Select location to see news around that location.Select Location

पति की दूसरी शादी से दुखी महिला का आत्मघाती कदम; 3 बच्चों सहित खाया जहर

पति की दूसरी शादी से दुखी महिला का आत्मघाती कदम; 3 बच्चों सहित खाया जहर

3 बच्चों सहित महिला ने खाया जहर, जिंदा बचे बेटे ने बताया- मां ने नाना से मंगाई थी गेहूं की गोली

पति की दूसरी शादी से दुखी महिला के बड़े बेटे ने उगल दी थी गोली, छोटे भाई-बहन समझ न सके यह क्या है।

शिवपुरी. बैराड़ कस्बे में रहने वाली सुनीता (30) ने पति रामअवतार शिवहरे द्वारा दूसरी शादी करने की खबर से क्षुब्ध होकर आत्मघाती कदम उठा लिया। उसने पहले अपने बेटों मनीष (11), भोला (6) व बेटी लाली (8) को गेहूं में रखने वाली गोलियां खिलाईं फिर खुद भी खा लीं। जब चारों की तबीयत खराब हुई तो पड़ोसियों की सूचना पर पुलिस ने इन्हें एबुलेंस से अस्पताल भेजा। यहां सुनीता सहित भोला व लाली की मौत हो गई। जबकि बड़े बेटे मनीष को गंभीर हालत में ग्वालियर रैफर किया गया है।

जिंदा बचे बेटे ने बताया- मां ने नाना से मंगाई थी गेहूं की गोली

- तीन बच्चों सहित जहर खाने वाली सुनीता के बड़े बेटे मनीष ने बताया कि ईसागढ़ से पापा का मंगलवार की शाम 4 बजे फोन आया था। मम्मी से बात करने के बाद पापा ने मुझसे कहा था कि अच्छे से रहना। दिन में ही नाना मुन्नालाल भी हमारे घर आए थे। उनसे मम्मी ने कहा था कि-गेहूं में घुन पड़ गए हैं, बाजार से कीड़े मारने वाली दवा लाकर दे दो। नाना बाजार से दवा लेकर आए। इसके बाद मां ने उन्हें 100 रुपए देकर घर जाने के लिए कह दिया। नाना गांव निकल गए।

- नाना के जाने के बाद मां ने गेहूं में रखने वाली यही गोलियां पहले मुझे, भोला व लाली को खिलाई और बाद में खुद भी खा ली। मैंने गोली मुंह में ही रख ली और बाहर जाकर उगल दी। मुझे चक्कर आ रहे थे, अंदर जाकर देखा तो मां-भोलू व लाली की तबीयत भी खराब थी। तीन बच्चों सहित जहर खाने वाली सुनीता के बड़े बेटे मनीष का। इतना कहते-कहते मनीष रोने लगा।

- मनीष ने यह भी बताया कि-जब हम सबकी तबीयत बिगड़ी तो मोहल्ले के लोग आए और उन्होंने चाचा को बुला लिया। एंबुलेंस आ गई और हमें अस्पताल ले आए। मेरी तबियत अब ठीक है। मम्मी और पापा के बीच क्या बात हुई, मुझे पता नहीं है।

मायके वाले बोले-दामाद ने दूसरी महिला से कोर्ट मैरिज कर ली थी, इससे परेशान थी सुनीता

मायके पक्ष की तरफ से सुनीता द्वारा बच्चों को जहर खिलाकर आत्मघाती कदम उठाने के पीछे पति रामअवतार को कारण बता रहे हैं। सुनीता के चाचा महेश, भाई सहित अन्य परिजन का कहना है कि रामअवतार ने कोर्ट मेरिज कर ली है। दूसरी शादी के बाद सुनीता से तलाक लेना चाहता था। इसी से परेशान होकर सुनीता ने बच्चों को जहर खिला दिया और खुद भी जहर खाकर जान दे दी।

कपड़े सिलकर बच्चों को पढ़ा रही थी सुनीता

- मृतिका सुनीता का पति रामअवतार पुत्र बाबूलाल शिवहरे अशोकनगर जिले के ईसागढ़ कस्बे में शराब की दुकान पर सेल्समैन है। गुना के ठेकेदार की दुकान पर दो हजार रुपए प्रतिमाह और 100 रुपए प्रतिदिन भत्ते पर काम करता है।

- बच्चों की पढ़ाने सुनीता पिछले तीन-चार साल से बैराड़ में किराए से मकान लेकर रहती है। सुनीता गृहस्थी चलाने के लिए घर पर ही सिलाई मशीन चलाती थी। स्थानीय प्राइवेट स्कूल में मनीष कक्षा 8वीं, भोला व लाली कक्षा 2 में पढ़ते थे। इस बार मनीष पिता से नई साइकिल की मांग कर रहा था।

पुलिस जांच में खुलासा: ईसागढ़ में रामअवतार के पास आती थी महिला

- बैराड़ थाना प्रभारी ओपी आर्य का कहना है कि ईसागढ़ थाना पुलिस से संपर्क किया है। थाना प्रभारी यूएस मंडेलिया से पता चला है कि ईसागढ़ में रामअवतार जहां रहता था, वहां एक महिला का आना जाना था। संबंधित महिला के पति को इस बात की जानकारी लगी तो वह पत्नी को लेकर अथाईखेड़ा गांव चला गया।

- बैराड़ में कमरे काे शील कर दिया है। टीआई आर्य का कहना है कि मामलो में जांच शुरू कर दी है। लड़के के बयान लेने पुलिस ग्वालियर रवाना हो गई है।

मैंने नहीं की दूसरी शादी

मृतका के पति रामअवतार शिवहरे के मुताबिक, मेरा व सुनीता के बीच कभी-कभी छोटी-मोटी बातों को लेकर झगड़ा जरूर होता था, लेकिन मैंने किसी दूसरी महिला से शादी नहीं की। यह आरोप बिल्कुल गलत है।


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top