Select location to see news around that location.Select Location

नवजात को 50 हजार में खरीदने वाले दंपती पर एफआईआर, दो अन्य बच्चों की तलाश में छापे

नवजात को 50 हजार में खरीदने वाले दंपती पर एफआईआर, दो अन्य बच्चों की तलाश में छापे

नवजात को 50 हजार में खरीदने वाले दंपती पर एफआईआर, दो अन्य बच्चों की तलाश में छापे

कांटाटोली में पुलिस को चकमा देकर दंपती भागा, कोकर में दंपती ठिकाने से गायब

रांची.मिशनरीज ऑफ चैरिटी से 50 हजार में नवजात को खरीदने वाले मोरहाबादी के हरिहर सिंह रोड निवासी दंपती ओमेंद्र कुमार सिंह और दीपधारी देवी के खिलाफ सोमवार को कोतवाली थाना में एफआईआर दर्ज की गई। हालांकि वरीय अधिकारियों के सुपरविजन तक दंपती की गिरफ्तारी नहीं होगी। मिशनरी ऑफ चैरिटी ईस्ट जेल रोड की सिस्टर कोनसीलिया और वहां काम करने वाली अनिमा इंदवार ने जनवरी में एक दंपती को नवजात बेचा था। उस बच्चे को कोतवाली पुलिस ने देर शाम दंपती के घर से सकुशल बरामद कर लिया।

बच्चा खरीदने वाला दंपति चकमा देकर भाग निकला :पुलिस ने उसकी मां को भी खोज निकाला है। वहीं बिक्री के शिकार दो अन्य बच्चों की तलाश में पुलिस ने कांटाटोली और कोकर में छापेमारी की। हालांकि कांटाटोली में बच्चा खरीदने वाला दंपती पुलिस को चकमा देकर भाग गया, जबकि कोकर में जिस दंपती ने बच्चा खरीदा था, वह अपने ठिकाने पर नहीं मिला।

अनिमा ढूंढ़ती थी ग्राहक दंपती, सिस्टर करती थी सौदा:मोरहाबादी के दंपती ने पुलिस को बताया कि मिशनरीज ऑफ चैरिटी ईस्ट जेल रोड में बच्चा देने की बात किसी ने बताई थी। अनिमा इंदवार से मिला, उसने सिस्टर कोनसीलिया से संपर्क कराया। कोनसीलिया ने अनिमा के साथ मिलकर बच्चे को उन्हें सौंपा। दीपधारी को जो बच्चा दिया, वह चान्हो की अविवाहित मां का बच्चा था। इसके लिए अनिमा ने 50 हजार रुपए लिए, जिनमें आधा पैसा सिस्टर को दिया गया।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top