Select location to see news around that location.Select Location

रेलवे विजिलेंस ने इंजीनियर को रिश्वत लेते पकड़ा; दो माह बाद सीबीआई में केस दर्ज

रेलवे विजिलेंस ने इंजीनियर को रिश्वत लेते पकड़ा; दो माह बाद सीबीआई में केस दर्ज

रेलवे विजिलेंस ने इंजीनियर को रिश्वत लेते पकड़ा; दो माह बाद सीबीआई में केस दर्ज कराया

विजिलेंस की इस कार्रवाई से इंजीनियर गिरफ्तारी से बच गया, गवाह बदल गए तो काम नहीं आएगी विजिलेंस की कार्रवाई

जोधपुर. रेलवे की जयपुर विजिलेंस ने उदयपुर के सीनियर सेक्शन इंजीनियर अजय प्रताप विक्रम को 28 हजार रुपए की रिश्वत लेते दो महीने पहले पकड़ा था, मगर उसे सीबीआई के हवाले नहीं किया इसलिए वह गिरफ्तारी से बच गया। बाद में जब नाॅर्थ-वेस्ट रेलवे के जनरल मैनेजर ने आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने के निर्देश दिए तो विजिलेंस इंस्पेक्टर ने सीबीआई में एफआईआर दर्ज कराई है।

सीबीआई के पास यह अनोखा केस आया है जो मामला तो रिश्वत लेने का है, परंतु बरामदगी किसी और ने ही की है। इस तरह पूरा केस विजिलेंस की रिपोर्ट पर टिक गया है, इसमें गवाह बदल गए तो चार्जशीट करना मुश्किल हो जाएगा।

दो महीने तक कार्रवाई पर कोई एक्शन नहीं हुआ:सीबीआई ने बताया कि कैरिज एंड वैगन डिपो उदयपुर के लीनन ठेकेदार ने जयपुर में चीफ विजिलेंस ब्रांच में 11 मई को शिकायत दी थी। उसने बताया था कि सीनियर सेक्शन इंजीनियर अजय प्रताप विक्रम उसके पेडिंग बिल पास करने के लिए 30 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा है। ब्रांच ने 24 मई को विजिलेंस जांच शुरू की। जांच के दौरान शिकायत का सत्यापन कराया तो अजय प्रताप 28 हजार रुपए लेने को तैयार हुआ, फिर विजिलेंस ने वह पैसा दिलवाया और उसके पास से बरामदगी भी दिखाई। दो महीने तक इस कार्रवाई पर कोई एक्शन नहीं हुआ और जब रिपोर्ट रेलवे जीएम के पास पहुंची तो उन्होंने सीबीआई में केस दर्ज कराने को कहा। इस पर विजिलेंस इंस्पेक्टर रविंद्र मिश्रा ने सीबीआई को एफआईआर दी जो बुधवार को दर्ज हुई है।

गिरफ्तारी से यूं बच गया इंजीनियर:विजिलेंस टीम के पास रिश्वत लेने वाले इंजीनियर को गिरफ्तार करने के अधिकार नहीं हैं। यदि सीबीआई को साथ लेते तो वह गिरफ्तार होता और चार्जशीट भी तय हो जाती। अब सीबीआई के पास सिर्फ विजिलेंस रिपोर्ट है। उसमें जिन गवाहों को बताया गया है उनके बयान होंगे। यदि बयान पुख्ता नहीं हुए तो इंजीनियर के खिलाफ आरोप साबित करना भी मुश्किल हो जाएगा।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top