Select location to see news around that location.Select Location

प्रेमी के साथ घर बसाने के लिए महिला ने 8 साल के बेटे की करवा दी हत्या

बीमार पति को छोड़कर प्रेमी के साथ घर बसाने के लिए महिला ने 8 साल के बेटे को मरवा दिया

मासूम गिड़गिड़ाकर पूछता रहा-अंकल मुझे मार क्यों रहे हो तो हत्यारा बोला- तेरे कारण हम फंस जाएंगे

आराेपी महिला थाने में अचानक रोने लगती और यह दिखाने की कोशिश करती कि उसे अपने किए पर पछतावा है।

ग्वालियर. पति को लकवा होने के कारण प्रेमी के साथ घर बसाने के लिए एक महिला ने अपनी ही कोख से जन्मे बेटे की हत्या करवा दी। प्रेमी अपने दो दोस्तों के साथ बच्चे को शहर से 110 किमी दूर सबलगढ़ के बीहड़ में ले गया और वहां बच्चे की गला घोंटकर हत्या कर दी। बेटे विनीत की हत्या के आरोप में पुलिस ने महिला और उसके तीन साथियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पति को लकवा लगने के बाद बढ़ी थी संदीप से नजदीकियां:आठ साल पहले मोतीझील निवासी धर्मेंद्र शर्मा की शादी कुलैथ निवासी सपना से हुई थी। धर्मेंद्र एक फैक्टरी में सुपरवाइजर का काम करता था। धर्मेंद्र के तीन भाईयों के भी शिवनगर में अलग-अलग मकान हैं। दो साल पहले धर्मेंद्र को अचानक लकवा हो गया। बस यहीं से सपना ने उससे दूरी बनाना शुरू कर दिया और कुलैथ के ही निवासी संदीप जाटव से नजदीकियां बढ़ाने लगी। संदीप ने सपना की ससुराल के पास ही एक कमरा किराए पर ले लिया।

ऐसे खुला राज: सपना ने 14 जुलाई को बहोड़ापुर थाने में विनीत के अपहरण का मामला दर्ज कराया था। उसने जेठ और ससुराल के लोगों पर संदेह जताया। पूछताछ में सपना के जेठ और अन्य परिजन ने बताया कि इस मामले से सपना की ही भूमिका संदिग्ध है। पुलिस ने सपना के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल निकाली तो पता चला कि उसकी संदीप जाटव से लगातार बात हो रही थी। संदीप की तलाश की गई तो वह अपने घर से गायब मिला। उसके दोस्तों की मदद से संदीप पकड़ में आया। पुलिस ने सपना के अपराध कुबूलने की बात कहकर संदीप से पूछताछ की तो वह टूट गया। उसने पूरा घटनाक्रम कुबूल कर लिया।

हत्यारों के चंगुल से बचने के लिए जंगल में भागा था मासूम:आठ साल के मासूम विनीत को जब हत्यारे जंगल में ले गए तो वह भागने की कोशिश करने लगा। दो साथियों ने उसके हाथ-पैर पकड़े और तीसरा गला दबाने लगा। वह गिड़गिड़ाते हुए बोला कि अंकल मुझे क्यों मार रहे हो, मैंने क्या गलती की है तो संदीप ने यह कहते हुए गला घोंट दिया कि तेरे कारण हम फंसेंगे। हत्यारों को उस पर जरा भी रहम नहीं आया।

मां ने ही बेटे को तैयार कर हत्यारे के साथ भेजा था:पुलिस ने आरोपियों को पकड़ा तो उन्होंने बताया कि मासूम विनीत को पता ही नहीं था कि हम उसे हत्या करने ले जा रहे हैं। उसकी मां ही खुद उसे संदीप के पास छोड़कर गई थी। 13 जुलाई को दोपहर में सपना ने ही अपने बेटे को बाजार जाने की कहकर संदीप जाटव के साथ भेजा था। उसने यह भी कहा था कि पीछे से मैं भी आ रही हूं। मां के भेजने पर विनीत, संदीप के साथ चला गया। संदीप ने पुलिस को बताया कि विनीत उन्हें जानता था, इसलिए उसे जिंदा नहीं छोड़ सकते थे। उसे पूरी योजना के साथ जंगल ले गए। हत्या के बाद सपना को इसकी जानकारी भी दी।

कभी संदीप को देखती तो कभी रोने लगती थाने में बैठी सपना:सोमवार को सपना बहोड़ापुर थाने के कमरे में बैठी हुई थी। कमरे के एक कोने में संदीप और उसके साथी बैठे थे। थाने में भी वह बार-बार संदीप को देख रही थी। इशारों में कुछ बात कर रही थी। पुलिसकर्मियों के टोकने पर सिर झुका लेती। फिर अचानक रोने लगती और यह दिखाने की कोशिश करती कि उसे अपने किए पर पछतावा है, लेकिन उसके कृत्य को देखते हुए वहां मौजूद पुलिसकर्मी यह मानने को तैयार नहीं थे कि सपना को अपने किए का कोई अफसोस है। वे सपना के रोने को बचाव का नाटक ही मान रहे थे।

घर की रायफल प्रेमी को दे दी थी:संदीप को एक साल पहले परिजनों ने सपना के घर से पकड़ा था। उसे पकड़कर पुलिस को सौंप दिया था और चोरी के प्रयास का मामला दर्ज करवाया था। करीब एक महीने पहले घर की रायफल सपना ने संदीप को दे दी। जब परिजनों को यह पता लगा तो रायफल के बारे में पूछा। परिजन एफआईआर दर्ज कराने की तैयारी कर रहे थे। इस वजह से सपना ने उन्हें अपहरण के मामले में झूठा फंसाने का प्लान बनाया।

बीमार पति को छोड़कर प्रेमी के साथ घर बसाने के लिए महिला ने 8 साल के बेटे को मरवा दिया

+2और स्लाइड देखें

मासूम विनीत को उसकी मां ही खुद अपने प्रेमी के पास छोड़कर गई थी।

बीमार पति को छोड़कर प्रेमी के साथ घर बसाने के लिए महिला ने 8 साल के बेटे को मरवा दिया

+2और स्लाइड देखें

थाने में बेटे विनीत को ढूंढ रहे पिता को पता ही नहीं था कि उनका बेटा अब नहीं रहा।

Next


Khushboo

Khushboo

undefined Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top
To Top