिए शव ले जाने पर किया हंगामा


पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों को शांत कराया

ग्रामीणों ने कहा- आरोपियों को हमारे हवाले किया जाए

डिंडौरी. डिंडौरी जिले के समनापुर थाना क्षेत्र अंतर्गत चांदरानी गांव में पानी के विवाद को लेकर हत्या का मामला सामने आया है। दिनदहाड़े हुई निर्मम हत्या के बाद गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है।

रविवार को सुबह मृतक राम मिलन खेत में सिंचाई के लिए पाइप के जरिए पानी ले रहा था, तभी गांव के दूसरे लोग आए और उन्होंने पानी अपने खेत में लगाने से मना किया, इस पर दोनों पक्षों में विवाद होने लगा। विवाद इतना बढ़ गया कि आरोपियों ने राममिलन पर हमला कर दिया और खेत में दौड़ा दौड़ाकर लाठी और डंडों से पीटना शुरू कर दिया, वह चोट ज्यादा लगने से अचेत हो गया तो हमलावर आरोपी वहां से भाग गए। बाद में मृतक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

घटना के वक्त मृतक की पत्नी भी मौजूद थी और वो उसने अपने पति को बचाने की कोशिश भी कि लेकिन आरोपियों ने उसकी पत्नी की भी जमकर पिटाई कर दी और घटना के बाद मौके से फरार हो गये। घटना के वक्त चीख पुकार सुनकर आसपास के खेतों में मौजूद ग्रामीणों ने भी बीच बचाव करने का प्रयास किया, लेकिन आरोपियों के आगे किसी की नहीं चली। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई है, घटनास्थल पर हजारों की संख्या में ग्रामीण मौजूद हैं। उन्होंने शव रखकर पुलिस के सामने प्रदर्शन शुरू कर दिया।

पोस्टमाॅर्टम के लिए शव ले जाने पर हंगामा : घटना को लेकर आक्रोशित ग्रामीणों ने पोस्टमाॅर्टम के लिए शव ले जाने पर विरोध जताया। वह शव वाहन के सामने विरोध करने लगे। ग्रामीणों की मांग थी कि आरोपियों को पकड़कर उनके हवाले कर दिया जाए। माहौल बिगड़ता देख भारी पुलिस बल लेकर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाईश दी, तब घंटों बाद ग्रामीण पोस्टमार्टम के लिये राजी हुए। मौके पर पहुंचे एडीशनल एसपी शिवकुमार सिंह ने घटनास्थल का जायजा लिया।


Vyomendra kumar singh

Vyomendra kumar singh

व्योमेन्द्र सामाजिक एवं छात्र राजनीति में रूचि रखने वाले शालीन और यायावरी व्यक्तित्व के धनी है। कृषि स्नातक में गोल्ड मेडलिस्ट लोकल न्यूज़ ऑफ़ इंडिया के इस युवा साथी के दिल में ग्रामीण अंचल का सर्वांगीड़ विकास और उच्च मूल्यों पर आधारित वैचारिकता वाला जीवन यापन करने की ललक है। आज व्योमेन्द्र बड़ी सहज और सरल भाषा में कृषि के गूढ़ बातो को पटल पर रखते है और सबका साथ सबका विकास की सोच के साथ सभी के प्रयासों का श्रेय देते है। परास्नातक की पढ़ाई कर रहे व्योमेन्द्र के दिल में पत्रकारिता के माध्यम से समाज की भलाई और नयी सोच व् उम्मीद की अलख लोगो के दिलो में जगाने की है


Share it
Top
To Top