Select location to see news around that location.Select Location

नोएडा: बड़ी कंपनियों में नौकरी दिलाने के नाम पर करते थे धोखाधड़ी, 8 गिरफ्तार

नोएडा: बड़ी कंपनियों में नौकरी दिलाने के नाम पर करते थे धोखाधड़ी, 8 गिरफ्तार


फर्जी ऑफर लेटर देकर 200 से ज्यादा लोगों से ठगी करने वाले कॉल सेंटर का खुलासा

नोएडा के सेक्टर-63 में चल रहा था फर्जी कॉल सेंटर

नोएडा. बड़ी कंपनियों में नौकरी दिलाने का फर्जी ऑफर लेटर देकर ठगी करने वाले कॉल सेंटर का खुलासा हुआ है। नोएडा पुलिस ने सेक्टर-63 में छापेमारी करके इस गैंग के सरगना समेत 8 शातिरों को गिरफ्तार किया है। यह गैंग देश भर के बेरोजगारों का किसी बड़ी ऑनलाइन जॉब दिलाने वाली कंपनी से डेटा चुरा लेते थे और फिर फर्जी कंपनी के जरिए ठगी को अंजाम देते थे। अब तक यह गैंग 200 से ज्यादा बेरोजगारों से लाखों रुपए की ठगी कर चुका है। बड़ी कंपनियों का ऑफर लेटर देकर सिक्योरिटी मनी और डॉक्युमेंट वेरिफिकेशन कराने के नाम पर जालसाज हर कैंडिडेट से 40 से 45 हजार रुपए ले लेते थे।

डीएसपी राजीव कुमार ने बताया कि साइबर सेल की मदद से फेज-3 थाने की पुलिस ने सेक्टर-63 में छापेमारी कर फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा किया। इसे विनटेक जॉब्स नाम से चलाया जा रहा था। पुलिस ने मौके से गैंग लीडर संतोष गुप्ता समेत कर्मचारी मोहन कुमार, परितोष कुमार, जितेंद्र कुमार, विक्टर, हिमांशु, आशीष जावला व जसविंदर को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 7 कंप्यूटर, 18 मोबाइल, एक लैपटॉप और 15 एटीएम कार्ड बरामद किए हैं।

वेबसाइट पर सेक्टर-52 का पता दे करते थे फर्जीवाड़ा :

सीओ राजीव कुमार ने बताया कि फर्जी कॉल सेंटर अपनी www.vintechjobs.com नाम से एक वेबसाइट भी बनाई हुई थी। हालांकि, इस वेबसाइट पर कंपनी का पता सेक्टर-52 दिया गया था, जबकि यह सेक्टर-63 में चल रही थी। गैंग का लीडर संतोष कुमार पहले एक नामी जॉब पोर्टल में काम करता था।

यहीं से इसने काफी युवकों का डेटा ले लिया था। इसके अलावा नामी कंपनियों में काम कर चुके युवकों को भी लालच देकर उनसे लोगों का डेटा मंगा लेता था और उन्हें फिर अपने यहां नौकरी पर रख लेता था। इसके बाद इंटरनेट कॉलिंग के जरिए नौकरी लगवाने का झांसा देकर जाल में फंसाते थे।

एनसीआर के बाहर के लोगों को जाल में फंसाते थे :

गैंग दिल्ली-एनसीआर के बजाय दक्षिण भारत व अन्य राज्यों में रहने वाले युवकों को नौकरी दिलाने का झांसा देकर जाल में फंसाते थे। ऐसा इसलिए करते थे ताकी कोई वेबसाइट पर दिए गए पते को वेरिफाई करने नोएडा न पहुंच जाए। आईटी कंपनियों से लेकर अन्य कंपनियों का ऑफर लेटर भेज रजिस्ट्रेशन, डॉक्युमेंट वेरिफिकेशन, इंटरव्यू समेत अन्य काम के नाम पर पैसे अलग-अलग अकाउंट में मंगा लेते थे।

अभी 7 अन्य फर्जी कॉल सेंटर पर हो रही छापेमारी :

नोएडा में फर्जी कॉल सेंटर चलाने वालों के खिलाफ अभियान जारी है। पुलिस की 8 टीमें कार्रवाई कर रही हैं। अभी 7 अन्य स्थानों पर पड़ताल की जा रही है। जल्द ही इन स्थानों पर होने वाले फर्जीवाड़े का खुलासा किया जाएगा।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top